Police New Face: पिता को खो चुकी बच्ची का थाने में Birthday

61

Police New Face

इंदौर। पुलिस (police)का चेहरा सिर्फ सख्त खाकीwardi वाला ही नहीं है। उसका भी दिल है जिसमें संवेदना भी है और मानवीयता भी। कोरोना मे अपने पिता को खोने वाली एक बच्ची का जन्मदिन मनाकर उसके प्रति पुलिस ने जो संवेदना दिखाई, उससे लगता है कि पुलिस(police) का भी दिल होता है।

Police New Face

कोरोना की दूसरी लहर में 5 साल की एक बच्ची ने अपने पिता और दादी को खो दिया था। घर में सिर्फ माँ और लकवा पीड़ित दादा बचे थे। उस बच्ची का जन्मदिन मनाकर हीरा नगर थाने के पुलिसवालों और अफसरों ने अभिभावक की ज़िम्मेदारी निभाई और धूमधाम से उसका जन्मदिन मनाया। बच्ची का थाने में जन्मदिन मनाया गया। केक काटते समय बच्ची को जो ख़ुशी हुई, उसका उसे ठिकाना नहीं था, जो उसके चेहरे पर साफ़ झलक भी रहा था।

हीरा नगर थाने में अलग ही नज़र था। पुलिसकर्मी थाने में जन्मदिन मनाने की तैयारी कर रहे थे। थाने में आने वाले भी कौतूहल से सब देख रहे थे। थाने पर सुखलिया में रहने वाली 5 साल की जीविका अपने दादा, मां और परिजन के साथ पहुंची। TI हीरा नगर सतीश पटेल, थाने के स्टाफ, नगर सुरक्षा समिति के सदस्य भी मौजूद थे। बच्ची का धूमधाम से जन्मदिन मनाया गया और केक काटने के बाद बच्ची को गिफ्ट भी दिए गए।

Also Read:http:Indore MP: 20 करोड़ से तीन राज्यो के कलाकार कर रहे अन्नपूर्णा मंदिर का नवश्रंगार अटैच

कोरोना की दूसरी लहर में बालिका जीविका के पिता और दादी की मौत हो गई थी। उसके दादा ऑटो रिक्शा चलाकर परिवार का लालन पालन कर रहे थे। लेकिन, उन्हें लकवा होने से वे कोई काम नहीं कर पा रहे थे। ऐसे में बच्ची का जन्मदिन होने पर दादा भी मायूस थे कि सारे इंतजाम कैसे होंगे। इस बीच सत्यकाम वॉलिंटियर से जानकारी मिली, तो पुलिस(police) ने बच्ची का जन्मदिन मनाने का सोचा। TI पटेल ने परिवार को आर्थिक मदद भी की। दादा को कहा कि भविष्य में उन्हें कोई परेशानी हो तो भी वे मदद ले सकते है।