Owaisi Roared : ओवैसी की चुनौती ‘राहुल गांधी वायनाड छोड़कर हैदराबाद से चुनाव लड़ें!’ 

महिला आरक्षण, विधूड़ी के बयान के साथ विपक्ष पर ओवैसी जमकर बरसे!

547

Owaisi Roared : ओवैसी की चुनौती ‘राहुल गांधी वायनाड छोड़कर हैदराबाद से चुनाव लड़ें!’ 

Hyderabad : ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कई मामलों पर विपक्षी दलों को लपेटा। उन्होंने कांग्रेस पर भी निशाना साधा और राहुल गांधी को हैदराबाद से चुनाव लड़ने की चुनौती दी। ओवैसी ने कहा कि मैं कांग्रेस के नेता राहुल गांधी को वायनाड से नहीं, बल्कि हैदराबाद से चुनाव लड़ने की चुनौती देता हूं। आप बड़ी-बड़ी बातें करते हैं, जमीन पर आइए मुकाबला करेंगे। कांग्रेस के लोग बहुत बातें करेंगे, लेकिन मैं तैयार हूं। यही कांग्रेस थी जब बाबरी मस्जिद और सचिवालय की मस्जिद गिराई गई।

AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने महिला आरक्षण बिल को लेकर विपक्षी दलों पर हमला बोला। ओवैसी ने कहा कि कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और लालू यादव की पार्टी RJD के नेता संसद में मुसलमानों का नाम लेने से डरते हैं। मैं खड़ा हुआ और कहा कि मुस्लिम और ओबीसी महिलाओं को भी आरक्षण मिलना चाहिए, तो वे मुझसे कहते रहते हैं कि मैं महिलाओं के खिलाफ हूं, लेकिन सच्चाई यह है कि आप महिलाओं, ओबीसी और मुसलमानों के खिलाफ हैं।

ओवैसी ने कहा कि बीजेपी नेता कहते रहे कि हमारे दो सांसदों ने महिला आरक्षण बिल के खिलाफ वोट किया। 450 सांसदों ने बिल के पक्ष में वोट किया। जब सभी ने कहा कि 450 सांसद मेरे खिलाफ है, तो मैंने पूरे देश को बताया कि कांग्रेस और बीजेपी एक साथ हैं, समाजवादी पार्टी और कांग्रेस भी एक साथ हैं। मैं अकेले पीएम मोदी से लड़ रहा हूं और आप सब साथ हैं। q

बिधूड़ी के बयान पर भी भड़के

उन्होंने बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी को भी आड़े हाथ लिया। ओवैसी ने कहा कि बीजेपी के एक सांसद मुस्लिम सांसद को सदन में गालियां देते हैं। उन्होंने कहा कि वो दिन दूर नहीं जब देश की संसद में एक मुस्लिम की मॉब लिंचिंग होगी। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि आपका ‘सबका साथ, सबका विकास’ कहां है? लेकिन अब प्रधानमंत्री एक शब्द नहीं बोलेंगे।

ओवैसी ने आगे कहा कि जब मैं 10 साल का था तब हमारे घर के बाहर RSS के लोग यात्रा निकालते थे तो कहते कब्रिस्तान या पाकिस्तान … अब ये सब मेरा बेटा भी सुन रहा है। उन्होंने कहा कि एक दिन आएगा जब संसद में किसी मुसलमान की मॉब लिंचिंग होगी।