YouTube New CEO: कौन हैं भारतीय-अमेरिकी नील मोहन?

935

YouTube New CEO: कौन हैं भारतीय-अमेरिकी नील मोहन?

भारतीय-अमेरिकी नील मोहन वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब के नए सीईओ होंगे. इससे पहले यूट्यूब की सीईओ सुसान वोजिकी (Susan Wojcicki) ने अपने पद से इस्तीफा दिया है. भारतीय मूल के नील मोहन Susan Wojcicki की जगह लेंगे. नील मोहन अभी यूट्यूब के चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर हैं. वो लंबे वक्त से सुसान वोजिकी के सहयोगी रहे हैं.

नील मोहन अब माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला, एडोब के सीईओ शांतनु नारायण और अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई सहित यूएस-आधारित वैश्विक दिग्गजों के शीर्ष पर भारतीय मूल के सीईओ की बढ़ती सूची में शामिल होंगे.

कौन हैं नील मोहन?

नील मोहन ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में स्नातक किया है. वो लंबे वक्त से सुसान वोजिकी के सहयोगी रहे, 2007 में DoubleClick अधिग्रहण के साथ Google में शामिल हुए थे. मोहन को 2015 में YouTube में चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर नियुक्त किया गया था. उन्होंने YouTube में चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर के रूप में अपनी भूमिका निभाते हुए शॉर्ट्स, म्यूजिक और सब्सक्रिप्शन पर फोकस किया. नील मोहन माइक्रोसॉफ्ट के साथ भी काम कर चुके हैं.

नील मोहन ने क्या कहा?

नील मोहन ने कहा कि वह इस महत्वपूर्ण मिशन को जारी रखने के लिए उत्साहित हैं और एक नए भविष्य की आशा कर रहे हैं. उन्होंने ट्वीट किया, ”धन्यवाद, सुसान वोजिकी, वर्षों से आपके साथ काम करना अद्भुत रहा है. आपने YouTube को रचनाकारों और दर्शकों के लिए एक असाधारण घर बना दिया है. मैं इस महत्वपूर्ण मिशन को जारी रखने के लिए उत्साहित हूं.”

सुसान वोजिकी ने क्यों दिया इस्तीफा?

टिकटॉक और फेसबुक की रील्स जैसी शॉर्ट-फॉर्म वीडियो सेवाओं और नेटफ्लिक्स जैसी स्ट्रीमिंग सेवाओं के साथ प्रतिस्पर्धा के बीच यूट्यूब के विज्ञापन राजस्व में लगातार दूसरी तिमाही में गिरावट आई है. बता दें कि Susan Wojcicki ने एक पत्र लिखकर अपने इस्तीफे का एलान किया. उन्होंने कहा कि वे अपने जीवन का एक नया अध्याय शुरू करने जा रही है. वे अपनी फैमिली, हेल्थ और पर्सनल प्रोजेक्ट को लेकर नया काम शुरू करेंगी.

ल मोहन अब माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला, एडोब के सीईओ शांतनु नारायण और अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई सहित यूएस-आधारित वैश्विक दिग्गजों के शीर्ष पर भारतीय मूल के सीईओ की बढ़ती सूची में शामिल होंगे.

कौन हैं नील मोहन?

नील मोहन ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में स्नातक किया है. वो लंबे वक्त से सुसान वोजिकी के सहयोगी रहे, 2007 में DoubleClick अधिग्रहण के साथ Google में शामिल हुए थे. मोहन को 2015 में YouTube में चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर नियुक्त किया गया था. उन्होंने YouTube में चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर के रूप में अपनी भूमिका निभाते हुए शॉर्ट्स, म्यूजिक और सब्सक्रिप्शन पर फोकस किया. नील मोहन माइक्रोसॉफ्ट के साथ भी काम कर चुके हैं.

नील मोहन ने क्या कहा?

नील मोहन ने कहा कि वह इस महत्वपूर्ण मिशन को जारी रखने के लिए उत्साहित हैं और एक नए भविष्य की आशा कर रहे हैं. उन्होंने ट्वीट किया, ”धन्यवाद, सुसान वोजिकी, वर्षों से आपके साथ काम करना अद्भुत रहा है. आपने YouTube को रचनाकारों और दर्शकों के लिए एक असाधारण घर बना दिया है. मैं इस महत्वपूर्ण मिशन को जारी रखने के लिए उत्साहित हूं.”

सुसान वोजिकी ने क्यों दिया इस्तीफा?

टिकटॉक और फेसबुक की रील्स जैसी शॉर्ट-फॉर्म वीडियो सेवाओं और नेटफ्लिक्स जैसी स्ट्रीमिंग सेवाओं के साथ प्रतिस्पर्धा के बीच यूट्यूब के विज्ञापन राजस्व में लगातार दूसरी तिमाही में गिरावट आई है. बता दें कि Susan Wojcicki ने एक पत्र लिखकर अपने इस्तीफे का एलान किया. उन्होंने कहा कि वे अपने जीवन का एक नया अध्याय शुरू करने जा रही है. वे अपनी फैमिली, हेल्थ और पर्सनल प्रोजेक्ट को लेकर नया काम शुरू करेंगी.

IMF Chief की चेतावनी: ‘बेहद मुश्किल’ स्थिति में Global Economy