Blog

राकेश अचल

राकेश अचल ग्वालियर - चंबल क्षेत्र के वरिष्ठ और जाने माने पत्रकार है। वर्तमान वे फ्री लांस पत्रकार है। वे आज तक के ग्वालियर के रिपोर्टर रहे है।

राजस्थान का रण है या तमाशा.....

राजस्थान का रण है या तमाशा.....

मीडियावाला.इन। कुर्सी के लिए कहाँ, क्या नहीं हो सकता? राजस्थान में आजकल जो हो रहा है वो किस्सा कुर्सी का ही है. अचानक पूर्व हो गए उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की हड़बड़ी उनके लिए घातक साबित हुई,...

समर्पण का अभ्यारण्य है मध्यप्रदेश

समर्पण का अभ्यारण्य है मध्यप्रदेश

मीडियावाला.इन। उत्तरप्रदेश के आठ पुलिस कर्मियों की  नृशंस हत्या करने के आरोपी विकास दुबे के मध्यप्रदेश के महाकाल मंदिर में कथित रूप से समर्पण करने पर अगर आप हैरान हैं तो व्यर्थ है. हकीकत ये है कि...

महल की राजनीति और राजनीति का महल

महल की राजनीति और राजनीति का महल

मीडियावाला.इन। एक लम्बे समय बाद पुराने विषय पर लौटना पड़ रहा है क्योंकि राजनीति भी लोकपथ से राजपथ की ओर जाती दिखाई दे रही है. आजादी के बाद लोकतंत्र में भी अनेक राजघराने राजनीति में कूदे लेकिन...

खुल कर नहीं खेल पा रहे शिवराज

खुल कर नहीं खेल पा रहे शिवराज

मीडियावाला.इन। मध्य्प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह अपनी चौथी पारी में खुलकर नहीं खेल पा रहे हैं. उनकी सौ दिन की सरकार हिचकोले लेकर चल रही है. पहले उन्होंने अपना काम पांच मंत्रियों के शेयर चलाया फिर जैसे...

सावन आयो रे

सावन आयो रे

मीडियावाला.इन। सावधान, खबरदार, होशियार सावन आ रहा है. सावन के आने में अब ज्यादा दिन नहीं बचे हैं, लेकिन मै आपका शुभचिंतक होने के नाते आपको एक दिन  पहले से आगाह कर रहा हूँ कि-सावन आ रहा...

शैक्षणिक संस्थानों में लटकते ताले

शैक्षणिक संस्थानों में लटकते ताले

मीडियावाला.इन। आज एक शुष्क लेकिन जरूरी विषय पर लिख रहा हूँ .विषय है देश के शैक्षणिक संस्थानों में तालाबंदी .कोरोना संकट के चलते देश में किंडर गार्डन स्कूलों से लेकर विश्व विद्यालय स्तर तक के शैक्षणिक संस्थानों में ताले...

क्योंकि 'टाइगर' ज़िंदा है

क्योंकि 'टाइगर' ज़िंदा है

मीडियावाला.इन। जन-प्रतिनिधि अब जनप्रतिनिधि नहीं रहे, वे टाइगर हो गए हैं और उन्हें कुछ न कुछ अजूबा कर अपने ज़िंदा होने का प्रमाण भी देना पड़ने लग गया है. सियासत का ये नया संस्करण है. इस संस्करण...

आइये फिर नए कुतर्क के साथ

आइये फिर नए कुतर्क के साथ

मीडियावाला.इन। सरहद पर शहादत ले रहे चीन के साथ रिश्तों को लेकर भाजपा और कांग्रेस में चल रहे भीषण संघर्ष में रोज नए खुलासे हो रहे हैं. एक तरफ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी देश को आत्म निर्भर बनाकर...

गोबरतन्त्र बनाम लोकतंत्र

गोबरतन्त्र बनाम लोकतंत्र

मीडियावाला.इन। आप यकीन कीजिये की भारतीय लोकतंत्र हर तरीके से महान है .महान इसलिए है क्योंकि इसमें सभी का ध्यान रखा जाता है .ताजा खबर छत्तीसगढ़ से आई है.सुना  है कि छग सरकार अब पशुपालकों की इमदाद  के  लिए  ...

राजा और महाराज दोनों राजपथ पर

राजा और महाराज दोनों राजपथ पर

मीडियावाला.इन। लोकतंत्र में दो ही पथ ऐसे हैं जिनपर चलकर लोग सुख अनुभव करते हैं और इन्हें अपनी सुविधा के अनुसार बदलते रहते हैं .मध्यप्रदेश में पिछले चार महीने से राजनीति इन्हीं दो पथों के बीच भटक...

कोरोना बनाम सत्तू

कोरोना बनाम सत्तू

मीडियावाला.इन। सियासत और बीमारी पर लिख-लिख कर अब पोस्ट हो चुका हूँ ,इसलिए आज इन सबसे हटकर सत्तू पर लिख रहा हूँ. सत्तू कोरोना की तरह ही भारत में पूरी तरह से व्याप्त एक ऐसा खाद्य पदार्थ...

पहली बार दागदार सिंधिया

पहली बार दागदार सिंधिया

मीडियावाला.इन। राजनीति में आना कोयले की खान से गुजरने जैसा है. कम ही लोग इसमें से बेदाग़ बाहर निकल पाते हैं. बीस साल से 'मिस्टर क्लीन' की तरह राजनीति कर रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर...

राज्यसभा चुनाव से पहले क्या ज्योतिरादित्य विधायकों से मिल पाएंगे?

राज्यसभा चुनाव से पहले क्या ज्योतिरादित्य विधायकों से मिल पाएंगे?

मीडियावाला.इन। कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी माँ श्रीमती माधवी राजे सिंधिया को कोरोना संक्रमण की खबर से उनके अपने समर्थकों के साथ ही हम जैसे लोग भी विचलित...

कांग्रेस की परछाई से युद्ध

कांग्रेस की परछाई से युद्ध

मीडियावाला.इन। देश में यद्यपि कांग्रेस का वजूद बहुत क्षीण हो गया है किन्तु आज भी भाजपा को कांग्रेस ही अपनी दुश्मन नंबर एक दिखाई दे रही है, इसका कारण ये है कि चाहे, अनचाहे भी आज देश...

'रिसार्ट पालटिक्स' से गुजरता देश

'रिसार्ट पालटिक्स' से गुजरता देश

मीडियावाला.इन। लोकतंत्र की स्थापना में जब कुछ दोष रह जाते हैं तो वे रह-रहकर लोकतंत्र की जड़ों को ही कमजोर करते हैं .दलबदल एक ऐसा ही लोकतांत्रिक दोष है.इसे देश में सबसे ज्यादा समय तक सत्तारूढ़ रही कांग्रेस ने...

रंगभेद से दग्ध अमेरिका को फिर चाहिए एक गांधी

रंगभेद से दग्ध अमेरिका को फिर चाहिए एक गांधी

मीडियावाला.इन। दुनिया के सबसे बड़े ताकतवर देश को जलते हुए देखकर विश्वास नहीं होता की इक्कीसवीं सदी में भी वहां रंगभेद एक बड़ी समस्या बनकर इतने नग्न रूप में दिखाई देगी ? रंगभेद का इतिहास जानने  के लिए आपको...

अग्निपथ पर सिंधिया

अग्निपथ पर सिंधिया

मीडियावाला.इन। जिन मित्रों ने कविवर हरिवंश राय की कविता अग्निपथ पढ़ी होगी वे इस शीर्षक का आनंद आसानी से उठा सकेंगे। मध्यप्रदेश की राजनीति के ध्रुवतारे ज्योतिरादित्य सिंधिया को देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस छोड़े कोई...

सिंधिया से छेड़छाड़ का मकसद

सिंधिया से छेड़छाड़ का मकसद

मीडियावाला.इन। कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया की याद भाजपा को सताये या न सताये लेकिन कांग्रेसियों को जरूर सत्ता रही है ,उन्होंने दो महीने से लापता ज्योतिरादित्य सिंधिया का पता बताने और उनसे जनसेवा करने वाले...

अब जनता किसे माफ़ करे सरकार !

अब जनता किसे माफ़ करे सरकार !

मीडियावाला.इन। देश साल पहले प्रदेश की जनता के सामने एक नारा था'माफ़ करो महाराज,हमारा नेता तो शिवराज'.बावजूद इस नारे के जनता ने शिवराज की नहीं सुनी और महाराज को प्रदेश में भाजपा की डेढ़ दशक पुरानी सत्ता उखाड़ने वाला...

राजनीति की बस और भटकते मजदूर

राजनीति की बस और भटकते मजदूर

मीडियावाला.इन। कोरोना से निबटने के लिए लागू किया  देशव्यापी लाकडाउन का चौथा चरण भी समाप्त हो जाएगा लेकिन लगता है कि  लाकडाउन के कारण मजदूरों के पलायन और उसको लेकर शुरू हुई सियासत कभी समाप्त नहीं होगी .जैसी कि...