बागेश्वर महाराज को जान से मारने की धमकी,SP ने 25 सदस्यीय SIT गठित की

395

बागेश्वर महाराज को जान से मारने की धमकी,SP ने 25 सदस्यीय SIT गठित की

बागेश्वर धाम से राजेश चौरसिया

छतरपुर: देश के लोकप्रिय कथाव्यास एवं छतरपुर के ग्राम गढ़ा में स्थित बागेश्वर पीठ के पीठाधीश्वर पं. धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री को जान से मार देने की धमकी मिली है। सोमवार की रात उनके चचेरे भाई लोकेश गर्ग के फोन पर एक व्यक्ति ने धमकी देते हुए कहा कि वह धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की तेरहवीं की तैयार करे। वह उन्हें जान से मार देगा। इस धमकी के बाद छतरपुर पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा के निर्देश पर बमीठा थाने में खुद को अमर सिंह बताने वाले इस आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। वहीं इस मामले के बाद पुलिस अधीक्षक ने एएसपी विक्रम सिंह के नेतृत्व में एक 25 सदस्यीय एसआईटी गठित कर दी है जो मामले की जांच करेगी। उधर बागेश्वर धाम पर भी सुरक्षा के इंतजाम बढ़ा दिए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर के 27 वर्षीय भाई लोकेश गर्ग को बीती शाम उनके मोबाइल नंबर पर खुद को अमर सिंह बताने वाले एक व्यक्ति ने 8976341715 मोबाइल नंबर से फोन लगाकर यह धमकी दी है। लोकेश गर्ग ने पुलिस को बताया कि धमकी देने वाले ने पहले तो कहा कि धीरेन्द्र से मेरी बात कराओ जब लोकेश ने उक्त व्यक्ति से कहा कि वे रायपुर कथा में गए हैं बात कराना संभव नहीं है तब उक्त धमकीबाज व्यक्ति ने कहा कि वह धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की तेरहवीं की तैयारी कर ले। इतना कहके आारोपी ने फोन काट दिया। पुलिस ने इस मामले में लोकेश गर्ग की शिकायत पर अज्ञात कथित आरोपी अमर सिंह के विरूद्ध धारा 506 एवं 507 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है।

●एसआईटी गठित, एसपी ने बनाई जांच टीम..

देश के चर्चित हिन्दू संत बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर को मिली इस धमकी के बाद पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने आरोपी की तलाश के लिए एएसपी विक्रम सिंह के नेतृत्व में 25 सदस्यीय जांच कमेटी गठित की है। इस कमेटी में एसडीओपी खजुराहो मनमोहन सिंह बघेल, एसडीओपी बड़ामलहरा शशांक जैन, थाना प्रभारी बमीठा अरविंद दांगी, राजनगर टीआई राजेश बंजारे सहित साईबर सेल के पुलिस अधिकारी शामिल हैं।

एसपी सचिन शर्मा ने कहा कि आरोपी की गिरफ्तारी के लिए यह एसआईटी निरंतर प्रयास करेगी और जल्द ही आरोपी को पकड़ा जाएगा।

●बागेश्वर धाम पहुंचे धीरेन्द्र शास्त्री..

श्रद्धा और अंधविश्वास को लेकर चल रही चर्चा के केन्द्र में मौजूद बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पं. धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री अपनी रायपुर कथा का समापन करने के बाद मंगलवार की दोपहर अपने गृह जिले छतरपुर में स्थित बागेश्वर धाम पर पहुंच गए। झांसी-खजुराहो फोरलेन पर स्थित ग्राम गढ़ा के तिराहे पर जैसे ही बागेश्वर धाम महाराज का काफिला पहुंचा सैकड़ों की तादाद में मौजूद उनके समर्थकों ने आतिशबाजी, ढोल नगाड़ों और पुष्पवर्षा के साथ उनका स्वागत किया। इसके बाद वे एक खुली गाड़ी में सवार होकर मंदिर तक पहुंचे। अपने माता-पिता के दर्शन करने के बाद उन्होंने भगवान बालाजी के दर्शन किए और तमाम मुद्दों पर मीडिया से बात की।

●धमकी के बाद क्या बोले बागेश्वर महाराज..

फोन पर मिली जान से मारने की धमकी के बाद मंगलवार को मीडिया से रूबरू होते हुए बागेश्वर महाराज ने कहा कि सनातन का काम रोकने के लिए इस तरह की धमकियां मिलना साधारण बात है। उन्होंने कहा कि वे जिस तरह देश में धर्मांतरण को रोकने के लिए प्रयास कर रहे हैं उससे सनातन विरोधियों का एक वर्ग उनके खिलाफ तमाम साजिशें कर रहा है। उन्हें इस धमकी से फर्क नहीं पड़ता। उन्हें अपने इष्ट बालाजी और मप्र सरकार व पुलिस पर पूर्ण भरोसा है जो लोग धमकी दे रहे हैं वे जल्द पकड़े जाएंगे।

देश के मुद्दों पर बागेश्वर महाराज का साक्षात्कार..

प्र. आपने बीते रोज भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने की बात कही, यह कैसे संभव है?
उ. हम सब एक हैं, भारत हिन्दू राष्ट्र है यह हमारी कामना है। इस प्रार्थना को हमने अपने बालाजी के समक्ष एवं देश के सनातनी समाज के सामने रखा है। यदि बालाजी ने चाहा और सनातनी वर्ग एक हुआ तो ऐसा होने में देर नहीं लगेगी।

प्र. सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने रामचरित मानस को जहर फैलाने वाला ग्रंथ बताया है, इस पर आप क्या कहेंगे?
उ. यह उनकी मूर्खता है। रामचरित मानस एक आदर्श ग्रंथ है जिसमें जीवन में नैतिकता अपनाने के सारे मूल्य छिपे हुए हैं। उनकी दृष्टि ही गलत है ये वही लोग हैं जो रामसेतु, अयोध्या और भगवान राम को भी नहीं मानते। मेरी राय में तो रामचरित मानस को राष्ट्रीय ग्रंथ घोषित करना चाहिए।

प्र. पाकिस्तान में बुनियादी चीजों का संकट खड़ा हो गया है और वह देश बर्बाद होने की कगार पर है इस पर आप क्या कहेंगे?
उ. जो देश अपनी संपूर्ण ऊर्जा दहशतगर्दी को फैलाने और दूसरे देश को नष्ट करने में लगाता है वह स्वाभाविक रूप से एक दिन नष्ट हो जाता है। हम तो यही कहेंगे कि पाकिस्तान का भारत में विलय हो जाना चाहिए।

प्र. शंकराचार्य ने आपके ऊपर सवाल उठाते हुए कहा जोशी मठ की दरारें भरकर दिखाएं?
उ. शंकराचार्य जी हमारे सर्वाेच्च धर्मगुरू हैं उन्होंने जो कहा उस पर मैं अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दे सकता। उनके अपने विचार हैं मैं उनका सम्मान करता हूं।

प्र. आपकी तुलना माइंड रीडर्स या मेंटेलिस्ट के साथ की जा रही है जो एक कलाकारी के साथ लोगों का दिमाग पढ़ते हैं?
उ. हर कोई तुलना के लिए स्वतंत्र है, मैं कोई दावा नहीं करता। मैं सभी से कहूंगा कि भगवान बालाजी और हमारे सन्यासी बाबा के लिए सभी चमत्कार छोटे हैं जिन्हें संदेह है वे दरबार में आकर अपनी जिज्ञासाओं का समाधान करें।