Blog

डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी

डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी जाने-माने पत्रकार और ब्लॉगर हैं। वे हिन्दी में सोशल मीडिया के पहले और महत्वपूर्ण विश्लेषक हैं। जब लोग सोशल मीडिया से परिचित भी नहीं थे, तब से वे इस क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं। पत्रकार के रूप में वे 30 से अधिक वर्ष तक नईदुनिया, धर्मयुग, नवभारत टाइम्स, दैनिक भास्कर आदि पत्र-पत्रिकाओं में कार्य कर चुके हैं। इसके अलावा वे हिन्दी के पहले वेब पोर्टल के संस्थापक संपादक भी हैं। टीवी चैनल पर भी उन्हें कार्य का अनुभव हैं। कह सकते है कि वे एक ऐसे पत्रकार है, जिन्हें प्रिंट, टेलीविजन और वेब मीडिया में कार्य करने का अनुभव हैं। हिन्दी को इंटरनेट पर स्थापित करने में उनकी प्रमुख भूमिका रही हैं। वे जाने-माने ब्लॉगर भी हैं और एबीपी न्यूज चैनल द्वारा उन्हें देश के टॉप-10 ब्लॉगर्स में शामिल कर सम्मानित किया जा चुका हैं। इसके अलावा वे एक ब्लॉगर के रूप में देश के अलावा भूटान और श्रीलंका में भी सम्मानित हो चुके हैं। अमेरिका के रटगर्स विश्वविद्यालय में उन्होंने हिन्दी इंटरनेट पत्रकारिता पर अपना शोध पत्र भी पढ़ा था। हिन्दी इंटरनेट पत्रकारिता पर पीएच-डी करने वाले वे पहले शोधार्थी हैं। अपनी निजी वेबसाइट्स शुरू करने वाले भी वे भारत के पहले पत्रकार हैं, जिनकी वेबसाइट 1999 में शुरू हो चुकी थी। पहले यह वेबसाइट अंग्रेजी में थी और अब हिन्दी में है। 


डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी ने नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने पर एक किताब भी लिखी, जो केवल चार दिन में लिखी गई और दो दिन में मुद्रित हुई। इस किताब का विमोचन श्री नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के एक दिन पहले 25 मई 2014 को इंदौर प्रेस क्लब में हुआ था। इसके अलावा उन्होंने सोशल मीडिया पर ही डॉ. अमित नागपाल के साथ मिलकर अंग्रेजी में एक किताब पर्सनल ब्रांडिंग, स्टोरी टेलिंग एंड बियांड भी लिखी है, जो केवल छह माह में ही अमेजॉन द्वारा बेस्ट सेलर घोषित की जा चुकी है। अब इस किताब का दूसरा संस्करण भी आ चुका है। 

आम आदमी की निजता पर वाट्सएप का डाका

आम आदमी की निजता पर वाट्सएप का डाका

मीडियावाला.इन। आखिर वाट्सएप  को हुआ क्या है? वाट्सएप  की नई सिक्योरिटी पॉलिसी को लेकर काफी लोग चिंतित और परेशान हैं। क्या यह वास्तव में सामान्य बात है? वाट्सएप में सिक्योरिटी पॉलिसी में सीधा-सीधा यह कहा गया कि इसे हां...

ट्रंप के जाने के बाद ट्विटर के शहंशाह बने नरेन्द्र मोदी

ट्रंप के जाने के बाद ट्विटर के शहंशाह बने नरेन्द्र मोदी

मीडियावाला.इन। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बन गए हैं ट्विटर के शहंशाह। ट्विटर पर  दुनिया के सबसे लोकप्रिय राजनेता।    नरेन्द्र    मोदी  ट्विटर पर 2009 से सक्रिय  हैं।  उनके फ़ॉलोअर्स की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है। प्रधानमंत्री मोदी के 6 करोड़ 47...

2020 में नरेन्द्र मोदी की दाढ़ी खूब सर्च हुई गूगल पर

2020 में नरेन्द्र मोदी की दाढ़ी खूब सर्च हुई गूगल पर

मीडियावाला.इन। वर्ष 2020 में कोरोना का संकट दुनिया भर में छाया रहा और लोगों ने गूगल पर कोरोनावायरस खूब सर्च किया।  भारत में किसान आंदोलन के बारे में भी लोगों ने बहुत सी बातें खोजने की कोशिश...

विजय मनोहर तिवारी की डायरी - 'उफ़ ये मौलाना'

विजय मनोहर तिवारी की डायरी - 'उफ़ ये मौलाना'

मीडियावाला.इन। ख़बरों की दुनिया में ढाई दशकों तक मनरेगा मज़दूर रहे विजय मनोहर तिवारी की नई क़िताब  'उफ़ ये मौलाना' कोरोना काल में मरकज़ और मौलानाओं की भूमिका को लेकर लिखी डायरी है। डायरी हमेशा निजी होती...

योगी जी, जो भारत के नहीं हुए वे यूपी के कैसे होंगे?

योगी जी, जो भारत के नहीं हुए वे यूपी के कैसे होंगे?

मीडियावाला.इन। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बड़े भोले हैं, उन्हें लगता है कि वे मुंबई आएंगे और मुंबई की फिल्म नगरी उठकर उनके आग्रह पर यूपी चली जाएगी।  मुंबई की फिल्म इंडस्ट्री बॉलीवुड है। हॉलीवुड की...

कौन थे महेन्द्र सिंह टिकैत? कैसे किसान नेता थे ?

कौन थे महेन्द्र सिंह टिकैत? कैसे किसान नेता थे ?

मीडियावाला.इन। बात ऐसे किसान नेता की, जिसका कद पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह  के समकक्ष माना जाता था, लेकिन उन्होंने कभी ग्राम पंचायत में  पंच का चुनाव भी नहीं लड़ा। उनके जैसा नेता न तो आज़ाद भारत में हुआ,...

अर्नब को लेकर मीडिया के लोग क्यों बंटे हुए हैं?

अर्नब को लेकर मीडिया के लोग क्यों बंटे हुए हैं?

मीडियावाला.इन। एक तरफ एनयूजे, दिल्ली पत्रकार संघ, एडिटर्स गिल्ड, वर्किंग जर्नलिस्ट्स अर्नब के साथ खड़े हैं और प्रदर्शन कर चुके हैं वहीं पत्रकार जगत का ही एक धड़ा दूर  छिटक कर खड़ा हो गया है।  आरफ़ा खानम शेरवानी...

पूछता यह भी है भारत कि क्या  नाईक परिवार को न्याय मिलेगा?

पूछता यह भी है भारत कि क्या नाईक परिवार को न्याय मिलेगा?

मीडियावाला.इन। कहानी की शुरुआत में करता हूं रिपब्लिक टीवी की स्थापना के समय से।  2017 में रिपब्लिक टीवी की स्थापना की गई और यह हुआ कि मुंबई के वर्ली एरिया के पास  रिपब्लिक टीवी का भव्य  स्टूडियो और ऑफिस...

सुरखी और सांवेर के उपचुनाव में हैं कई समानता

सुरखी और सांवेर के उपचुनाव में हैं कई समानता

मीडियावाला.इन। सुरखी (Surkhi ) विधानसभा क्षेत्र की तुलना अगर किसी क्षेत्र से की जा सकती है, तो वह है सांवेर (Sanver) विधानसभा क्षेत्र । सांवेर के भाजपा प्रत्याशी तुलसी सिलावट (Tulsi Silawat) की तरह ही गोविंद सिंह राजपूत (Govind...

हर कोई पूछता है कि सांवेर में चुनाव का मुद्दा क्या है?

हर कोई पूछता है कि सांवेर में चुनाव का मुद्दा क्या है?

मीडियावाला.इन। वरिष्ठ पत्रकार डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी की विशेष रिपोर्ट  विधानसभा उपचुनाव में सबसे हाई  प्रोफ़ाइल सीट सांवेर की मानी  जाती है।   हर कोई पूछता है कि सांवेर में चुनाव का मुद्दा क्या...

दैनिक भास्कर ने रचा कीर्तिमान : 128 पेज का हिन्दी अख़बार के मायने

दैनिक भास्कर ने रचा कीर्तिमान : 128 पेज का हिन्दी अख़बार के मायने

मीडियावाला.इन। अख़बार के ज्यादा पेज होना कोई उसकी श्रेष्ठता का पैमाना नहीं है, लेकिन ज्यादा पन्नों का या मोटा अख़बार इस बात का पैमाना ज़रूर है कि अख़बार की आर्थिक हालत ठीक है और वह अच्छा  कारोबार...

झूठ बेनकाब हुआ तो दैनिक भास्कर पर बौखलाई कंगना

झूठ बेनकाब हुआ तो दैनिक भास्कर पर बौखलाई कंगना

मीडियावाला.इन। वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश हिन्दुस्तानी की खास खबर  कंगना रनौत ने दैनिक भास्कर पर क्यों लगाया फेक न्यूज़ फैलाने का आरोप हाल ही में टाइम्स नाउ...

क्या मुख्यमंत्री को अपशब्द बोलना बहादुरी है?

क्या मुख्यमंत्री को अपशब्द बोलना बहादुरी है?

मीडियावाला.इन। बात शुरू हुई थी सुशांत सिंह राजपूत की हत्या या आत्महत्या को लेकर। हत्या या आत्महत्या के कारणों की जांच से शुरू हुआ मामला ना जाने कितने मोड़ों पर घूमते-फिरते एक अलग ही मुकाम पर...

पीएम की बायोपिक बनाने वाले का नाम जुड़ा सुशांत मामले की जांच से

पीएम की बायोपिक बनाने वाले का नाम जुड़ा सुशांत मामले की जांच से

मीडियावाला.इन। वरिष्ठ पत्रकार डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी की खास खबर  सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या (या हत्या) के मामले में अब राजनीति का रंग दिखाई देने लगा है। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस के...

मुर्गे लड़ाने का काम करते ये टीवी एंकर

मुर्गे लड़ाने का काम करते ये टीवी एंकर

मीडियावाला.इन। दंगल, थर्ड डिग्री, हल्ला बोल, टक्कर, ताल ठोक के...! ये कोई टीवी डिबेट के नाम हैं? क्या दंगल के नाम पर कोई डिबेट हो सकती है? दंगल होगा तो वहां शक्ति प्रदर्शन ही होगा,...

ट्विटर पर ट्रेंड होने लगा अरेस्ट संबित पात्रा

ट्विटर पर ट्रेंड होने लगा अरेस्ट संबित पात्रा

मीडियावाला.इन। प्रकाश हिंदुस्तानी की खास खबर  नई दिल्ली। कांग्रेस के प्रवक्ता राजीव त्यागी की हार्ट अटैक से मृत्यु होने के बाद...

अनलॉक का मतलब यह नहीं कि आप लापरवाह हो जाएं! कोरोना किसी को छोड़ता नहीं है- चाहे आप राष्ट्रपति हो, प्रधानमंत्री हो, मंत्री हो या मुख्यमंत्री या सुपरस्टार

अनलॉक का मतलब यह नहीं कि आप लापरवाह हो जाएं! कोरोना किसी को छोड़ता नहीं है- चाहे आप राष्ट्रपति हो, प्रधानमंत्री हो, मंत्री हो या मुख्यमंत्री या सुपरस्टार

मीडियावाला.इन। सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करें,  साबुन से हाथ धोए, मुंह पर मास्क बांधे याद रखिए कोरोना किसी को छोड़ता नहीं और लापरवाही बरतने वालों को बिल्कुल नहीं। चाहे आप अमिताभ बच्चन हो...

'गॉन विद द विंड',  हॉलीवुड स्टार ओलिविया डी हैविलैंड नहीं रहीं

'गॉन विद द विंड', हॉलीवुड स्टार ओलिविया डी हैविलैंड नहीं रहीं

मीडियावाला.इन। अलविदा हॉलीवुड की अभिनेत्री ओलिविया डी हैविलैंड ! 'गॉन विद द विंड' की अभिनेत्री, दो बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का ऑस्कर सम्मान पानेवालीं  ओलिविया  डी  हैवीलैंड नहीं रहीं।  वे केवल 104 साल की थीं।  वे हॉलीवुड की...

कांग्रेस की 'अगस्त क्रांति' और भाजपा की!

कांग्रेस की 'अगस्त क्रांति' और भाजपा की!

मीडियावाला.इन। वर्ष 1942 की अगस्त क्रांति के वक़्त दूसरा विश्व युद्ध चल रहा था, कॉंग्रेस ने आज़ादी का बिगुल बजाया। भारत आज़ाद हुआ।  अब कोरोना के ख़िलाफ़ विश्व में युद्ध चल रहा है। भारत आज़ाद...

ट्विटर पर मोदी का जलवा,  छह करोड़ फ़ॉलोअर्स हुए  अमित शाह दूसरे क्रम पर,  राहुल पांचवे स्थान पर

ट्विटर पर मोदी का जलवा, छह करोड़ फ़ॉलोअर्स हुए अमित शाह दूसरे क्रम पर, राहुल पांचवे स्थान पर

मीडियावाला.इन। रविवार 19 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निजी ट्विटर फ़ॉलोअर्स की संख्या छह करोड़ हो गई।  वे भारत में  ट्विटर पर सबसे आगे तो पहले से ही थे, लेकिन उनके बाद दूसरे नंबर पर रहनेवाले अमित शाह...