Liquor Scam Case : 6 हजार करोड़ के शराब घोटाले में ACB और EOW ने 13 ठिकानों पर दबिश दी!

पूर्व CS विवेक ढांड समेत कई पूर्व बड़े अफसरों और शराब कारोबारियों के यहां तड़के छापे!

419

Liquor Scam Case : 6 हजार करोड़ के शराब घोटाले में ACB और EOW ने 13 ठिकानों पर दबिश दी!

Raipur : बहुचर्चित शराब घोटाला मामले में एंटी करप्शन ब्यूरो और ईओडब्ल्यू ने 13 ठिकानों पर छापेमारी की गई। रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग समेत कई जिलों में एसीबी और ईओडब्ल्यू ने सुबह 6 हजार करोड़ के शराब घोटाले मामले में शामिल लोगों के यहां दबिश दी।

अचानक की गई इस कार्रवाई से प्रदेश के शराब कारोबारियों में हड़कंप मच गया। इस मामले में मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसी अपना काम कर रही हैं। जांच में जो भी दोषी होंगे, उन पर कार्रवाई होगी। जबकि, डिप्टी सीएम अरुण साव ने कहा कि ईडी हो या ईओडब्ल्यू, जांच एजेंसिया सबूतों पर ही कार्रवाई करती हैं। जहां-जहां सबूत मिलेगा, वो वहां कार्रवाई होगी।

IMG 20240226 WA0057

इस मामले में 13 जगह पर एसीबी और ईओडब्ल्यू की टीम पहुंची। इस शराब घोटाले से जुड़ें कारोबारियों में बिलासपुर, सरगांव के भाटिया डिस्टलरी, कोटा के वेलकम डिस्टलरी, दुर्ग जिले के कुम्हारी स्थित केडिया डिस्टलरी, रायपुर के अनवर ढेबर, विवेक ढांढ, अनिल टुटेजा सहित कई लोगों के यहां जांच जारी है। टीम यहां पहुंचकर दस्तावेज जांच रही है। इन सभी करोबारियों के नाम ईडी की चार्जशीट में भी शामिल हैं।

इनके यहां छापे पड़े

ईओडब्ल्यू ने जिनके यहां छापा मारे हैं, उनमें पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांढ, पूर्व आईएएस निरंदास दास, पूर्व आईएएस अनिल टुटेजा, सरकारी शराब कंपनी के पूर्व एमडी अरुणपति त्रिपाठी, आबकारी अधिकारी सौरभ बख्शी, अशोक सिंह, अरविंद सिंह, सिद्धार्थ सिंघानिया, अनवर ढेबर और नोएडा में विधु गुप्ता शामिल हैं। एसीबी और ईओडब्ल्यू ने ईडी के पत्र के आधार पर जनवरी 2024 में एफआईआर दर्ज की थी।