लगातार हारने वाली विधानसभा सीटों पर जीत की जिम्मेदारी दूसरे राज्यों के नेताओं को सौंपी, 4 राज्यों के पूर्व PCC चीफ होंगे सक्रिय

333
कन्फ्यूज भाजपा कार्यकर्ता और मुद्दे छीनती कांग्रेस...

लगातार हारने वाली विधानसभा सीटों पर जीत की जिम्मेदारी दूसरे राज्यों के नेताओं को सौंपी, 4 राज्यों के पूर्व PCC चीफ होंगे सक्रिय

भोपाल: कर्नाटक में मिली कांग्रेस को जीत के बाद अब मध्य प्रदेश में एआईसीसी का फोकस हो गया है। इसके चलते चार राज्यों के पूर्व प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्षों को मध्य प्रदेश चुनाव के लिए बने आॅब्जर्वर को अब विधानसभावार जिम्मेदारी सौंप दी गई है। पहले चरण में ये चारों आॅब्जर्वर लगातार हारने वाली लगभग 70 सीटों पर जाएंगे। जहां हर इन सभी को पार्टी के सभी नेताओं के साथ चर्चा करना होगी और रणनीति के साथ ही गुटबाजी एवं पूर्व में हो रही हार का कारण जानना होगा।
इसकी शुरूआत आज से विदिशा जिले की दो सीटों से हो रही है। विदिशा जिले की शमशाबाद और कुरवाई विधानसभा सीट पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा आज पहुंच रहे हैं। वे दोपहर में शमशाबाद विधानसभा क्षेत्र के सभी पदाधिकारियों से मुलाकात करेंगे। इसके बाद ही यहां के सभी वरिष्ठ नेताओं से भी उनकी वन-टू-वन चर्चा होगी। इसके बाद शाम को वे कुरवाई जाएंगे। जहां पर भी वे कांग्रेस नेताओं से चर्चा करेंगे। गौरतलब है कि एआईसीसी ने हिमालच प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कुलदीप राठौर, गुजरात प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अर्जुन मोरवाडिया, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा और उत्तराखंड के प्रदीप टम्टा को मध्य प्रदेश चुनाव का पर्यवेक्षक बनाया गया है। इन चारों को तीन से चार बार लगातार हारने वाली सीटों की जिम्मेदारी दी गई है।
बताया जाता है कि इन चारों नेताओं को कमलनाथ ने लगभग 70 सीटों पर जाने का टारगेट दिया है। पूरे समय ये इन सीटों को ही आॅब्जर्व करेंगे। यहां पर कांग्रेस की जीत के लिए सभी में समन्वय करने के साथ ही जीत के लिए क्या-क्या पार्टी स्तर पर कदम उठाये जा सकते हैं। इस पर फोकस करेंगे। ये चारों नेता सीधे कमलनाथ और प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी जेपी अग्रवाल के संपर्क में रहेंगे। इन सभी को जिम्मेदारी देने से पहले कमलनाथ ने 14 मई को इन सभी के साथ बैठक की थी। इस बैठक के बाद पिछले सप्ताह इन सभी को कौन-कौन सी विधानसभा की जिम्मेदारी दी गई है। उसकी लिस्ट भेज दी गई।