प्रदेश में आरक्षकों की तेजी से हो रही कमी, भर्ती नहीं होने से मैदानी अमला हो रहा कम

26

भोपाल. प्रदेश पुलिस में आरक्षकों की कमी लगातार बढ़ती जा रही है। पिछले चार साल से भर्ती नहीं होने के कारण कमी का आंकड़ा और बढ़ता जा रहा है। इस कमी को पूरा करने के लिए पुलिस को कई वर्ष लग सकते हैं।

प्रदेश में वर्ष 2017 में आरक्षकों की भर्ती हुई थी। इसके बाद से अब तक आरक्षकों की भर्ती नहीं हो सकी है। इसके चलते जिला बल और विशेष सशस्त्र बल में करीब 12 हजार आरक्षकों की कमी हो चली है। इनके अलावा अन्य कार्य करने वाले 6 हजार के करीब आरक्षकों की कमी प्रदेश पुलिस में हो चुकी है। लगभग 18 हजार आरक्षकों की कमी प्रदेश पुलिस में इस वक्त हो गई है।

महज चार हजार भरे जाएंगे पद

पुलिस मुख्यालय अगले साल चार हजार पुलिस आरक्षकों की भर्ती करेगा। इसकी परीक्षा व्यापमं के जरिए जनवरी में होगी। इन आरक्षकों की भर्ती की पूरी प्रक्रिया में लगभग 6 महीने लग जाएंगे। इसके बाद इनकी दो साल की ट्रैनिंग होगी। भर्ती प्रक्रिया के बाद मैदान में इनकी पदस्थापना में होने में कम से कम दो साल का और वक्त लगेगा। ऐसे में अब 2024 तक मैदान में आरक्षकों की कमी प्रदेश में होती रहेगी।

बढ़ती जाएगी कमी

आगामी तीन साल तक आरक्षकों की मैदान में पदस्थापना नहीं होने के चलते इनकी कमी 2024 तक लगातार होती रहेगी। पुलिस मुख्यालय का अनुमान है कि आने वाले सालों में आरक्षकों की कमी की संख्या 25 हजार तक पहुंच सकती है।