PFI Snooping Scandal : सोनू मंसूरी से SIT ने पूछताछ की, रुपए देने वाले के भी बयान!

678

PFI Snooping Scandal : सोनू मंसूरी से SIT ने पूछताछ की, रुपए देने वाले के भी बयान!

इंदौर। कोर्ट में जासूसी करने के मामले में कसरावद की सोनू मंसूरी को लेकर अब एसआईटी ने जांच शुरू कर दी। महिला अफसर के साथ तीन एसआई और साइबर सेल के दो सिपाही इसमें आगे जांच कर रहे है। सोशल मीडिया के साथ मोबाइल की टेक्निकल जांच भी की जा रही है।

पुलिस ने रुपए देने वाले एक नेता के बयान लिए। जिसमें यह बात सामने आई कि चेक बाउंस के मामले में उक्त रुपए नूरजहां को देने थे। पुलिस लगातार नूरजहां को लेकर भी छापामार कार्रवाई कर रही है। सोनू को जेल भेज दिया गया। पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र ने सोनू मंसूरी के मामले में एसआईटी का गठन किया है। जिसमें महिला ACP पूर्ति तिवारी, एसआई टीना शुक्ला, एसआई शुभम पांडे, एसआई राकेश चौधरी, आरक्षक विकास मचानिया और अमित मोदी काम कर रहे है।

एसआईटी ने सोनू के पास से मिले 1 लाख 26 हजार रुपए के मामले में दौलतगंज में रहने वाले आसिफ अंसारी सामने आए। उन्होंने बताया कि नूरजहां को देने के लिए यह रुपए उन्होंने सोनू को दिए थे। नूरजहां को 138 के मामले में उनसे फीस लेना थी।

नूरजहां का बेटा था भर्ती

एसआईटी की टीम ने नूरजहां के घर पर छापा मारा था। लेकिन, वह नहीं मिली। इसके बाद एसआईटी को यह जानकारी मिली कि उसका बेटा सीएचएल अस्पताल में भर्ती है। टीम वहां पहुंची। तो पता चला कि गुरुवार को ही उसे यहां से डिस्चार्ज कराया गया है। उक्त मामले में नूरजहां के ससुर की जानकारी लगी। पुलिस उनके बयान लेने पहुंची तो उन्होंने बताया कि मीडिया में खबरें आने के बाद नूरजहां और उसका पति बेटे को उनके पास छोड़कर फ्लैट पर ताला लगाकर कहीं चले गए थे।

पुलिस के मुताबिक भोपाल स्थित घर पर भी उसके नहीं होने की जानकारी सामने आई है। पुलिस को आशंका है कि वह कोर्ट में सरेंडर कर सकती है। नूरजहां के भोपाल में होने की जानकारी लगी थी, पर वो पुलिस को वहां नहीं मिली।