Speak on Condition of BJP : रघुनंदन शर्मा बोले ‘पांच प्रभारियों के कारण BJP की स्थिति पांचाली जैसी!’

पांच पतियों वाली द्रौपदी की जो दशा हुई, वही पार्टी की दुर्दशा हो रही!

1593

Speak on Condition of BJP : रघुनंदन शर्मा बोले ‘पांच प्रभारियों के कारण BJP की स्थिति पांचाली जैसी!’

Bhopal : पूर्व सांसद और भाजपा के वरिष्ठ नेता रघुनंदन शर्मा ने पार्टी में उभरे असंतोष पर गहरी चिंता व्यक्त की और संगठन पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि पार्टी में संवादहीनता की स्थिति है जो हमेशा नुकसान पहुंचाती है। पांच प्रभारी होने से पार्टी की स्थिति द्रोपदी की तरह हो गई।

उन्होंने कहा कि प्यारेलाल खंडेलवाल, कुशाभाऊ ठाकरे के समय कार्यकर्ता की सुनी जाती थी। उसे संतुष्ट किया जाता था। लेकिन, अब कोई कार्यकर्ता की सुनने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि कुशाभाऊ ठाकरे और उनके बाद प्यारेलाल खंडेलवाल जो कहते थे, वे ही अंतिम निर्णय लेते थे। उनकी बात को माना जाता था। उनका आदेश अंतिम आदेश होता था। वे विचार करते थे कि कार्यकर्ता के हृदय को सांत्वना मिले वो संतुष्ट हो जाए ऐसा प्रयास होता था।

देखिए वीडियो-

अब हमारे यहाँ पार्टी में 5 -5 प्रदेश प्रभारी है। पांच पति वाली द्रोपदी की जो दशा हुई थी, वैसे ही पार्टी की दुर्दशा हो रही है। ये पांच प्रभारी भी प्रभावशाली ठंग से संगठन चला रहे हैं ऐसा नहीं दिखता। यही कारण है कि कहीं न कहीं संवादहीनता की स्थिति पैदा हो रही है।

दीपक जोशी को लेकर वे बोले कि कार्यकर्ता और नेताओं के पार्टी छोड़कर जाने के पीछे भी संवाद की कमी नजर आई है। इसी संवादहीनता की कमी के चलते पिछले विधानसभा चुनाव में भी हम हारे थे। 2018 के चुनाव में कांग्रेस नहीं जीती, बल्कि हम हारे थे। अभी भी समय है, पार्टी संगठन को कार्यकर्ताओं की समस्या समझना चाहिए, उनसे संवाद करना चाहिए।