Maurya’s Arrest Warrant : BJP छोड़ने के अगले दिन MP-MLA कोर्ट ने वारंट जारी किया

2014 में देवी-देवताओं पर टिप्पणी, तब मामला दर्ज हुआ

93

Maurya’s Arrest Warrant : BJP छोड़ने के अगले दिन MP-MLA कोर्ट ने वारंट जारी किया

Lucknow : उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) के पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) के खिलाफ MP-MLA कोर्ट ने आज गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है। सुल्तानपुर की इस कोर्ट ने उन्हें 24 जनवरी तक पेश होने का आदेश दिया। देवी देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में ये मुकदमा 2014 में दायर किया गया था। एक दिन पहले मंगलवार को उन्होंने BJP और सरकार से इस्तीफा दिया था।

उन पर यह मामला 2014 का है, जब स्वामी प्रसाद मौर्य ने हिन्दू देवी देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। बुधवार को स्वामी प्रसाद मौर्य को अदालत में हाजिर होना था, लेकिन वे हाजिर नहीं हो पाए। इसके चलते अपर मुख्य दंडाधिकारी MP-MLA ने आरोपी पूर्व श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ पूर्ववत जारी गिरफ्तारी वारंट को जारी करने का आदेश दिया। अब इस मामले में कोर्ट की ओर से 24 जनवरी की तारीख निर्धारित की गई है।

2016 में लिया था स्टे
स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ जारी हुआ वारंट कोई नया नहीं है। यह वारंट पहले से जारी था, लेकिन मौर्य ने हाईकोर्ट से 2016 के स्टे ले रखा था। इसी 6 जनवरी को MP- MLA कोर्ट ने मौर्य को 12 जनवरी को हाजिर होने को कहा था। तय तारीख पर वे हाजिर नहीं हुए तो दोबारा से वारंट जारी किया गया है।

Also Read: पिछड़ा वर्ग आयोग की अनुशंसा को लेकर मंत्रिमंडलीय समिति का गठन 

स्वामी प्रसाद मौर्य आजकल UP की राजनीति के सबसे ज्यादा चर्चित चेहरों में एक हैं। मौर्य ने योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया और पिछड़ों दलितों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए BJP छोड़ने का ऐलान किया है।