Tragic Accident: चट्टान धंसने से 4 की मौत, कई अभी भी दबे,इलाके में हड़कंप!

350

Tragic Accident: चट्टान धंसने से 4 की मौत, कई अभी भी दबे,इलाके में हड़कंप!

दंतेवाड़ा: छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के बैलाडीला में एक बड़ा हादसा हुआ है. यहां मौजूद लौह अयस्क (Iron ore) की पहाड़ियों पर खुदाई के दौरान चट्टान धंस गई है. चट्टान के नीचे कई मजदूरों के दबे होने की जानकारी सामने आई है.

वहीं, घटना में 4 मजदूर की मौत हो गई है जिनमें से अभी तक दो शव बरामद कर लिया गए हैं. चट्टान धंसने से उसकी चपेट में एक पोकलेन मशीन भी आ गई है. जानकारी के मुताबिक किरंदुल में मौजूद एनएमडीसी की खदानों में निर्माण कार्य चल रहा था.

पहाड़ खुदाई का काम L&T कंपनी द्वारा करवाया जा रहा था तभी अचानक से यह हादसा हो गया. हादसे के बाद से ही इलाके में हड़कंप मच गया है, बाकी मजदूरों में भी दहशत फैल गई है. फिलहाल, मौके पर सीनियर अधिकारी और एसडीआरएफ की टीमें मौजूद हैं और घटनास्थल पर राहत कार्य शुरू कर दिया है.

बड़ी मशीनों की मदद से हटाया जा रहा मलबा

पूरा मामला किरंदुल थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है. घटना की पुष्टि एसपी गौरव राय ने की है. वहीं, बाकी दबे हुए मजदूरों को बाहर निकालने के लिए बड़ी-बड़ी मशीनें लगाई गई हैं. गिरे हुए मलबे को हटा कर उन्हें बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है. घटनास्थान की कई तस्वीरें भी सामने आई हैं जिसमें देखा जा सकता है कि राहत-बचाव का कार्य तेजी से किया जा रहा है. जेसीबी मशीन के लिए गिरा हुआ मलबा हटाया जा रहा है.

निकाला गया शव

घटना के बाद फिलहाल खुदाई का काम रोक दिया गया है. पहाड़ खुदाई में लगे सभी मजदूर डरे हुए हैं. बता दें कि मलबा हटाने के बाद ही 2 मजदूर का शव अभी निकाले जा चुका हैं. इस मामले की जांच आगे की जा सकती है. बता दें कि किरंदुल की NMDC खदानों से निकल रहे आयरन ओर को कांवर बेल्ट के जरिए ले जाने के लिए 1500 करोड़ रुपए की लागत से, स्क्रिनिंग प्लांट 3 (SP3) का निर्माण करने का ठेका L&T कंपनी को दिया गया है.

कैसे हुई घटना?

कंपनी द्वारा पहाड़ को खोद कर रिटर्निंग वाल का निर्माण करते वक़्त पूरा का पूरा पहाड़ नीचे की और धस गया. पहाड़ की चपेट में आकर रिटर्निंग वाल में काम कर रहे 4 मजदूर दब गए जिसमें दो के शव को निकाल लिया गया है. वहीं अब भी चट्टानों को हटाया जा रहा है. पहाड़ को नीचे से रॉक ब्रेकर से तोड़ा जा रहा था, बगल में मजदूर रिटर्निंग वाल का काम कर रहे थे. चट्टानों में इतना ज्यादा कंपन था कि पहाड़ एकाएक नीचे की और गिरा. हालांकि, रॉक ब्रेकर का जो ड्राइवर था उसने कूदकर अपनी जान बचा ली.