Meeting on Terror in Kashmir : घाटी में आतंकवाद से निपटने के लिए गृह मंत्री ने दो फॉर्मूले दिए!

445

Meeting on Terror in Kashmir : घाटी में आतंकवाद से निपटने के लिए गृह मंत्री ने दो फॉर्मूले दिए!

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा ‘आतंकवाद किसी कीमत पर नहीं पनपने देंगे!’

New Delhi : रविवार को गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी हमले को लेकर एक हाई लेवल की सुरक्षा बैठक की। इसमें हाल के आतंकवादी हमलों और जम्मू-कश्मीर क्षेत्र में मौजूदा सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की गई। इस बैठक में श्री अमरनाथ वार्षिक तीर्थयात्रा के लिए उचित सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा की गई।

बैठक का केंद्र घाटी में फिर से आतंकवाद की समस्या पनप रही है। अमित शाह इस समस्या से निपटने के लिए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और केंद्र शासित प्रदेश के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर आतंकवाद को फिर पनपने नहीं देना है। साथ ही यात्रा के लिए पूर्ण सुरक्षा पर जोर दिया। घाटी में आतंकवाद से निपटने के लिए गृह मंत्री ने दो फॉर्मूले दिए हैं।

आज रविवार को हुई हाई लेवल की बैठक में गृह मंत्री अमित शाह ने एजेंसियों को जम्मू-कश्मीर में डॉमिनेशन प्लान और जीरो टेरर प्लान के जरिये घाटी में हासिल की गई सफलताओं को दोहराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पहले भी आतंकवाद पर सफलता हासिल की गई थी। लेकिन, अबकी बार उसे दबाना है कि दोबारा पनप सके। उन्होंने आगामी अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा को लेकर अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने यात्रा के रास्तों पर विशेष सुरक्षा, राजमार्गों पर अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात करने, घाटी में सभी तीर्थस्थलों, पर्यटन स्थलों पर चौकसी बरतने का आह्वान किया।

खुफिया अधिकारी रहे मौजूद

गृहमंत्री शाह के इस बैठक में एनएसए डोभाल, एलजी मनोज सिन्हा, सेना प्रमुख मनोज पांडे, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, आईबी निदेशक तपन डेका, सीआरपीएफ के डीजी अनीश दयाल सिंह शामिल हुए। सेना प्रमुख द्विवेदी, सीएस डुलू, डीजीपी स्वैन, एडीजीपी कुमार और अन्य शीर्ष अधिकारी बैठक में शामिल हुए। कश्मीर के डीजीपी आरआर स्वैन, विजय कुमार, एडीजीपी (एलएंडओ), जम्मू-कश्मीर के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी और खुफिया अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

शाह ने आतंकी हमलों की रिपोर्ट मांगी

गृह मंत्री शाह ने हाल ही में आतंकवादी हमलों में हुई वृद्धि के मद्देनजर जम्मू क्षेत्र में मौजूदा सुरक्षा स्थिति पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री को जम्मू में मौजूदा सुरक्षा परिदृश्य के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों को जम्मू में सक्रिय आतंकवादियों और उनका समर्थन करने वाले तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया। गृह मंत्री ने शिव कोरी तीर्थयात्रियों पर हमले पर चिंता व्यक्त की और वैष्णो देवी, शिव कोरी और अन्य तीर्थ स्थलों पर आने वाले तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के लिए समन्वित प्रयासों का आह्वान किया।

एजेंट फील्ड में भेजने की तैयारी

गृह मंत्री ने सुरक्षा अधिकारियों को सुरक्षा बलों और तीर्थयात्रियों की आवाजाही की सुरक्षा के लिए राजमार्गों और संवेदनशील बिंदुओं पर कड़ी निगरानी रखने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जम्मू में आतंकवादियों का समर्थन करने वाले तत्वों से ‘कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए और किसी भी कीमत पर क्षेत्र में आतंकवाद को पनपने नहीं दिया जाना चाहिए। सूत्रों के हवाले से सुरक्षा के शीर्ष अधिकारियों को जम्मू में सक्रिय आतंकवादियों तक पहुंचने के लिए मानव खुफिया जानकारी जुटाने का निर्देश दिया।