Monday, September 23, 2019
प्रदेश के हर आवासहीन को नि:शुल्क पट्टा मिलेगा और मकान बनाने के लिए ढाई लाख रुपए का अनुदान, मुख्यमंत्री कमल नाथ झाबुआ में

प्रदेश के हर आवासहीन को नि:शुल्क पट्टा मिलेगा और मकान बनाने के लिए ढाई लाख रुपए का अनुदान, मुख्यमंत्री कमल नाथ झाबुआ में

मीडियावाला.इन।

झाबुआ से अमित शर्मा की रिपोर्ट

भोपाल :मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि प्रदेश के हर आवासहीन को नि:शुल्क पट्टा दिया जाएगा और उसे मकान बनाने के लिए ढाई लाख रुपए का अनुदान दिया जाएगा। शासन के इस निर्णय से प्रदेश का हर जरूरतमंद व्यक्ति अपने मकान का मालिक होगा। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में एक ऐसे मध्यप्रदेश का निर्माण करेंगे जिसमें किसी को समस्याओं का आवेदन देने की जरूरत न पड़े उनकी समस्या का समाधान मौके पर ही हो जाए। हम प्रदेश में आलोचना, गुमराह और घोषणाओं की बजाए काम करने की संस्कृति बना रहे है। श्री नाथ आज झाबुआ में मुख्यमंत्री आवास मिशन (शहरी) का शुभारम्भ कर 200 आवासहीनों को पट्टों का वितरण कर रहे थे। 

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि नई सरकार ने कार्य करने की नई संस्कृति विकसित की है। इसमें जनता को गुमराह करने, दूसरों की आलोचना करने और घोषणाओं की कोई जगह नहीं है। हमारी संस्कृति काम करके दिखाने की संस्कृति है। मुख्यमंत्री ने पिछले 15 साल बनाम 8 माह का उल्लेख करते हुए कहा कि हमने काम करने की नियत और नीति को दिखाया है। खाली तिजोरी के बाद भी 19 लाख किसानों की कर्ज माफी की गई। आने वाले समय में हम 37 लाख किसानों का कर्जा माफ करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि मक्का किसानों को 250 रुपए का बोनस दिया गया है। जिन किसानों ने अपना गेहूँ बेचा है उन्हें 160 रुपए बोनस के भुगतान की शुरूआत की जा रही है। उन्होंने कहा कि वचन-पत्र को सामने रखकर हमने अपने काम की शुरूआत की है। गरीब कन्याओं के विवाह/निकाह के लिए दी जाने वाली राशि दोगुना कर उसे 51 हजार किया। इसी तरह बुजुर्गों और नि:शक्तजन की पेंशन 300 से बढ़ाकर 600 रुपए कर दी। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारद ने किसानों की स्थिति को सुधारने और नौजवानों को रोजगार देने के लिए पहले दिन से काम शुरू किया है। कृषि के क्षेत्र में एक ऐसी क्रांति लाने की शुरूआत कर रहे है जिससे किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और वे कर्ज लेने से मुक्त होंगे। प्रदेश में नौजवानों को रोजगार मिले इसके लिए हम निवेशकों का विश्वास लौटा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 15 वर्ष में बड़ी संख्या में उद्योग बंद हुए है। उसका कारण था निवेशकों का मध्यप्रदेश पर विश्वास का न होना, जिसमें अब सुधार आया है और निवेशकों की दिलचस्पी मध्यप्रदेश में बढ़ी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि झाबुआ के विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। यहाँ के विकास का एक नया इतिहास बनाएँगे।

पर्यटन एवं नर्मदा घाटी विकास मंत्री श्री सुरेंद्र सिंह बघेल ने कहा कि कमल नाथ की सरकार घोषणा पूरी करने वाली सरकार है। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास मिशन में 469 आवासहीनों को पट्टा दिया जाएगा। झाबुआ के हर घर में पानी देने के लिए 40 करोड़ की योजना बनाई गई है। जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि झाबुआ के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। विकास कार्यों के लिए करोड़ों रुपए की राशि स्वीकृत कर रहे है। किसान कल्याण एवं कृषि मंत्री श्री सचिन यादव ने कहा कि कमल नाथ सरकार ने मात्र दो घण्टे में किसानों का कर्ज माफ किया। उसके बाद कर्ज माफी में आ रही अड़चनों को दूर किया और खाली खजाने के बाद भी किसानों के लिए कर्ज माफी की राशि की व्यवस्था की।

पूर्व सांसद श्री कांतिलाल भूरिया और विधायक श्री वालसिंह मेड़ा ने कार्यक्रम को संबोधित किया। 

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने इस मौके पर 30 करोड़ की लागत के विकास कार्यों को लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने जय किसान फसल ऋण माफी योजना में 64 हजार 628 किसानों को 323.75 करोड़ रुपए के स्वीकृति पत्र और भुगतान के चेक प्रदान किए। जय किसान समृद्धि योजना में 3 हजार 491 किसानों को 2.86 करोड़ रुपए के भुगतान पत्र सौंपे। मुख्यमंत्री मध्यान्ह भोजन में भोजन बनाने वाले 1522 स्व-सहायता समूहों को 91.32 लाख रुपए के गैस कनेक्शन वितरित किए।

झाबुआ में मुख्यमंत्री का पारंपरिक तरीके से स्वागत किया गया है। उन्हों साफा बाँधा गया आदिवासियों द्वारा पहनी जाने वाली जॉकेट और तीर-कमान भेंट किए गए। मुख्यमंत्री को झाबुआ की मुख्य फसल भुट्टे की टोकरी भी भेंट की गई।

 

0 comments      

Add Comment