भारी ओलावृष्टि से कश्मीर,शिमला सा बना आज बैतूल का भीमपुर ब्लाक

रंभा गांव में मेघनाद मेला में मची भगदड़

2933

भारी ओलावृष्टि से कश्मीर,शिमला सा बना आज बैतूल का भीमपुर ब्लाक

संभागीय ब्यूरो चीफ चंद्रकांत अग्रवाल की सचित्र खास रपट

बैतूल। प्रदेश के बैतूल में आज मंगलवार को तेज बारिश के साथ भारी ओलावृष्टि के कारण कश्मीर,शिमला की तरह ही सड़कों पर बर्फ की चादर बिछ गई। भारी ओलावृष्टि से किसानों और व्यापारियों को भारी नुकसान हुआ है। ज्ञात रहे कि पिछले कुछ समय से मध्यप्रदेश में मौसम का मिजाज खराब बना हुआ है। इस बीच आज मंगलवार को बैतूल जिले के भीमपुर ब्लॉक में जमकर ओलावृष्टि हुई। इससे भारी नुकसान हुआ है। इधर दूसरी ओर मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के लिए प्रदेश के कई जिलों में ओलावृष्टि और भारी बारिश का रेड, ऑरेंज और यलो अलर्ट जारी किया है।

IMG 20240409 WA0150

भीमपुर क्षेत्र के कई ग्रामों में और तेज बारिश के साथ भारी ओलावृष्टि हुई। रंभा से सटे पोपटी कुनखेड़ी में तेज हवा के साथ वर्षा हुई और चने के आकार के ओले भी गिरे। दोपहर करीब तीन बजे अचानक गरज-चमक के साथ तेज बारिश शुरू हो गई। वहीं करीब 40 मिनट तक क्षेत्र में ओले बरसते रहे। पूरे क्षेत्र का नजारा शिमला जैसा दिख रहा था।

IMG 20240409 WA0149

भारी ओलावृष्टि से खेतों से लेकर गांव की गलियों तक में ओलों की चादर और मोटी परत बिछ गई थी। थोक में बरसे ओलों के कारण ग्रामीणों के घरों की छत पर डले कवेलू तहस-नहस हो गए। साथ ही कई घरों पर डली सीमेंट की शीटें तक टूट-फूट गई। वहीं कई मकानों की शीट तेज हवा में उड़ गई। इस समय क्षेत्र में मेघनाथ मेले जोरों पर चल रहे हैं। रंभा गांव में भी मेले का आज दूसरा दिन था। इस बीच जमकर बारिश और ओले गिरने से व्यापारी और श्रद्धालु ओलों से बचने इधर-उधर भागते नजर आए। किसी की पाल उड़ गई तो किसी का पूरा सामान बह गया या तहस-नहस हो गया। इस आपदा से उन्हें लाखों का नुकसान हुआ।

IMG 20240409 WA0152

बैतूल जिले के भीमपुर विकासखंड के चौहटा, पोपटी और कुनखेड़ी गांव में मंगलवार की शाम को तेज हवा के तेज बारिश के साथ भारी ओलावृष्टि हुई। बेर के आकार ओले गिरने से खेत, सड़क और घरों के ऊपर बर्फ की चादर-सी जम गई. कई जगह तो बर्फ की मोटी परत देखने को मिली।

IMG 20240409 WA0154

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि पोपटी में मंगलवार को फाल्गुन मेला लगा था और मेले में बहुत भीड़ थी। जिले के कई व्यापारियों ने मेले में दुकान भी लगा रखी थी।जैसे ही ओलावृष्टि हुई वैसे ही मेले में भगदड़ जैसी मच गई। ओलों की मार से बचने लोग इधर-उधर छिपने लगे। कई जगह 20 मिनट तो कई जगह 40 मिनट तक बारिश और ओले गिरे। भारी ओलावृष्टि के चलते मेले में लगी दुकानों पर रखे सामान के खराब हो जाने से व्यापारियों को काफी नुकसान हुआ है। वहीं, खेतों में कई एकड़ में गेहूं की फसल भी ओले और पानी की वजह से बर्बाद हुई है। इसके अलावा ओलावृष्टि से घरों के कवेलू भी टूट गए हैं. ग्रामीणों का कहना था कि आज मेघनाथ मेला लगा था। इसी दौरान तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। जिससे मेले में भगदड़ मच गई और व्यापारियों को काफी नुकसान हुआ है। साथ ही किसानों को भी बहुत नुकसान हुआ है। बीते दो दिनों से प्रदेश भर में मौसम खराब चल रहा है। इसके हाल- फिलहाल दुरूस्त होने के आसार भी अभी नहीं है। मौसम विभाग भोपाल ने मंगलवार को जारी बुलेटिन में अगले 24 घंटों में एक बार फिर प्रदेश के कई जिलों में ओलावृष्टि, भारी बारिश और आंधी-तूफान चलने की चेतावनी दी है।

IMG 20240409 WA0153

*प्रदेश के इन जिलों के लिए हुआ रेड अलर्ट जारी* 

मौसम विभाग ने सिंगरौली, अनूपपुर, डिंडोरी, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला और पांढुर्णा जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। इन जिलों में कुछ स्थानों पर मध्यम वर्षा हो सकती है। इसके साथ ही ओलावृष्टि व वज्रपात के साथ झंझावत एवं 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से झोंकेदार हवाएं चलने की चेतावनी दी है।