Collective Holiday : मांगों को लेकर तहसीलदार और नायब तहसीलदार 3 दिन काम नहीं करेंगे!

डिजिटल साइन वापस लिए, शासकीय वाहन भी वापस कर दिए!

1586

Collective Holiday : मांगों को लेकर तहसीलदार और नायब तहसीलदार 3 दिन काम नहीं करेंगे!

इंदौर से गोविंद राठौर की रिपोर्ट

Indore : प्रदेश के 1600 से अधिक भू-राजस्व अधिकारी अपनी सालों से लंबित मांगों को लेकर ‘मध्यप्रदेश राजस्व अधिकारी संघ’ के बैनर पर 20 मार्च से 3 दिन के सामूहिक अवकाश पर रहेंगें। 28 फरवरी को संघ ने शासन के सामने निवेदन किया था। लेकिन, आज तक उस पर कोई विचार नहीं किया गया। इसलिए संघ के नाराज सदस्यों ने तीन दिन के लिए सामूहिक अवकाश पर रहकर कार्य से विरत रहने की घोषणा की है।

प्रदेश के सभी राजस्व अधिकारियों ने अपनी मांगों को लेकर शासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। अधिकारियों ने कई मांगे की है, जिनमें राजस्व अधिकारियों की पदोन्नति, नायब तहसीलदार पद को राजपत्रित घोषित करने और राजस्व अधिकारियों की वेतन विसंगतियों को दूर करने की मांग प्रमुख है।

देखिये वीडियो: क्या कह रहे हैं, बजरंग बहादुर सिंह (तहसीलदार)-

इन मांगों को लेकर प्रांतीय संघ ने अनेकों निवेदन पत्र शासन के समक्ष प्रस्तुत किए, लेकिन आज तक इन पर कोई विचार नहीं किया गया। इससे सभी व्यथित और हताश है। 15 मार्च को हुई प्रांतीय कार्यकारिणी की बैठक में सभी ने निर्णय लिया कि प्रदेश के सभी राजस्व अधिकारी तहसीलदार व नायब तहसीलदार 20 मार्च से तीन दिन के लिए सामूहिक अवकाश पर रहते हुए सभी पदीय कर्तव्य से विरत रहेंगे। तीन दिन के अवकाश की यह घोषणा इंदौर में भी की गई।

अवकाश के दौरान सभी ने अपने कार्यालय के डिजिटल साइन, वापस ले लिए और शासकीय वाहन भी वापस कर दिए। इसके साथ सभी प्रशासकीय वॉट्सअप ग्रुप से अलग रहेंगे। इसी को लेकर सभी तहसीलदार और नायब तहसीलदार ने हस्ताक्षर किया पत्र मध्यप्रदेश राजस्व अधिकारी को सौंपा है।