Wednesday, June 19, 2019

Blog

एन. के. त्रिपाठी

एन के त्रिपाठी आई पी एस सेवा के मप्र काडर के सेवानिवृत्त अधिकारी हैं। उन्होंने प्रदेश मे फ़ील्ड और मुख्यालय दोनों स्थानों मे महत्वपूर्ण पदों पर सफलतापूर्वक कार्य किया। प्रदेश मे उनकी अन्तिम पदस्थापना परिवहन आयुक्त के रूप मे थी और उसके पश्चात वे प्रतिनियुक्ति पर केंद्र मे गये। वहाँ पर वे स्पेशल डीजी, सी आर पी एफ और डीजीपी, एन सी आर बी के पद पर रहे।

वर्तमान मे वे मालवांचल विश्वविद्यालय, इंदौर के कुलपति हैं। वे अभी अनेक गतिविधियों से जुड़े हुए है जिनमें खेल, साहित्य एवं एन जी ओ आदि है। पठन पाठन और देशा टन में उनकी विशेष रुचि है।

मो. नंबर - 9425112266

चुनाव में जातिवाद का घटता प्रभाव

चुनाव में जातिवाद का घटता प्रभाव

mediawala.in                                    लोक सभा चुनाव के परिप्रेक्ष्य में इस भाग में मैं राजनीति में जातिवाद के ह्रास की ओर ध्यान आकृष्ट करना चाहता हूँ। भारत का बहुसंख्यक हिंदू समाज हज़ारों वर्षों से जातियों में विभक्त रहा है और भारत की...

क्या हुआ बंगाल में ? 

दिनांक 12 मई को मतदान के दिन और 14 मई को कलकत्ते में अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा की घटनाओं के बारे में मीडिया और राजनीतिक क्षेत्रों में काफ़ी चर्चा है। अपने बंगाल के सूत्रों...

लोकसभा चुनाव: न मुद्दे हैं ना कोई लहर, हां, नेता अपनी भाषा और मर्यादा तोड़ने का कीर्तिमान जरूर रच रहे हैं

मीडियावाला.इन। लोक सभा चुनाव धीरे धीरे अपनी परिणिति की ओर बढ़ रहा है, यद्यपि अभी अत्यधिक महत्वपूर्ण एक तिहाई सीटें बची हुई हैं। पक्ष और विपक्ष दोनों ही अपने पुराने इतिहास और भविष्य के वादों के साथ जनता के हृदय...

राजनीति की नौटंकी

राजनीति की नौटंकी

मीडियावाला.इन।             एक ऐसा अधिकारी होने के नाते जिसने मध्य प्रदेश पुलिस और CRPF दोनों में काम किया है, मुझे कल यह देखकर बड़ा दुख हुआ कि ये दोनों बल इनकम टैक्स रेड के समय झड़प की स्थिति में...

पाकिस्तान की मजबूरी :भारत की बिना सनसनी की दृढ़ता (और सोशल मीडिया)

पाकिस्तान की मजबूरी :भारत की बिना सनसनी की दृढ़ता (और सोशल मीडिया)

जैसी की आशंका थी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कल कहा था,आज पाकिस्तान की वायुसेना ने जम्मू कश्मीर की नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ की और फ़ौजी ठिकानों पर बमबारी करने का प्रयास किया। पाकिस्तान की जनता को कुछ...

मोदी का चुनावी बिगुल है ये बजट

मोदी का चुनावी बिगुल है ये बजट

वित्त मंत्री पीयूष गोयल के द्वारा जो बजट प्रस्तुत किया गया है वह निश्चित रूप से मोदी सरकार का चुनावी बिगुल है।यह एक अंतरिम बजट है जो पूरी तरह से चुनाव को ध्यान में रखकर बनाया गया है...

कांग्रेस की नई अँगड़ाई 

कांग्रेस की नई अँगड़ाई 

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की शानदार विजय भविष्य की राजनीति के लिए एक नई दिशा निर्धारित करेगी।  अनेक विश्लेषकों एवं विवेचकों ने कांग्रेस की जीत और भाजपा की हार के लिए अपने मौलिक विचार प्रस्तुत...

बुलंदशहर की आग : गोरक्षक  बनाम राज्य सत्ता

बुलंदशहर की आग : गोरक्षक  बनाम राज्य सत्ता

बुलंदशहर  के थाना स्याना के निरीक्षक सुबोध कुमार सिंह की साम्प्रदायिक भीड़ द्वारा की गई निर्मम हत्या से गोरक्षकों और प्रकारांतर से भारतीय जनता पार्टी का विद्रूप चेहरा सामने आ गया है। उत्तर प्रदेश की भगवा योगी...

जस्टिस कुरियन के मीडिया मे उद्गार

जस्टिस कुरियन के मीडिया मे उद्गार

नेताओं और अभिनेताओं के बाद अब माननीय न्यायाधीशों को भी मीडिया का चस्का लगता जा रहा है। किसी ज़माने में केवल अपने ऐतिहासिक निर्णयों से बोलने वाले जज  आज मीडिया के माध्यम से सनसनी फैलाने में नेताओं से भी आगे...

पार्टी प्रवक्ता ( और मीडिया )

सभी पार्टियों में प्रवक्ताओं की एक टीम होती है।इलेक्ट्रॉनिक चैनलों के आने के  बाद विशेष रूप सेइनका महत्व बढ़ गया है। ये काफ़ी पढ़े लिखे,चतुर एवं अद्यतन जानकारी रखने वाले होते हैं। इनकी अपनी पार्टी के प्रति वफ़ादारी...

सीबीआई की दुर्गति  

सीबीआई की दुर्गति  

मीडियावाला.इन। आँध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों के द्वारा यह बयान दिया गया है कि उनके राज्यों में CBI के द्वारा अब कोई हस्तक्षेप नहीं किया जा सकता है।ये दोनो मुख्यमंत्री मोदी सरकार के विरुद्ध बनाया...

भँवर में डगमगाती CBI

भँवर में डगमगाती CBI

पिछले कुछ दिनों से जिस तरीक़े से CBI हेडक्वार्टर में घमासान मचा हुआ है उससे न केवल सरकार मे बल्कि पूरे देश में चिंता व्याप्त हो गई है ।भारत सरकार ने समय रहते कोई कारगर क़दम नहीं उठाये...

रफाल या राजनीतिक गांडीव 

रफाल या राजनीतिक गांडीव 

राहुल गांधी बहुत रोमांचित हैं। उन्हें रफ़ाल  का एक तोहफ़ा मिल गया है जो उनके लिए जादू की छड़ी का काम कर सकता है । इस छड़ी को वे एक राजनैतिक अस्त्र बना कर 2019 के चुनावी महासमर...

न्यायपालिका पर राजनैतिक खेल

न्यायपालिका पर राजनैतिक खेल

पर्यटन से लौट कर सभी पुराने समाचार पत्र पढ़े। चुनाव संबंधी निरर्थक सूचनाओं के बीच बीते दिनों के सुप्रीम कोर्ट के महत्वपूर्ण निर्णय ध्यानाकर्षित करने वाले हैं। विदेश जाने से पूर्व मैंने प्रतीक्षित निर्णयों की सूची के बारे...

देश में जातीय टकराव उफान पर

देश में जातीय टकराव उफान पर

देश मे जातीय टकराव उफान पर है। गत २० मार्च को सुप्रीम कोर्ट के दो जजों की बेंच ने एस सी एस टी प्रिवेंशन आफ एट्रोसिटी एक्ट मे गिरफ़्तारी की प्रक्रिया मे कुछ नये प्रावधान कर दिये। गिरफ़्तारी के...

राजनीति  और  विवाद

राजनीति और विवाद

अभी हाल की कुछ गतिविधियाँ प्रचलित फ़ैशन के अनुसार राष्ट्रीय विवाद बन गई हैं। किसी भी बात को अचानक मुख्य मीडिया और उसका चंचल भाई सोशल मीडिया विवाद बना देने की क्षमता रखते हैं। केरल बाढ़ के लिये...

रस्सी जल गई ऐंठन नहीं गई, लाल बत्ती चली गई सायरन लग गया

रस्सी जल गई ऐंठन नहीं गई, लाल बत्ती चली गई सायरन लग गया

प्रधानमंत्री मोदी ने देश मे लाल बत्ती का चलन बन्द कर वी आइ पी संस्कृति पर एक जोरदार प्रहार किया था।राष्ट्रपति सहित मूर्द्धन्य संवैधानिक पदाधिकारियों ने अपनी लाल बत्तियाँ गाड़ियों से उतार दी।भारतीय नागरिक समानता की स्वच्छ वायु में...

धारा 377 आईपीसी - शेर की आवाज़ चूहे सी

तीन तलाक़ के मसले पर बीजेपी ने पूरे देश मे शेर की तरह दहाड़ लगाई थी। पूरे अल्पसंख्यक मुस्लिम समाज को चुनौती देते हुए उसने इस प्रथा को येन केन प्रकारेण समाप्त करने का ऐलान कर दिया था। उनका...

भारत का पलायनवादी सोच - तंत्र, कर्कश होती चुनावी आहट

सहसा एक रात्रि विचार आया कि प्रत्येक देश का सोचने का एक सोच-तंत्र होता है। एक काल विशेष में देश की सोच को दिशा देने वाले अनेक तत्व होते हैं- जैसे दार्शनिक , वैज्ञानिक , शिक्षाविद, न्यायशास्त्री, राजनेता...

आत्महत्याएँ

आत्महत्याएँ

मीडियावाला.इन। भय्यू महाराज द्वारा की गई आत्महत्या ने उनके जानने वाले सभी लोगों को हिलाकर रख दिया है। इस घटना पर बहुत कुछ कहा, लिखा और दिखाया जा चुका है तथा इस पर कुछ और कहना व्यर्थ...