Goodwill of IAS : रिटायर हुए अपने ड्राइवर को घर तक छोड़ने गए कलेक्टर!

खुद ड्राइवर बने और ड्राइवर इम्तियाज को साथ में बिठाया, फिर बोले 'तो अब चलें!'

4927

Goodwill of IAS : रिटायर हुए अपने ड्राइवर को घर तक छोड़ने गए कलेक्टर!

Banda (UP) : किसी कलेक्टर का ड्राइवर जिस दिन रिटायर हो और उसे कलेक्टर घर तक छोड़ने जाए तो उससे बड़ा सम्मान और क्या हो सकता है। ये सम्मान मिला है बांदा कलेक्टर के ड्राइवर इम्तियाज उद्दीन को।

शुक्रवार को बांदा के DM साहब के ड्राइवर इम्तियाज़ उद्दीन का रिटायरमेंट था। रोज़ की तरह इम्तियाज़ अपने DM साहेब अनुराग पटेल को ऑफ़िस ले गए और वापस भी लाए। शाम को कलेक्टर अनुराग पटेल ने इम्तियाज़ के लिए विदाई समारोह का आयोजन किया। उन्हें अनुराग पटेल ने शाल और स्मृति चिन्ह भेंट किए गए। विदाई समारोह के बाद इम्तियाज़ उद्दीन जब भीगी आँखों से घर जाने को हुए, तो कलेक्टर अनुराग पटेल खुद जाकर ड्राइवर की सीट पर बैठ गए और इम्तियाज़ को अपने पास वाली सीट पर बैठने को कहा। इम्तियाज़ ने मना किया मगर DM साहब नहीं माने। इम्तियाज़ के बैठने के बाद अनुराग पटेल ने उनसे कहा ‘तो अब चलें?’ जबकि यही शब्द अभी तक इम्तियाज अपने साहब के रोज गाड़ी में बैठने के बाद बोलता था!

अपने साहब के मुंह से ऐसी बात सुनकर इम्तियाज़ रोने लगे। उनके साथ वहां आए तमाम कर्मचारियों की आँखें भी भीग गई। फिर अनुराग पटेल अपने ड्राइवर इम्तियाज़ को उनके घर तक खूफ ड्राइवर बनकर छोड़ने गए।
रिटायरमेंट के ऐसा तोहफ़ा शायद ही किसी DM ने आज तक अपने ड्राइवर को दिया हो। कलेक्टर अनुराग पटेल की इस सदाशयता को बहुत सराहा जा रहा है, जो उन्होंने अपने ड्राइवर को इतना सम्मान दिया।