Heritage Girl of Jhabua – Vijaya Panwar: विश्व में भारत का परचम फहराएंगी — झाबुआ की हेरिटेज गर्ल – विजया पँवार 

815

Heritage Girl of Jhabua – Vijaya Panwar: विश्व में भारत का परचम फहराएंगी — झाबुआ की हेरिटेज गर्ल – विजया पँवार

अनिल तंवर की विशेष रिपोर्ट  

आदिम युग में मानव के विकास की शुरूआत पहाड़ों, कंदराओं और घने वनों से हुई है और शनै: शनै: जो कुछ भी घटित होता रहा वह बाद में क्रमशः विरासत कहलाता गया. विकास के पायदान पर आज भी विश्व की कुछ संस्थाएं इन्हें धरोहर के तौर पर सहेजते हुए बढ़ावा दे रही है. ऐसी ही एक प्रतियोगिता है “मिस हेरिटेज ग्लोबल”. झाबुआ की विजया पँवार एकमात्र सफल भारतीय प्रतिभागी है जिनका भारत से चयन हुआ है. इसका फाइनल राउंड अगले वर्ष 2024 में दक्षिण अफ्रीका के लिम्पोपो प्रोविन्स में होने जा रहा है. लिम्पोपो दक्षिण अफ़्रीका का सबसे उत्तरी प्रांत है और इसकी सीमा मोज़ाम्बिक, ज़िम्बाब्वे और बोत्सवाना से लगती है. लिम्पोपो यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल मापुंगुब्वे का घर है, जो एक प्राचीन अफ्रीकी साम्राज्य है.

इस प्रतियोगिता में विश्व के 54 प्रतिभागी अपनी हेरिटेज गर्ल की प्रस्तुति देंगे. इस कम्पीटीशन में प्रतिभागियों को अनेक राउंड्स में अपनी प्रतिभा सिद्ध करना होती है. इस वर्ष इस प्रतियोगिता में भारत से कुल 96 लड़कियां थी. इसमें 4 राउंड्स थे जो इस प्रकार है — इंट्रोडक्शन राउंड, रैंप वॉक राउंड, टैलेंट राउंड और अंत में प्रश्न उत्तर राउंड.

IMG 20230917 WA0044

चयन की सारी प्रक्रिया ओमीक्रॉन के दौरान हुई. इसे गोवा में आयोजित किया जाना था, लेकिन ओमीक्रॉन के कारण कुछ प्रतियोगी सकारात्मक हो गए, इसलिए बीओडी और राष्ट्रीय निदेशक ने यह सब कुछ वर्चुअल आयोजित किया. प्रतियोगियों को इंट्रोडक्शन राउंड, रैंप वॉक राउंड, टैलेंट राउंड के वीडियो भेजने थे, लेकिन प्रश्न उत्तर राउंड जूम पर आयोजित किया गया. विजया ने बताया कि–“मुझे विजेता घोषित किया गया क्योंकि प्रश्न उत्तर राउंड मेरे लिए गेम चेंजर था”. इन सभी राउंड्स में विजया ने भारत की 96 लड़कियों में प्रथम स्थान प्राप्त कर भारतीय प्रतिभागी के रूप में देश के नाम को रोशन करने का संकल्प लिया. सभी चयनित प्रतिभागियों को अपने देश की संस्कृति से सम्बंधित पारंपरिक भोजन बना कर इन्हें दक्षिण अफ्रीका के लिम्पोपो प्रोविन्स में जाकर हेरिटेज ग्लोबल के कुशन के अंतिम राउंड में अपनी रेसिपी बना कर अन्य फाइनल राउंड्स के साथ प्रस्तुति देना है. यह फाइनल राउंड 21 सितम्बर 2024 को तय किया गया है. विजया ने आदिवासी अंचल का पारंपरिक भोजन दाल–पानिया बना कर इसका वीडियो आयोजकों को भेजा जिसे बहुत पसंद किया जाकर इस रेसिपी को मान्यता दी. वह वहाँ पर आदिवासी अंचल का पारंपरिक भोजन दाल–पानिया बना कर देगी. इस रेसिपी में प्रयुक्त सामग्री यदि वहाँ उपलब्ध नहीं हो तो प्रतिभागी इसे अपने साथ भी लेकर जा सकते है.

IMG 20230917 WA0042

झाबुआ जैसे आदिवासी बाहुल्य जिले की विजया एक सामान्य परिवार से है. उसने अंग्रेजी माध्यम से स्कूल की शिक्षा के बाद बीएससी, फिर मेडी-कैप्स यूनिवर्सिटी इंदौर से एमबीए, कोलकाता से ईआरपी डिप्लोमा और दिल्ली से क्लिनिकल साइकोलॉजी डिप्लोमा किया है. कत्थक नृत्य, खाना बनाना, योग करना आदि उसके शौक है. वह कत्थक नृत्य की भी अच्छी डांसर है. नृत्य अभ्यास के समय उसे ब्यूटी पेजेंट फील्ड में जाने की इच्छा हुई. उसे टीवी में सुष्मिता सेन, ऐश्वर्या राय, लारा दत्ता जैसे ब्यूटी पेजेंट होल्डर्स के इंटरव्यूज के वीडियो देख कर प्रेरणा प्राप्त हुई और इस फील्ड में जाने का निर्णय कर लिया.

इसी दौरान उसे मिस हेरिटेज ग्लोबल की जानकारी मिली और उसने इस शो का फॉर्मेट देखा. यहाँ उसे महसूस हुआ कि टेलेंट की सभी जगह कद्र होती है. यह कॉम्पिटिशन मिस हेरिटेज ग्लोबल के माध्यम से संस्कृति और सभ्यता को दर्शाता है. इसमें अपनी संस्कृति की विरासत के तौर पर पारंपरिक व्यंजन को भी कुकिंग राउंड में बताने का अवसर मिलता है. अपने देश की कला प्रदर्शित करने के राउंड ने विजया को प्रेरित किया. उसे पूर्ण विश्वास था कि भारतीय संस्कृति इतनी महान है कि यदि इसे सही प्लेटफार्म पर प्रदर्शित किया जाए तो सफलता अवश्य मिलेगी. यही वह जोश था कि विजया ने भारत में टाप कर विश्व पटल पर उपस्थिति दर्ज कराई.

IMG 20230917 WA0043

विजया को पता था कि प्राइमरी के सभी राउंड्स तो अभ्यास के माध्यम से निकाले जा सकते है किन्तु फाइनल राउंड में जहाँ प्रश्नोत्तर होता है वह बहुत कठिन रहता है. अक्सर सभी कम्पीटिशंस में जो विजेता रहे है वह सभी सटीक उत्तर देने के कारण ही थे. वह इसका निरंतर अभ्यास और विभिन्न इंटरव्यू, पुस्तकों का सहारा लेकर तैयारी कर रही है.

वह अपनी तैयारी के लिए राष्ट्रीय निदेशक गौरव सिंह, जिनके पास पेजेंट क्षेत्र में 10 वर्षों का अनुभव है तथा वह अंतरराष्ट्रीय मंच के लिए एक बहुत लोकप्रिय पेजेंट ग्रूमर और ग्रूम पेजेंट धारक हैं, से प्रशिक्षण प्राप्त कर रही है. गौरव सिंह P & G ग्लोबल प्रोडक्शंस से जुड़े है जो विभिन्न अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं की फ्रेंचाइजी है, जैसे-मिस वर्ल्ड ब्यूटीफुल, मिस पेटिट ग्लोबल, मिस कल्चरल ग्लोबल, मिस्टर ग्लोबल इंटरनेशनल और कई अन्य, जिनमें MISS HERITAGE GLOBAL भी एक सबसे बड़ा प्लेटफार्म है.

विजया का कहना है कि जो प्रतियोगिता के शौकीन हैं और इस प्रतियोगिता की दुनिया में एक मानदंड स्थापित करना चाहते हैं, उन्हें सदैव अपने पसंद की प्रतियोगिता का चयन कर प्रयास करना चाहिए.