गायत्री शक्तिपीठ पर दो दिवसीय स्थापना दिवस मनाया जाएगा

51 घरों में होंगे यज्ञ, शिखर पर ध्वज और कलश स्थापना होगी

721

झाबुआ से श्याम त्रिवेदी की रिपोर्ट

झाबुआ। गायत्री शक्तिपीठ (बसंत कालोनी) का 21 वाॅ स्थापना दिवस समारोह धुमधाम से मनाया जाएगा। आयोजन दो दिवसीय होगा। पहले दिन 51 परिवारों के घरों में यज्ञ संपन्न किए जाएंगे।

दूसरे दिन शक्तिपीठ पर नवनिर्मित शिखर पर, कलश व ध्वज स्थापना की जाएगी। आयोजन की तैयारियां कार्यकर्ताओं द्वारा की जा रही है।

शक्तिपीठ के प्रमुख ट्रस्टी एसएस पुरोहित ने बताया कि दो दशक पूर्व शक्तिपीठ पर माॅ गायत्री, लक्ष्मीजी , दुर्गाजी की प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा की गई थी।

तब से प्रतिवर्ष स्थापना दिवस के दिन गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ संपन्न करवाए जा रहे है। कोरोना काल के कारण पिछले दो वर्षो से शक्तिपीठ पर ही यज्ञ संपन्न कर स्थापना दिवस मनाया जा रहा था।

शक्तिपीठ के वरिष्ठ कार्यकर्ता श्याम त्रिवेदी ने बताया कि प्रथम दिवस 8 मई रविवार को नगर के 51 परिवारों में एक साथ एक सयम पर वैदिक मंत्रोच्चार के साथ गायत्री यज्ञ संपन्न किए जाएंगे।

यज्ञ करवाने के लिए जोबट, आलीराजुपर, पेटलावद, शक्तिपीठों से यज्ञाचार्य आएंगे।

श्री त्रिवेदी ने बताया कि यज्ञ संपन्न करवाने के लिए कार्यकर्ताओं द्वारा नगर के परिवारों में संपर्क कर पंजीयन किया जा रहा है।

श्री त्रिवेदी ने बताया कि 9 मई को, नवनिर्मित शिखर पर कलश व ध्वज स्थापना की जाएगी। इससे पूर्व प्रातः 6 बजे मंगल प्रभात फैरी निकाली जाएगी।

साढ़े 8 बजे गायत्री यज्ञ होगा। साढ़े 11 बजे कलश व ध्वज स्थापना, पूजा पाठ व वैदिक मंत्रोच्चार के साथ किया जाएगा। इसी दिन शाम साढ़े 7 बजे भजन संध्या, दीपयज्ञ व महाआरती की जावेगी।

शक्तिपीठ के कार्यकर्ता विनोद जायसवाल, दिनेश डांगी, निलेश पुरोहित, अरूण अरोड़ा, दीपक त्रिवेदी, विनोद कुमार चौहान, प्रदीप पंडया, राजेन्द्र वाणी, सरदार सिंह चौहान द्वारा आयोजन की तैयारियां की जा रही है।