Rude Doctor Removed : MLC करवाने आए आरक्षक से बदतमीजी करने वाले डॉक्टर को हटाया!

देखिए VDO : नौकरी को जूते की नोक पर रखने वाले डॉक्टर ने TI को थर्ड क्लास भी कहा!  

2280

Rude Doctor Removed : MLC करवाने आए आरक्षक से बदतमीजी करने वाले डॉक्टर को हटाया!

Burhanpur : एक आरक्षक से सरकारी डॉक्टर ने बदसलूकी की। डॉक्टर ने कहा कि मैं नौकरी को जूते की नोक पर रखता हूं। तुझे जो करना है, कर ले। तेरा टीआई थर्ड क्लास श्रेणी का है, मैं सेकंड क्लास ऑफिसर हूं। मैं कोई पुलिसकर्मी नहीं हूं। जो नौकरी छूट जाएगी तो कुछ कर नहीं पाऊंगा। तू कलेक्टर को भी फोन लगवा दे तो तेरा मेडिकल नहीं करूंगा। मैं यहां से बाहर जाकर भी तीन गुना कमा सकता हूं।

जिला अस्पताल में एमएलसी कराने पहुंचे शाहपुर के आरक्षक दीपक प्रधान से इस भाषा में अभद्रता करने और एमएलसी करने से इनकार करने वाले डॉ रघुवीर सिंह को सीएमएचओ डॉ राजेश सिसोदिया ने हटा दिया। उन्हें गुलई गांव के स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ करने के आदेश जारी किए गए। साथ ही नोटिस जारी करके उनसे 24 घंटे में जवाब मांगा गया है। सिविल सर्जन की तरफ से जारी नोटिस में कहा गया कि डॉ रघुवीर सिंह के कृत्य से अस्पताल की छवि धूमिल हुई है।

गुरुवार को इमरजेंसी ड्यूटी कर रहे डॉ रघुवीर सिंह ने आरक्षक से जो अभद्रता की उसका वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हुआ। इस वीडियो में वे शाहपुर टीआई अखिलेश मिश्रा को थर्ड क्लास और सरकारी नौकरी जूते की नोक पर रखने की बात कहते दिखाई दे रहे हैं। विवाद गहराने के बाद यह मामला कलेक्टर भव्या मित्तल व एसपी देवेंद्र पाटीदार तक भी पहुंचा।

बाद में डॉ रघुवीर सिंह ने बयान बदलते हुए कहा था कि ईद का अवकाश होने के कारण वे अकेले ही इमरजेंसी, ओपीडी और वार्डों की ड्यूटी कर रहे हैं। काम अधिक होने के कारण उन्होंने आरक्षक को कुछ देर इंतजार करने को कहा था। दूसरी ओर आरक्षक दीपक प्रधान ने डॉक्टर पर अभद्र भाषा में बात करने और करीब 3 घंटे तक एमएलसी के लिए भटकाने का आरोप लगाया। कलेक्टर भव्या मित्तल द्वारा फटकार लगाए जाने के बाद अस्पताल के आरएमओ भी इमरजेंसी ओपीडी में पहुंचे थे, लेकिन आते ही वे आरक्षक पर ही भड़क गए।

यह मामला था जिस पर विवाद हुआ 

बुरहानपुर के शाहपुर थाना इलाके में गुरुवार को दो लोगों के बीच विवाद हो गया था। मारपीट में दोनों घायल हो गए। मामला थाने पहुंचा तो कॉन्स्टेबल दीपक प्रधान एमएलसी (मेडिको लीगल सर्टिफिकेट) के लिए उन्हें जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां डॉ रघुवीर सिंह ड्यूटी पर थे। जांच के दौरान दोनों के बीच बहस हो गई।

शिकायत मिलने पर कार्यवाही  

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (CMHO) डॉ. राजेश सिसोदिया ने कहा कि गुरुवार को पुलिसकर्मी और डॉ रघुवीर सिंह के बीच एमएलसी कराने की बात को लेकर विवाद हुआ था। बदतमीजी की शिकायत मिलने पर फिलहाल डॉ रघुवीर का ट्रांसफर खकनार के गुलई में कर दिया गया है। अस्पताल अधीक्षक डॉ प्रदीप कुमार मोजेश ने डॉ रघुवीर सिंह को नोटिस जारी कर जवाब भी मांगा है।