Monday, August 26, 2019

Blog

हेमंत पाल

तीन दशक से ज्यादा समय से पत्रकारिता में संलग्न। नवभारत, नईदुनिया (इंदौर, भोपाल) और जनसत्ता (मुंबई) में कार्य किया। नईदुनिया में लम्बे समय तक चुनाव डेस्क प्रभारी। राजनीतिक और फिल्म और टीवी पत्रकारिता में परीचित नाम। देशभर के अखबारों और पत्रिकाओं में लेखन। राजनीतिक और फिल्म स्तंभकार। फिलहाल 'सुबह सवेरे' के इंदौर संस्करण में स्थानीय संपादक।


संपर्क : 9755499919

पुलिस की रेवड़ में काली भेड़ों को ढूंढने की जरुरत!

मीडियावाला.इन। आम आदमी के जहन में बरसों से पुलिस को लेकर एक ख़ास छवि रही है। लोग मानते हैं कि पुलिस सभ्य लोगों की मदद के लिए नहीं होती! क्योंकि, सभ्य लोग पुलिस से डरते...

अब वही उद्योगपति आएगा, जो निवेश साथ लाएगा!

अब वही उद्योगपति आएगा, जो निवेश साथ लाएगा!

मीडियावाला.इन। शिवराज-सरकार के कार्यकाल में पाँच इन्वेस्टर्स समिट हुए! लेकिन, सब बेनतीजा रहे! इन समिट में लाखों करोड़ के एमओयू पर दस्तखत हुए, पर कोई भी निवेश जमीन पर नहीं उतरा! क्योंकि, इन इंवेस्टर्स समिट के प्रति सरकार गंभीर...

कभी नहीं देखा होगा आत्मविश्वास का ये अंदाज!

कभी नहीं देखा होगा आत्मविश्वास का ये अंदाज!

मीडियावाला.इन। कमलनाथ की अपनी एक राजनीतिक शैली है, जो अमूमन राजनीतिकों में बहुत कम देखी जाती है! वे कम बोलते हैं, बेवजह बयानबाजी नहीं करते! कभी किसी ने उन्हें खुलकर ठहाके लगाते नहीं देखा! उनके...

बड़बोले भाजपा नेताओं को सत्ता पाने की इतनी बेताबी क्यों?

बड़बोले भाजपा नेताओं को सत्ता पाने की इतनी बेताबी क्यों?

मीडियावाला.इन। 'जिस दिन बॉस इशारा करेंगे, कमलनाथ सरकार गिरा देंगे!' इस तरह के बड़बोले बयानबाज भाजपा नेताओं की अब बोलती बंद है! उन्हें समझ नहीं आ रहा कि उनके दड़बे में सैंध कैसे लग गई! जिन लोगों...

सिनेमा के परदे पर हर दौर में छाया पुनर्जन्म!

सिनेमा के परदे पर हर दौर में छाया पुनर्जन्म!

मीडियावाला.इन। हिंदी सिनेमा का इतिहास बताता है कि समय, काल और परिस्थिति के साथ-साथ दर्शकों की पसंद भी बदलती रही! जब फ़िल्में बनना शुरू हुई,तो धार्मिक फ़िल्में ही ज्यादा बनी! धर्मग्रंथों के छोटे-छोटे प्रसंगों को आधार...

दुखी जनता को 'आनंद' देने के सरकारी प्रपंच!

दुखी जनता को 'आनंद' देने के सरकारी प्रपंच!

मीडियावाला.इन। मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार अपनी पूर्ववर्ती शिवराज सरकार के कुछ बोझ बेवजह ढो रही है! उन्हीं में से एक है 'आनंद संस्थान!' भूटान की नक़ल से बने इस ख़ुशी के फॉर्मूले को प्रदेश की शिवराज सरकार ने अपनाया...

भाजपा में आचरण की ये गंदगी कहाँ से आई?

भाजपा में आचरण की ये गंदगी कहाँ से आई?

मीडियावाला.इन। राजनीति में शुचिता, संस्कार और मर्यादा की सबसे ज्यादा बात भाजपा ही ज्यादा करती रही है। ये जानते हुए भी कि ये संभव नहीं है! देशभर में ऐसी कई घटनाएं हुई जिनसे सामने आया कि भाजपा के...

मध्यप्रदेश के विकास के छद्म आभामंडल का सच!

मीडियावाला.इन।  मध्यप्रदेश के विकास के दावे छद्म और झूठे हैं। दिखाने के लिए विकास के नाम पर सड़कें, पुल और पुलिया दिखाई जाती है! जबकि, किसी राज्य का वास्तविक विकास प्रति व्यक्ति आय, गरीबी का अनुपात, ऊर्जा की...

भाजपा के दरकते अनुशासन पर लगाम की कोशिश!

भाजपा के दरकते अनुशासन पर लगाम की कोशिश!

मीडियावाला.इन। भारतीय जनता पार्टी की अपनी अलग राजनीतिक शैली थी! जिसमें मर्यादा भी थे, संस्कार भी पार्टी से जुड़े लोगों का आचरण भी दागदार नहीं था!  लेकिन,दाढ़ में सत्ता का स्वाद लगने के बाद पार्टी की शैली बदल...

सराहा क्यों जाता है, परदे का ये खुरदुरा किरदार!

सराहा क्यों जाता है, परदे का ये खुरदुरा किरदार!

मीडियावाला.इन। फिल्मों की दुनिया का अपना अलग ही नजरिया है। यहाँ सिर्फ फिल्मों का हिट और फ्लॉप होना ही, उनके अच्छे और ख़राब होने का मूल्यांकन नहीं है! यहाँ ऐसा भी होता है कि फिल्म के हिट होने और अच्छी...

असंतुष्टों से मेलजोल का मकसद कहीं पार्टी पर दबाव बनाना तो नहीं?

असंतुष्टों से मेलजोल का मकसद कहीं पार्टी पर दबाव बनाना तो नहीं?

मीडियावाला.इन।  इंदौर की पूर्व सांसद सुमित्रा महाजन 'ताई' के राज्यपाल बनने की एक अफवाह ने पिछले दिनों माहौल को गरमा दिया था! दिनभर बधाइयाँ चलती रही! 'ताई' के समर्थकों ने खुशियाँ मानना शुरू कर दिया था! लेकिन,...

भक्ति संगीत से मेरे जीवन में बड़ा बदलाव आया:अनूप जलोटा  

भक्ति संगीत से मेरे जीवन में बड़ा बदलाव आया:अनूप जलोटा  

मीडियावाला.इन। भजन सम्राट अनूप जलोटा से वरिष्ठ पत्रकार  हेमंत पाल  की बातचीत     भजन सम्राट कहे जाने वाले अनूप जलोटा पिछले दिनों निजी यात्रा पर इंदौर आए थे! इस दौरान उनसे भक्ति संगीत, गुरू-शिष्य...

राजनीति का मूड बताएगा झाबुआ का थर्मामीटर!

राजनीति का मूड बताएगा झाबुआ का थर्मामीटर!

मीडियावाला.इन।   झाबुआ को प्रदेश की राजनीतिक गर्मी मापने का थर्मामीटर कभी नहीं माना गया! लेकिन, संयोग है कि ये मौका दूसरी बार झाबुआ को ही मिला! पिछले लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा सांसद दिलीपसिंह भूरिया का निधन...

बंगाली सत्ता में सेंध मारने में अव्वल रहे इंदौर के 'भाई'

बंगाली सत्ता में सेंध मारने में अव्वल रहे इंदौर के 'भाई'

मीडियावाला.इन।  इस बात को करीब तीन दशक हो गए जब लोग इंदौर की एलआईजी कॉलोनी के चौराहे पर केशरिया दुपट्टा डाले एक नेता को अकसर देखते थे! तब वे स्कूटर के पीछे बैठे नजर आते थे!...

पाँच महीने में क्या बदला कि मुरझाया कमल फिर खिला!

पाँच महीने में क्या बदला कि मुरझाया कमल फिर खिला!

मीडियावाला.इन। लोकसभा चुनाव नतीजों से सभी हतप्रभ है! भाजपा ने देश में जो चमत्कार किया, वो सभी ने देखा! लेकिन, पाँच महीने पहले मध्यप्रदेश में जो उलटफेर हुआ, लोग वो भी भूले नहीं हैं। लोग समझ नहीं पा...

धार लोकसभा सीट:कांटाजोड़ मुकाबले में फँसी भाजपा की साख!

मीडियावाला.इन।  इस आदिवासी सीट पर पिछले चुनाव में मोदी लहर का ख़ासा असर था। लेकिन, इस बार माहौल बदला हुआ है। विधानसभा चुनाव में जिले की 7 में से 6 सीटों पर कांग्रेस ने जीत का झंडा लहराया!...

इंदौर के बहाने 'भाजपा' और 'ताई' दोनों की प्रतिष्ठा दाँव पर!

इंदौर के बहाने 'भाजपा' और 'ताई' दोनों की प्रतिष्ठा दाँव पर!

मीडियावाला.इन।  भाजपा ने इस बार इंदौर लोकसभा सीट से सुमित्रा महाजन 'ताई' का टिकट 75 साल के फार्मूले के तहत काट दिया। यहाँ से नए उम्मीदवार शंकर लालवानी को उम्मीदवार बनाया गया। ऐसे में 'ताई'...

ताई इतनी काबिल है तो, फिर टिकट क्यों काटा?

ताई इतनी काबिल है तो, फिर टिकट क्यों काटा?

मीडियावाला.इन।     प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को चुनावी सभा को संबोधित करने इंदौर आए थे! उन्होंने अपनी लच्छेदार बातों से भीड़ को जमकर प्रभावित किया! लोगों से तालियां भी बजवाई! पर, अपने पीछे कुछ अनुत्तरित सवाल छोड़...

पश्चिमी मध्यप्रदेश में अनसोचे नतीजों से इंकार नहीं!

पश्चिमी मध्यप्रदेश में अनसोचे नतीजों से इंकार नहीं!

मीडियावाला.इन। पूरे देश में चुनाव की गर्मी ठंडी हो गई! लेकिन, पश्चिमी मध्यप्रदेश के मालवा-निमाड़ में मौसम और चुनाव की गर्मी जोश पर है। यहाँ की 8 लोकसभा सीटों पर सातवें चरण में मतदान होगा! अब यहाँ ...

'ताई' की राजनीतिक विरासत का सही उत्तराधिकारी कौन!  

'ताई' की राजनीतिक विरासत का सही उत्तराधिकारी कौन!  

मीडियावाला.इन।  इंदौर की भविष्य की राजनीति का सिक्का हवा में उछल चुका है! जब ये सिक्का नीचे गिरेगा तो ऊपर 'चित' आता है या 'पट' कोई नहीं जानता! तीन दशकों से जिस लोकसभा सीट पर सुमित्रा...