विश्व का एकमात्र कोरोना माता का मंदिर, दूर-दूर से दर्शन के लिए आ रहे लोग

विश्व का एकमात्र कोरोना माता का मंदिर, दूर-दूर से दर्शन के लिए आ रहे लोग

मीडियावाला.इन।

नई दिल्ली। आस्था में विश्वास सस्ता होता है। अंधविश्वास की हदें तब पार हो जाती है जब सच्च सामने और लोग आंखों पर पर्दा डाल लेते हैं। दुनिया में कोरोना वायरस ने तबाही मचा रखी है। भारत देश की बात करें तो यहां हालात गंभीर हैं। घर से निकलना मुश्किल हो गया है। लेकिन देश के उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले की बात करें तो यहां एक चौंका देने वाला नजारा देखने को मिल रहा है।

कोरोना माता जी

कोरोना एक बहुत ही घातक वायरस हैं लेकिन अंधविश्वासी लोग कोरोना को एक देवी के रूप में पूज रहे हैं। अब ये कैसी देवी है। कोरोना वायरस खतरनाक महामारी जिससे दुनिया में त्राही त्राही मच गई है उसे उत्तर प्रदेशके प्रतापगढ़ के लोग देवी के रूप में पूजा कर रहे हैं। यहां विश्व का एकमात्र और पहला कोरोना माता का मंदिर बनाया है। लोग यहां दूर-दूर से कोरोना वायरस से बचने के लिए प्रार्थना करने आ रहे हैं।

ग्रामीणों ने कोरोना माता मंदिर का निर्माण किया है साथ ही कोरोना माता की मूर्ति भी स्थापित की है। प्रतापगढ़ जिले के सांगीपुर थाना के जूही शुक्लपुर गांव में यह कोरोना माता का मंदिर बनाया गया है। मंदिर में लिखा भी गया है कि विश्व का एकमात्र कोरोना माता का मंदिर। कोरोना संकट के बीच भय और अंधविश्वास के बीच लोगों ने कोरोना वायरस को देवी की संज्ञा दे डाली और मंदिर का निर्माण कर दिया है।

0 comments      

Add Comment