Raid on Premises of MP:आयकर विभाग की छापेमारी में मिले 200 करोड़ कैश, ट्रक में भरकर ले जाए गए नोट

1661

Raid on Premises of MP:आयकर विभाग की छापेमारी में मिले 200 करोड़ कैश, ट्रक में भरकर ले जाए गए नोट

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद धीरज साहू और उनके करीबियों के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी में 200 करोड़ रुपये कैश बरामद किए गए हैं। गौरतलब है कि छापेमारी में 9 अलमारियां नोटों से भरी पाई गईं और नोटों को गिनने के लिए मशीनें मंगवानी पड़ी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 200 करोड़ रुपये की गिनती हो चुकी है और अभी भी नोटों की गिनती चल रही है। ऐसे में जब्त रकम अभी और बढ़ सकती है।

AA1l9iib 1

 

नौ अलमारियों में मिले 200 करोड़ रुपये कैश
बता दें कि धीरज साहू एक बड़े उद्योगपति हैं और शराब बनाने वाली कंपनी बलदेव साहू एंड ग्रुप ऑफ कंपनीज से जुड़े हैं। आयकर विभाग ने ग्रुप के झारखंड-ओडिशा और बंगाल के 10 ठिकानों पर छापेमारी की। आयकर विभाग ने बलदेव साहू कंपनी के बोलांगीर स्थित कार्यालय से 30 किलोमीटर दूर सतपुड़ा ऑफिस में छापेमारी में 200 करोड़ रुपये कैश बरामद किए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नोटों के बंडल ऑफिस की नौ अलमारियों में भरे रखे थे। नोट 500, 200 और 100 रुपये को गड्डियों में रखे थे। इतनी बड़ी संख्या में कैश मिलने के बाद आयकर विभाग की टीम ने मशीनों से नोट गिनकर 157 बैगों में भरा, जब बैग कम पड़ गए तो बोरियों में नोट भरे गए और उसके बाद एक ट्रक में डालकर इन्हें बैंक ले जाया गया।

धीरज प्रसाद साहू मौजूदा समय में राज्यसभा के सांसद हैं। वह उद्योगपति राय साहब बलदेव साहू के बेटे हैं। धीरज रांची से लोलोकसभा सांसद स्वर्गीय शिव प्रसाद के भाई हैं। 23 नवंबर 1959 को छोटानागपुर में जन्मे धीरज का लोहरदगा में पैतृक आवास है। धीरज तीन बार के राज्यसभा सांसद हैं। वह पहली बार  जून 2009 में राज्यसभा सांसद बने थे। जुलाई 2010 में दूसरी और 2018 में तीसरी बार वह उच्च सदन में पहुंचे। वह संसद की कई समितियों के सदस्य रहे हैं। साहू ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत 1977 में कांग्रेस के छात्र संगठन एएसयूआई से की थी।

2018 में राज्यसभा चुनाव के दौरान साहू ने जो शपथपत्र चुनाव आयोग को दिया था उसमें अपनी संपत्ति 34 करोड़ रुपए बताई थी, उन्होंने खुद पर 2.36 करोड़ रुपए का कर्ज भी घोषित किया था। वित्त वर्ष 2016-17 के इनकम टैक्स रिटर्न में उन्होंने अपनी आमदनी 1 करोड़ रुपए से कुछ अधिक बताई थी।

यह सांसद की अलमारी है

यह बैंक नहीं! कांग्रेस सांसद के ठिकानों पर इनकम टैक्स का छापा, कहां से मिले 150 करोड़ कैश