Blog

एन. के. त्रिपाठी

एन के त्रिपाठी आई पी एस सेवा के मप्र काडर के सेवानिवृत्त अधिकारी हैं। उन्होंने प्रदेश मे फ़ील्ड और मुख्यालय दोनों स्थानों मे महत्वपूर्ण पदों पर सफलतापूर्वक कार्य किया। प्रदेश मे उनकी अन्तिम पदस्थापना परिवहन आयुक्त के रूप मे थी और उसके पश्चात वे प्रतिनियुक्ति पर केंद्र मे गये। वहाँ पर वे स्पेशल डीजी, सी आर पी एफ और डीजीपी, एन सी आर बी के पद पर रहे।

वर्तमान मे वे मालवांचल विश्वविद्यालय, इंदौर के कुलपति हैं। वे अभी अनेक गतिविधियों से जुड़े हुए है जिनमें खेल, साहित्य एवं एन जी ओ आदि है। पठन पाठन और देशा टन में उनकी विशेष रुचि है।

मो. नंबर - 9425112266

बाबूलाल बिना रिकॉर्ड के मर गया......

बाबूलाल बिना रिकॉर्ड के मर गया......

मीडियावाला.इन। लखनऊ विश्वविद्यालय के दिनों के मेरे एक घनिष्ठ मित्र, जिनसे आज भी मेरा जीवंत संपर्क है, लखनऊ में रहने के साथ- साथ  उत्तर प्रदेश के बस्ती ज़िले से अलग हुए नेपाल की तराई से लगे सिद्धार्थ नगर ज़िले...

दमोह उपचुनाव के परिणाम और राम प्रसाद

दमोह उपचुनाव के परिणाम और राम प्रसाद

मीडियावाला.इन। इस चित्र मैं और वर्दी में प्रधान आरक्षक राम प्रसाद है।राम प्रसाद मेरी दमोह में पुलिस अधीक्षक की पदस्थापना के समय मेरे ड्राइवर थे। वो मेरी जीप को बहुत ही अच्छी हालत में रखते थे। उन्हें...

कोविड का कोहराम -ज़िम्मेदारी और अपेक्षाएँ

कोविड का कोहराम -ज़िम्मेदारी और अपेक्षाएँ

मीडियावाला.इन। भारत में कोविड से अभी तक 17,636,307 लोग ग्रस्त हो चुके हैं तथा इनमें से 14,556,209 ठीक हो गये हैं। 1,97,897 लोग काल के ग्रास हो चुके हैं। मृतकों की यह संख्या विश्व में तीसरे क्रम पर है।...

चलते रहो प्यारे-चलने का दर्शन और तथ्य  Keep Walking Dear- Philosophy and Facts of Walking

चलते रहो प्यारे-चलने का दर्शन और तथ्य Keep Walking Dear- Philosophy and Facts of Walking

मीडियावाला.इन। जीवन चलने का नाम,  चलते रहो सुबह-ओ-शाम।  इन पंक्तियों का सार आपके जीवन को सदैव आध्यात्मिक, मानसिक और शारीरिक रूप से सकारात्मक बनाए रखेगा।मानव जीवन में चलने का वही महत्व है जैसे नदी...

पूरब के चुनाव -कुछ व्यक्तिगत अनुभव / कुछ विचार

पूरब के चुनाव -कुछ व्यक्तिगत अनुभव / कुछ विचार

मीडियावाला.इन। मुझे पूर्वी भारत के विशाल नदियों वाले दो महत्वपूर्ण राज्यों पश्चिम बंगाल और असम में, जहां चुनाव हो रहे है, काफ़ी समय रहने का सुअवसर मिला है। यहाँ के मुख्य शहर ही नहीं, बल्कि छोटे-छोटे कस्बों और ग्रामीण...

विधानसभा चुनाव- चार राज्यों तथा एक संघ क्षेत्र का

विधानसभा चुनाव- चार राज्यों तथा एक संघ क्षेत्र का

मीडियावाला.इन। चार राज्यों और एक केंद्र शासित क्षेत्र में चुनाव की तिथियों की घोषणा के साथ पूरा देश चुनावी जुनून में आ चुका है।चुनाव एक प्रजातांत्रिक पर्व है जो अगली सरकार बनाने के साथ- साथ जनता को...

ख़तरनाक ध्रुवीकरण

ख़तरनाक ध्रुवीकरण

मीडियावाला.इन। राजनीति के आधार पर भारत एक विषाक्त रेखा द्वारा दो भागों में बुरी तरह विभाजित हो गया है। राजनीतिक पार्टियां, बुद्धिजीवी, पत्रकार तथा अनेक सामान्य जन इस रेखा से दो विपरीत ध्रुवों में बँट चुके हैं।इस विभाजन का...

मोदी एवं बाबू (IAS)

मोदी एवं बाबू (IAS)

मीडियावाला.इन।  मोदी ने संसद में कुछ दिन पूर्व अपने भाषण में यह कह कर सबको चौंका दिया कि क्या देश में सब कुछ बाबू चलाएंगे।बाबू से उनका तात्पर्य अंग्रेज़ी मीडिया से लिया गया शब्द है जो आईएएस और...

बजट 2021-2022

बजट 2021-2022

मीडियावाला.इन।                                                        इसमें कोई आश्चर्य नहीं है कि बजट आने से पहले ही यह मालूम रहता है कि कौन इस पर क्या कहेगा।राजनीति के खिलाड़ियों को बजट की बारीकियों को समझने का समय या आवश्यकता नहीं होती है।बजट पर प्रतिक्रिया...

विक्टोरिया मेमोरियल पर कैसा सुभाष

विक्टोरिया मेमोरियल पर कैसा सुभाष

मीडियावाला.इन।          सुभाष चंद बोस की 125 वीं जयंती के उपलक्ष्य पर राष्ट्र का मुख्य कार्यक्रम कल कलकत्ता के एतिहासिक विक्टोरिया मेमोरियल के प्रांगण में मनाया गया।जैसा कि सुभाष चंद्र बोस के साथ होता आया है, वे इस अवसर पर...

किसान आन्दोलन

किसान आन्दोलन

मीडियावाला.इन।                                           विश्व के राष्ट्रों  का इतिहास साक्षी है कि  तीव्र विकास ही स्थायित्व और शक्ति प्रदान करता है।द्वितीय विश्व युद्ध के बाद अनेक विकासशील देश  जो आज विकसित श्रेणी में खड़े हुए है, उन्होंने अपने देशों में राजनीतिक सुगमता के...

बंगाल  किधर

बंगाल किधर

मीडियावाला.इन।                                      अमित शाह का पश्चिम बंगाल के मिदनापुर और वीरभूम ज़िलों का दौरा अभी अभी संपन्न हुआ है। यह एक संयोग है कि इन दोनों स्थानों में मैं कुछ महीने रह चुका हूँ।इन दोनों ज़िलों के मुख्यालयों में...

व्यायाम-जीवन का आनंद

व्यायाम-जीवन का आनंद

मीडियावाला.इन। यहाँ मैं वॉट्सऐप का ज्ञान नहीं बाँट रहा हूँ , बल्कि अपने लंबे अनुभव और अध्ययन के आधार पर एक्सरसाइज  के संबंध में लिख रहा हूँ। व्यायाम तुलसीदास के शब्दों में, ‘आबाल वृद्ध नर नारी’ सबके...

चौराहे पर खड़ी कांग्रेस

चौराहे पर खड़ी कांग्रेस

मीडियावाला.इन। बिहार के चुनाव तथा अनेक राज्यों के उपचुनावों के परिणामों से कॉंग्रेस की, कुछ अपवादों को छोड़कर, करारी पराजय की एक सतत श्रंखला जारी है। दो लोक सभा चुनावों की निर्णायक पराजयों के अभ्यस्त हो चुके गांधी परिवार...