जनवादी लेखक संघ प्रतिवर्ष ‘दानिश अलीगढ़ी स्मृति सम्मान’ प्रदान करेगा

कालजयी कलाकारों पर केन्द्रित आयोजन भी होगा

277

जनवादी लेखक संघ प्रतिवर्ष ‘दानिश अलीगढ़ी स्मृति सम्मान’ प्रदान करेगा

Ratlam : अपनी रचनाओं के माध्यम से देशभर में रतलाम का नाम रोशन करने वाले मरहूम शायर दानिश अलीगढ़ी की स्मृति में जनवादी लेखक संघ द्वारा ‘ दानिश अलीगढ़ी स्मृति सम्मान’ की स्थापना की गई हैं।यह सम्मान प्रतिवर्ष उल्लेखनीय साहित्यिक अवदान वाले रचनाकारों को प्रदान किया जाएगा।उक्त निर्णय जनवादी लेखक संघ रतलाम की कार्यकारिणी की बैठक में लिया गया।बैठक की अध्यक्षता जलेस अध्यक्ष रणजीत सिंह राठौर ने की।

उक्त जानकारी देते हुए जलेस सचिव सिद्दीक रतलामी ने बताया कि उस्ताद शायर दानिश अलीगढ़ी ने अपनी गजलों के माध्यम से पूरे देशभर में बहुत ऊंचा स्थान प्राप्त किया था। रतलाम में उनकी स्मृतियां बनी रहें,इस उद्देश्य से जनवादी लेखक संघ द्वारा प्रतिवर्ष उनकी याद में यह सम्मान प्रदान किया जाएगा।यह सम्मान प्रतिवर्ष जनवादी लेखक संघ उर्दू विंग प्रदेश कार्यसमिति सह प्रभारी सिद्दीक रतलामी द्वारा संयोजित होगा।

चयन समिति में दो वरिष्ठ साहित्यकार एवं जनवादी लेखक संघ रतलाम के पदेन अध्यक्ष एवं सचिव शामिल होंगे।वर्ष 2022-2023 के लिए सम्मानित व्यक्तित्व के नाम निर्धारण हेतु गठित समिति में वरिष्ठ साहित्यकार प्रोफेसर रतन चौहान एवं युसूफ जावेदी के साथ वर्तमान अध्यक्ष रणजीत सिंह राठौर एवं सचिव सिद्धीक रतलामी शामिल होंगे।सम्मान समारोह में दानिश अलीगढ़ी की रचनाओं एवं उनके कार्यों का स्मरण भी किया जाएगा।

जनवादी लेखक संघ की बैठक में आगामी कार्यक्रमों का निर्धारण भी किया गया।जलेस द्वारा कालजयी कथाकारों की कहानियों पर केंद्रित कार्यक्रम आगामी माह में आयोजित किया जाएगा।इसमें उन कथाकारों को याद करते हुए वर्तमान संदर्भों में उनकी कहानी की प्रासंगिकता पर विमर्श किया जाएगा।

इसके साथ ही जलेस द्वारा हिंदी के प्रणेता अमीर खुसरो एवं अंचल के युवा एवं महिला रचनाकारों पर केंद्रित कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।बैठक में जलेस द्वारा की जाने वाली गतिविधियों का विवरण प्रस्तुत कर उस पर चर्चा की गई।बैठक में केन्द्रीय कार्यसमिति सदस्य एवं वरिष्ठ कवि प्रोफेसर रतन चौहान,एडवोकेट,साहित्यकार युसूफ जावेदी,कीर्ति शर्मा, मांगीलाल नगावत,आशीष दशोत्तर सहित सामान्य सदस्य भी मौजूद थे।