ब्याजखोर गुण्डे दीपू टाक की मिल्कियत ध्वस्त,प्रशासन का चला बुलडोजर

1973

रतलाम से रमेश सोनी की रिपोर्ट

Ratlam MP: हराम की कमाई और मजबूर लोगों को ऊंची दरों पर रुपए देकर एश करने वालों की नींद हराम हो रखी है, जिला प्रशासन की कड़ी कार्रवाई से सूदखोरों, माफियाओं और गुण्डों में खौफ पैदा हो गया है। आज पुलिस ने दीनदयाल नगर थाना क्षेत्र के गुण्डे दीपू टाक जो 10 रुपए सैकड़ा की ब्याज दरों पर रुपए देकर किश्त भुगतान की तारीख ग्राहकों के चुक जाने पर दुगुनी राशि वसूल करता था।जिसकी ऐशगाह को ढहा दिया।

आपको बता दें रहें हैं कि दीपू टाक ने शहर के न्यू रोड़ पर एक बिल्डिंग में अपना अवैध बैंक संचालित कर रखा था जहां की व्यवस्थाएं किसी शासकीय बैंक से कम नहीं थी। यही से ऊंची ब्याज दरों पर रुपया दिया जाता था। जिसका समय पर भूगतान नहीं होने पर राशि को कई गुना बढ़ाकर वसूला जाता था। वहीं उसके गुर्गे भुगतान समय पर नहीं मिलने पर अपनी दबंगई दिखाते हुए रुपए वसूल करते थे।

कानूनी सहारा लेकर अपनी मिल्कियत को बचाने के गुंडे दीपू टाक के मंसूबे नाकाम हो गए जब प्रशासन ने उसके वकील की नहीं सुनते हुए उसकी काली कमाई और गरीबों के खुन से सने आशियाने को ढेर में बदल दिया।

WhatsApp Image 2022 01 25 at 6.53.59 AM 1

बता दें कि तीस से भी अधिक आपराधिक मामले दीपू टाक पर दर्ज हैं।जिस पर जिला प्रशासन की टीम ने मंगलवार को नगर निगम, प्रशासन व पुलिस के अमले ने मिलकर बड़ी कार्रवाई की हैं।मकान को तोड़ने में पोकलेन मशीन,जेसीबी आदि का उपयोग किया गया।

गुण्डों के विरुद्ध एसपी ने लिया बड़ा निर्णय

पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने एक और बड़ा निर्णय लिया है। एसपी तिवारी के अनुसार पूर्व में जमानत लेकर जो अपराधी बाहर आए है, उन्होंने अगर वापस अपराध किया है तो ऐसे गुण्डों की जमानत निरस्त करवाकर फिर जेल भेजा जाएगा।