उज्जैन न्यूज: निगम ने अल सुबह हटाई दुकान 13 ठेले गुमटियाँ

कई दुकानदारों ने क्षेत्रीय पार्षद के घर का घेराव करते हुए किया चक्काजाम 

686

उज्जैन न्यूज: निगम ने अल सुबह हटाई दुकान 13 ठेले गुमटियाँ 

उज्जैन से सुदर्शन सोनी की रिपोर्ट

उज्जैन। सोमवार सुबह नगर निगम के अधिकारी दल-बल के साथ शहर के व्यस्ततम बाजार छत्री चौक पहुंचे एवं यहां दुकानों को हटाने की कार्रवाई शुरू की अचानक हुई कार्रवाई से हड़कंप मच गया। कई दुकानें बंद थी, निगम की इस अचानक कार्रवाई का व्यापारियों ने विरोध किया। उनका कहना था कि वे पिछले 60 साल से यहां पर दुकानें लगा रहे हैं। हटाने के पहले सूचना तो देना चहिए थी।

नगर निगम द्वारा लगातार अतिक्रमण करने वालों और सड़कों पर ठेला-गुमटी लगाने वालों को चेतावनी दी जा रही है। कई जगह पर कार्रवाई भी की गई। वहीं महापौर द्वारा भी व्यापारियों से अपनी दुकान का सामान अंदर रखने और अतिक्रमण नहीं करने का आग्रह किया जा रहा है। इस बीच सोमवार सुबह करीब 8 बजे नगर निगम उपायुक्त सहित अन्य अधिकारी छत्री चौक पहुंचे और 13 दुकानों को हटाने की कार्रवाई की। इनमें फलफ्रूट, कपड़ों, खिलौनों सहित अन्य सामान की दुकानें थी। निगम की कार्रवाई का दुकान मालिकों ने विरोध किया। उनका कहना था कि नगर निगम ने कार्रवाई से पूर्व उन्हें नोटिस नहीं दिया। बगैर सूचना के कार्रवाई शुरू कर दी। इस दौरान भारी पुलिस बल भी तैनात रहा। बताया जाता है कि ये दुकानदार कोर्ट से केस हार चुके हैं। नगर निगम द्वारा इन्हें दो-तीन जगह भी बताई थी। मगर इन्हें पसंद नहीं आई और ये छत्री चौक पर ही दुकान लगा रहे थे। नगर निगम की गैंग ने छत्री चौक के बाद गोपाल मंंदिर के सामने से कई दुकानें हटाईं। ये दुकानें रीगल टॉकिज के नीचे अवैध रूप से लगाई गई थीं। इससे पहले निगम ने छत्री चौक पर फुटपाथ पर दुकान लगाने और ठेलेवालों को भी हटाया था।

क्षेत्रीय पार्षद के घर किया घेराव 

निगम की गैंग द्वारा की गई कार्रवाई से व्यथित ठेला, गुमटी, एवं सड़क पर दुकान लगाने वाले व्यवसाईयों ने क्षेत्रीय वार्ड क्रमांक 23 के पार्षद एवं एमआईसी सदस्य रजत मेहता के घर के बाहर घेराव कर नारेबाजी करते हुए मटका फोड़ प्रदर्शन किया, खबर लिखे जाने तक सभी व्यवसाई पार्षद के छोटा सराफा स्थित निवास के बाहर चक्का जाम कर डटे हुए थे।

क्षेत्रीय पार्षद रजत मेहता ने दूरभाष पर हुई चर्चा में बताया कि आज हुई अतिक्रमण हटाने की करवाई कोर्ट के आदेश के बाद निगम अधिकारियों द्वारा की गई है। इससे पहले भी व्यस्ततम क्षेत्र में बेतरतीब तरीके से लगने वाले करीब 70 ठेलों  को हटाने की कार्रवाई की गई थी। इन ठेलो के कारण यातायात बाधित हो रहा था, लगातार समझाइश के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं होने के कारण निगम द्वारा कार्रवाई की गई थी। अभी मैं शहर से बाहर हूँ, मेरे घर के घेराव की सूचना मिली है। रात तक लौटकर चर्चा के बाद ही आगे की जानकारी दे सकूँगा।