Gifts To Doctors : बुखार की इस दवा की बिक्री बढ़ाने के लिए हजार करोड़ के गिफ्ट बांटे

सुप्रीम कोर्ट के जज भी यह जानकर हैरान, दस दिन में केंद्र से जवाब मांगा  

1642

Gifts To Doctors : बुखार की इस दवा की बिक्री बढ़ाने के लिए हजार करोड़ के गिफ्ट बांटे

 

New Delhi : जो डॉक्टर उपहार लेकर दवा लेने की सलाह देते हैं, उन्हें इसके लिए जिम्मेदार भी होना चाहिए। जैसे कि पेरासिटामोल दवा ‘डोलो-650’ जिसे बुखार में दिया जाता है, उसकी बिक्री बढ़ाने के लिए डॉक्टरों को एक हजार करोड़ रुपए के उपहार दिए गए। जस्टिस चंद्रचूड़ और जस्टिस एएस बोपन्ना वाली बेंच ने कहा कि यह बेहद गंभीर मामला है। कोर्ट ने सरकार से 10 दिन में जवाब मांगा है। अब 29 सितंबर को इस मामले की सुनवाई होनी है।

डॉक्टरों को दवा कंपनियों की तरफ से दिए जाने वाले उपहारों को लेकर दायर एक PIL की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से जवाब मांगा है। याचिका में एक हज़ार करोड़ के उपहार बांटे जाने का दावा सुनकर जज भी हैरान रह गए। जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि यह सुनकर बिल्कुल अच्छा नहीं लग रहा। जब मुझे कोरोना था तो मुझसे भी यही दवा लेने को कहा गया था। यह तो बहुत की गंभीर मामला है।

फेडरेशन ऑफ मेडिकल ऐंड सेल्स रिप्रजंटेटिवंस एसोसिएशन ऑफ इंडिया की तरफ से यह याचिका फाइल की गई थी। फेडरेशन की तरफ से पेश हुए वकील संजय पारीक ने कहा, डोलो-650 बनाने वाली कंपनी ने ने डॉक्टरों को 1 हजार करोड़ रुपये के मुफ्त उपहार दिए ताकि उनकी दवा का प्रमोशन हो।

वहीं सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) ने भी छापेमारी के बाद दावा किया था कि दवा निर्माता कई तरह की अनैतिक गतिविधियां करता है।CBDT ने कहा था कि 300 करोड़ की टैक्स की चोरी भी की गई। एजेंसी ने कंपनी के 36 ठिकानों पर छापेमारी भी की थी।

याचिका में कहा गया है कि अगर इस तरह का काम किया जाता है तो न केवल दवा के ओवर यूज के केस बढ़ेंगे, बल्कि इससे मरीजों की सेहत पर भी विपरीत असर पड़ सकते हैं। इस तरह के घोटालों से मार्केट में दवाओं की कीमत और बिना मतलब की दवाओं की भी समस्या पैदा होती है। याचिका में यह भी दावा किया गया है कि कोरोना महामारी के समय ऐसी दवाओं का ज्यादा ही प्रमोशन किया गया और अनैतिक तरीके से मार्केट में सप्लाई किया गया।

पहले भी सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से इस मामले में जवाब मांगा था लेकिन अब तक हलफनामा दाखिल नहीं किया गया था। केंद्र की तरफ से पेश सॉलिसिटर जनरल केएम नटराज ने कहा कि रिस्पॉन्स तैयार है।