Killing Relationships : महिला ने पांच शादियां की, चौथे पति से फिर संबंध जुड़े तो पांचवे पति ने हत्या की

124

Killing Relationships : महिला ने पांच शादियां की, चौथे पति से फिर संबंध जुड़े तो पांचवे पति ने हत्या की

Indore : पुलिस ने मां-बेटे के दोहरे कत्ल का पर्दाफाश कर दिया। आरोपी पति को सिरसौली (अकोला) महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया गया। आरोपी ने पत्नी और सौतेले बेटे की गहरी नींद में हत्या कर दी थी। पत्नी और सौतेले बेटे के सिर पर पहले गैस टंकी मारी फिर चाकू से गला रेतकर हत्या। आरोपी पति ने पत्नी के पूर्व पति से अवैध संबंधों के कारण उसकी हत्या की। मोबाईल फोन की मराठी रिकॉर्डिंग को हिंदी में अनुवाद कराए जाने के बाद अवैध संबंधों का खुलासा हुआ।

12 जनवरी को मंगेश पिता अनंतराव गावंडे ने पुलिस को बताया था कि वह गणेश धाम कॉलोनी में किराए के मकान में रहता है। तीन दिन पहले उसके परिचित कुलदीप दिघे अपनी पत्नी शारदा गुर्जर और बेटे आकाश के साथ अकोला से काम की तलाश में उसके पास आये थे। परिचित होने पर उसके साथ ही कमरे पर रुक गए थे। घटना वाले दिन शाम को साढ़े 4 बजे जब वह काम से वापस कमरे पर आया, तो उसे कमरे में शारदा गुर्जर व आकाश की खून से सनी हुई लाशें मिली। उसने शंका जाहिर की कि कुलदीप दिघे ने ही दोनों की हत्या की और मौके से फरार हो गया।

पुलिस टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण कराया और मिले साक्ष्य के आधार पर पाया कि मृतक शारदा व मृतक आकाश का धारदार हथियार से गला काट गाया है एवं कमरे में मिली गैस की टंकी से दोनों के सिर पर मारकर भी चोट पहुंचाई गई है। मृतक शारदा व मृतक आकाश के शव का परीक्षण अरविंदो अस्पताल से कराया गया, जिसमें दोनो की हत्या की जाने की पुष्टि हुई। घटना के मुख्य साक्षी मंगेश गावंडे से प्रकरण के संबंध में पूछताछ की गई। उसने बताया कि मृतक शारदा व आरोपी कुलदीप दिघे से कुछ दिन पूर्व ही उसका मोबाइल फोन पर संपर्क हुआ था।

मंगेश गावंडे एवं आरोपी कुलदीप दिघे के बीच घटना दिनांक को शाम चार बजे मोबाइल फोन पर हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग सुनने पर मराठी भाषा में हुई बातचीत को मराठी भाषी व्यक्ति से हिंदी में अनुवाद करवाया गया। इससे मंगेश गावंडे एवं मृतक शारदा के बीच अवैध संबंधों का खुलासा हुआ। बातचीत में आरोपी कुलदीप ने मंगेश से कहा कि मेरा जीवन अच्छा चल रहा था, तूने हमको इंदौर क्यों बुलाया। शारदा तो हरामी है ही, लेकिन तुमने भी मेरे साथ गद्दारी की। तुम भी मरोगे और मैं भी मरूंगा आज ही। कमरे की चाबी संडास के बाजू में खांड में रखी है। दरवाजा खोलो, आपको उसके पास में नींद अच्छी आएगी, तुम शारदा के पास ही रहना अब।

इस कॉल रिकार्डिंग के आधार पूछताछ किए जाने पर मंगेश गावंडे ने बताया कि वह पिछले तीन सालों से शारदा को जानता है। कुलदीप से पहले शारदा मंगेश के साथ ही करीब 6 माह तक रही थी। मंगेश ने शारदा को अपने साथ में रहने के लिए इंदौर बुलवाया था। शारदा भी कुलदीप से पीछा छुड़ाना चाहती थी, लेकिन कुलदीप उसको नहीं छोड़ रहा था। इस बात पर दोनों का झगड़ा भी होता था। आरोपी कुलदीप दिघे हत्या करने के बाद मंगेश के नाम की सीम वाला मोबाईल लेकर गया है। इस आधार पर कुलदीप के मोबाइल की लोकेशन निकलवाई गई। आरोपी कुलदीप के मोबाइल नंबर को ट्रेस करने पर लोकेशन निंबोरा (जलगांव) महाराष्ट्र की मिली। आरोपी की मोबाइल लोकेशन के रूट के आधार पर आरोपी कुलदीप की धरपकड़ का जाल बिछाया गया। कुलदीप दिघे जैसे ही गुरुवार को अपने घर सिरसौली पहुंचा पुलिस टीम ने आरोपी को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया।

कुलदीप ने पूछताछ में बताया कि शारदा गुर्जर के साथ में उसकी शादी 2 साल पहले हुई थी। उससे शादी के पहले शारदा के चार पति रहे। चौथा पति मंगेश गावंडे था, जिसके साथ में वह 6 माह रही थी। शारदा गुर्जर ने नए साल के दिन 1 जनवरी को मंगेश गावंडे से फिर बातचीत शुरू की थी। कुछ दिन पहले शारदा गुर्जर ने काम के बारे में पूछा तो मंगेश गावंडे ने इंदौर आने के लिए कहा। तब कुलदीप, शारदा और उनका 11 साल का बेटा आकाश इंदौर आ गए। मंगेश गावंडे के साथ ही उसके कमरे पर गणेश धाम कॉलोनी में रुके हुए थे। मृतक शारदा एवं मंगेश गावंडे की बीच बढ़ती नजदीकियों के कारण कुलदीप परेशान हो गया था। शारदा फिर आरोपी कुलदीप को छोड़ने की धमकी देने लगी थी। इसी के चलते कुलदीप ने सुबह करीब 7 बजे मंगेश गावंडे के काम पर जाने के बाद कमरे मे सो रहे शारदा व आकाश को पहले गैस टंकी से सिर पर मारा, फिर कमरे मे रखे सब्जी काटने के चाकू से दोनों का गला काटकर उनकी हत्या कर दी ।