Tuesday, October 23, 2018

Blog

आनंद कुमार शर्मा

आनन्द शर्मा भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं, वर्तमान में आयुक्त अनुसूचित जाति विकास मध्य प्रदेश शासन के पद पर पदस्थ और कविता, फ़िल्म समीक्षा, यात्रा वृतांत आदि अनेक विधाओं में फ़ेसबुकीय लेखन| विशेष तौर पर मीडिया वाला के लिए ताज़ा फ़िल्म समीक्षा

माण्डू , बेस्ट हेरिटेज सिटी अव इंडिया

माण्डू , बेस्ट हेरिटेज सिटी अव इंडिया

इन दिनों मध्यप्रदेश में सफ़ाई में आगे रहने की होड़ लगी हुई है , इंदौर और भोपाल पूरे देश में सबसे साफ़ सुथरे शहरों की गिनती में पहले और दूसरे नम्बर पर आए हैं , तो हाल ही में...

सुई धागा , मेड इन इण्डिया 

सुई धागा , मेड इन इण्डिया 

काम नहीं है वरना यहाँ आपकी दुआ से सब ठीक ठाक है” गुलज़ार का लिखा मेरे अपने फ़िल्म का ये गीत तो आप सब को याद ही होगा | दरअसल हिंदुस्तानी आदमी से जब भी पूछो “ क्या हाल...

मंटो , फिल्म समीक्षा

मंटो , फिल्म समीक्षा

सआदत हसन मंटो के जीवन पर तीन घण्टे की फ़िल्म बनाना भी बड़ा मुश्किल काम है , जिसका पूरा जीवन धारा के विपरीत बहने में निकला हो और भारत तथा पाकिस्तान दोनों ही देशों में जिसके लिखे पर मुक़दमे...

आज शिक्षक दिवस है

आज शिक्षक दिवस है

मीडियावाला.इन। जो वैसे तो महान दार्शनिक और शिक्षा शास्त्री राधाकृष्णन का जन्मदिन है जो  भारत के दूसरे राष्ट्रपति थे पर जिन्होंने व्यक्ति पूजा के भावों से परे जा कर अपना जन्म दिन शिक्षक दिवस के रूप में मानाने...

स्त्री - फिल्म समीक्षा

स्त्री - फिल्म समीक्षा

आम तौर पर डरावनी फिल्में जिनमे भूत प्रेत मनोरंजन का विषय हों, मुझे देखना पसंद नहीं है, पर स्त्री मैंने दो कारणों से देखी। एक तो राजकुमार राव और दूसरा चन्देरी जो ना केवल अपनी रेशमी साड़ियों के लिए...

चौधरी से चौधरी तक...

चौधरी से चौधरी तक...

मीडियावाला.इन। इस सप्ताह रीवा में संभागीय समीक्षा बैठक थी, तो इसी के साथ रीवा के संभागायुक्त और हमारे अभिन्न मित्र श्री महेश चौधरी से मुलाक़ात का सुअवसर भी मिल गया| श्री चौधरी रीवा के 37 वें संभाग...

फ़न्ने खाँ

फ़न्ने खाँ

शायद दुनिया में हर माँ-बाप अपने सपने अपने बच्चों में पालते हैं , जो कुछ भी वो बनना चाहते थे और नहीं बन पाए उस सबकी अभिलाषा वो अपने बच्चे से चाहते हैं , इसी आदिम आकांक्षा की ख़ूबसूरत...

फिल्म समीक्षा : संजू

फिल्म समीक्षा : संजू

मीडियावाला.इन। संजू देखने जाते समय मेरे मन में बड़ा असमंजस था क्यूँकि संजय दत्त ना तो सचिन या धोनी जैसी कोई हस्ती है जिन पर बनी फ़िल्मे भी बमुश्किल ही चली हैं और ना फ़िल्मी दुनिया में उसे कोई...

कविता : आनंद कुमार शर्मा

कविता : आनंद कुमार शर्मा

साहित्य की लगभग सभी विधाओं में दखल रखने वाले श्री आनंद शर्माजी का आज जन्म दिन है और आज इस खास अवसर पर हम यहाँ उनकी एक खुबसूरत सी कविता प्रकाशित कर रहे है|  ...

यादों के सफ़हे

मीडियावाला.इन। कुछ दिनों से  धूम है 11/11/11 की जहाँ देखो नए नए तरीकों से इसकी व्याख्या हो रही है कुछ अपने बच्चो का जन्म इसी दिन चाहते हैं ये सोच कर की ये बड़ा अद्भुत संयोग है | कुछ...