40 हजार मजदूरों को नौकरी देने के लिए सोनू सूद ने बनाया ये प्लान

40 हजार मजदूरों को नौकरी देने के लिए सोनू सूद ने बनाया ये प्लान

मीडियावाला.इन।

नई दिल्ली: सोनू सूद ने लॉकडाउन के दौरान मुंबई में फंसे मजदूरों को अपने गांव तक पहुंचाने में काफी मदद की थी। इसके बाद उन्हें दुआएं मिलने लगीं। सोनू सूद इसके बाद से ही लोगों की इंस्पिरेशन बने हुए हैं। सोनू ने इसके अलावा भी कई लोगों की मदद की है।

सोनू सूद ने इस साल जुलाई में प्रवासी रोजगार (Pravasi Rojgar) नाम से ऑनलाइन रोजगार पोर्टल लॉन्च किया था। सोनू ने यह पोर्टल एक एड-टेक और स्किलिंग कंपनी Schoolnet India के साथ साझेदारी में लॉन्च किया। खबर है कि इस पोर्टल को 250 करोड़ रुपए की फंडिंग मिल गई है। सिंगापुर की GoodWorker कंपनी की ओर से यह फंडिंग की गई है।

प्रवासी रोजगार पोर्टल का उद्देश्य बेरोजगारों को नौकरी के लिए जरूरी स्किल सिखाने और उन्हें उनके स्किल्स के मुताबिक नौकरी दिलाना है। गुडवर्कर का प्रोफाइल एक जॉब मैचिंग कंपनी का है, जो श्रमिकों को उनके आसपास होने वाले रोजगार के बारे में बताती है और उन्हें जरूरी स्किल भी सिखाती है। गुडवर्कर, सोनू सूद और स्कूलनेट के साथ मिलकर अगले डेढ़ साल में 250 करोड़ रुपए के निवेश से एक जॉइंट वेंचर बनाएगी।

यह वेंचर 2021 में अपना काम शुरू कर देगा। फंडिंग मिलने से खुश सोनू सूद ने कहा है कि यह साझेदारी लाखों युवाओं के लिए एक बेहतर जीवन देने और आजीविका हासिल करने के मेरे सपने को साकार करने में मदद करेगी। हमारा लक्ष्य प्रवासी श्रमिकों को नौकरी की संभावनाओं को बेहतर बनाने का मौका देना है।

सोनू सूद ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान मैं कई प्रवासी मजदूरों के संपर्क में आया था और उन सभी की एक ही चिंता थी कि लॉकडाउन के बाद उन्हें नौकरी कैसे मिलेगी। लोगों के आशीर्वाद से मैंने समान सोच वाले लोगों के साथ आने की कोशिश की और इसी कड़ी में स्कूलनेट के साथ साझेदारी की।

सोनू सूद का मानना है कि इस प्लेटफॉर्म की मदद से करीब 40 हजार मजदूरों को नौकरी मिलेगी। भविष्य में इसकी मांग और भी ज्यादा बढ़ेगी। वहीं गुडवर्कर कंपनी की तरफ से कहा गया है कि हम पहले ही भारत में निवेश की योजना बना रहे थे। जब हमें सोनू सूद और स्कूलनेट के प्रवासी रोजगार के बारे में पता चला और ये पता चला कि किस तरह से वह 400 जिलों में पहुंच चुके हैं। हमने साथ आने का फैसला किया ताकि सही टैलेंट को ढूंढा जा सके।

News24

0 comments      

Add Comment