देखें Video: गुरु पूर्णिमा पर Texas में 10000 लोगों ने एक साथ किया भागवत गीता पाठ

1294
गुरु पूर्णिमा
गुरु पूर्णिमा

देखें Video: गुरु पूर्णिमा पर Texas में 10000 लोगों ने एक साथ किया भागवत गीता पाठ

Bhagavad Gita in Texas: विदेशों तक अब हिंदू धर्मग्रंथों की महिमा पहुंच रही है। इसी कड़ी में सोमवार को गुरु पूर्णिमा के मौके पर अमेरिका में भगवद गीता का पाठ करने के लिए 10,000 लोग एक साथ इकट्ठा हुए।

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर 4 से 84 वर्ष की आयु के कुल 10000 लोग टेक्सास के एलन ईस्ट सेंटर में भगवद गीता का पाठ करने के लिए एकत्र हुए। यह कार्यक्रम योग संगीता और एसजीएस गीता फाउंडेशन द्वारा भगवद गीता पारायण यज्ञ के रूप में आयोजित किया गया था।

us 10 thousand people recited bhagwat gita on guru purnima

आज का विचार : तुलसी की सुगन्धित चाय और जीवन का सबसे सुन्दर सन्देश 

अमेरिका में भगवद गीता का पाठ

मैसूर के अवधूत दत्त पीठम आश्रम से मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को गुरु पूर्णिमा के अवसर पर विश्व प्रसिद्ध आध्यात्मिक संत पूज्य गणपति सचिदानंद जी की उपस्थिति में भगवद गीता का पाठ किया गया।

Participants from around the world reciting the Bhagavad Gita on August 13th at the Allen Event Center in Texas(Photo: News India Times)

जानिए कौन हैं गणपति सचिदानंद जी

अवधूत दत्त पीठम 1966 में परम पावन श्री गणपति सचिदानंद जी स्वामीजी द्वारा स्थापित एक अंतर्राष्ट्रीय आध्यात्मिक, सांस्कृतिक और सामाजिक कल्याण संगठन है। बता दें कि टेक्सास में भगवद गीता का जाप करने वाले सभी 10,000 लोगों ने अपने गुरु गणपति सचिदानंद जी स्वामी के मार्गदर्शन में पिछले आठ वर्षों में इसे याद किया था।

अमेरिका में हिंदू आध्यात्मिकता का प्रसार

हालांकि यह पहली बार नहीं है कि स्वामी जी ने अमेरिका में भगवत गीता का जाप कार्यक्रम आयोजित किया हो। स्वामी जी पिछले कुछ वर्षों से इस कार्यक्रम का आयोजन कर रहे हैं और संयुक्त राज्य अमेरिका में बड़े पैमाने पर हिंदू आध्यात्मिकता का प्रसार कर रहे हैं।

गणपति सचिदानंद जी स्वामी जी भगवद गीता का प्रचार करने और सनातन हिंदू धर्म के मूल्यों को फैलाने के लिए एक विश्व प्रसिद्ध संत हैं।

आज का विचार : एक किसान ने वक्त की नजाकत को समझते हुए किया फैसला, दोनों सुंदरिया खुशी-खुशी वापस चली गयीं 

कब मनाई जाती है गुरु पूर्णिमा

बता दें कि आषाढ़ मास की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। इस दिन गुरुओं की पूजा होती है। साथ ही दान-पुण्य का भी विशेष महत्व है। इस बार आषाढ़ माह की पूर्णिमा 3 जुलाई को यानि बीते सोमवार को थी। आषाढ़ माह की पूर्णिमा तिथि को ही महर्षि वेद व्यास का जन्म हुआ था।

Different Yoga After 19 Years: आज से सावन शुरू, कुल 59 दिनों तक शिव भक्त करेंगे भगवान भोले की पूजा