प्रदेश के मकानों की होगी 45 दिन में गणना, पहली बार डिजिटल गणना, मानीटरिंग वेब पोर्टल से

जनगणना के लिए सीएस की अध्यक्षता में समिति

507

भोपाल : कोरोना के कारण रोका गया जनगणना 2021 का फील्ड कार्य एवं अन्य गतिविधियां दीवाली बाद एक बार फिर शुरु की जाएगी।  पहले चरण में प्रदेश के सभी मकानों का सूचीकरण, गणना और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर को अद्यतन करने का काम 45 दिन में किया जाएगा। इसके लिए राज्य सरकार ने मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस की अध्यक्षता में एक समिति भी बनाई है।

प्रदेश में जनगणना 2021 के राष्टÑीय महत्व के कार्य के सुचारु एवं सफल संचालन को ध्यान में रखते हुए जनगणना कार्य निदेशालय एवं राज्य शासन के विभिन्न विभागों के बीच समन्वय एवं योजनाबद्ध रुप से कार्य करने के लिए राज्य स्तरीय जनगणना समन्वय समिति का गठन किया गया है। जो नई समिति बनाई गई है उसमें मुख्य सचिव अध्यक्ष होंगे। इसके अलावा सामान्य प्रशासन, वित्त, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव, स्कूल शिक्षा,  राजस्व, आदिम जाति कल्याण, जनसंपर्क, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, नगरीय विकास एवं आवास,  योजना आर्थिक एवं सांख्यिकीय विभाग के प्रमुख सचिव तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और गृह विभाग के सचिव, एनआईसी मध्यप्रदेश के निदेशक इसके सदस्य होंगे। जनगणना कार्य निदेशालय के निदेशक इसके संयोजक और सदस्य सचिव होंगे।

मध्यप्रदेश में जनगणना 2021 का काम दो चरणों मे होगा। पहले चरण में मकानों की गणना सूचीकरण 45 दिन में होगा और दूसरा चरण 20 दिन की अवधि में किया जाएगा। कोविड के कारण जनगणना का जो काम रोका गया था वह भारत सरकार के आगामी निर्देशों के आने के बाद पुन: प्रारंभ किया जाएगा।

*भारत की पहली डिजिटल जनगणना, वेब पोर्टल से निगरानी-*
आगामी जनगणना 2021 भारत की पहली डिजिटल जनगणना होगी। इसमें प्रगणक को अपने स्वयं के मोबाईल फोन का प्रयोग करते हुए परिवारों से डिजिटल रुप से आंकड़े एकत्रित करने के लिए मोबी एप विकसित किए गए है। इसके अलावा जनगणना के सभी फील्ड कार्य की सतत निगरानी के लिए भारत के महारजिस्ट्रार कार्यालय ने एक वेब पोर्टल सेंसस मैनेजमेंट एंड मानीटरिंग सिस्टम पोर्टल विकसित किया है।

साल के अंत तक प्रशासनिक इकाईयों के सीमा परिवर्तन फाइनल होंगे-  प्रशासनिक इकाईयों की सीमा परिवर्तन संबंधी प्रस्तावों को अंतिम रुप दिए जाने का काम 31 दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। समिति दोनो चरणों में शासन के संबंधित विभागों के मध्य अपेक्षित सहयोग एवं समन्वय स्थापित करने का कार्य करेगी। समिति की बैठक में जनगणना कार्य हेतु लगाये जाने वाले कर्मचारियोें की उपलब्धता सुनश्चित कराने, जनगणना के मास्टर ट्रेनर, फील्ड ट्रेनर और फील्ड स्टॉफ का प्रशिक्षण निधारित कार्यक्रम के अनुसार आयोजित किया जाएगा। समिति की बैठक का पूरा ब्यौरा समिति के संयोजक, निदेशक , जनगणना कार्य निदेशालय मध्यप्रदेश एक सप्ताह में तैयार कर सचिव गृह के माध्यम से अध्यक्ष को प्रस्तुत करेंगे। समिति का कार्यकाल 31 मार्च 2023 तक रहेगा।