भारत ने कनाडाई नागरिकों के लिए Visa किया बंद

565

भारत ने कनाडाई नागरिकों के लिए Visaकिया बंद

          दोनों देशों ने अपने नागरिकों को सतर्कता बरतने की एडवाइजरी जारी की

खालिस्तानी नेता की कनाडा में हुई हत्या का आरोप भारत सरकार पर लगाने के बाद भारत और कनाडा के संबंध लगातार खराब होते जा रहे हैं. दोनों देशों ने अपने नागरिकों को भारत और कनाडा में सतर्कता बरतने की एडवाइजरी जारी की थी. इसके बाद भारत ने कनाडा के नागरिकों के लिए वीजा सेवा पर रोक लगा दी है.

खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मुद्दे पर भारत और कनाडा के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। कनाडा में मौजूद भारत के वीजा एप्लिकेशन सेंटर ने गुरुवार को कनाडा के लोगों के लिए वीजा सेवाएं सस्पेंड कर दीं।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरंदिम बागची ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि कनाडा में हमारे डिप्लोमैटिक यूनिट को धमकियां मिल रही हैं। वे अपना काम नहीं कर पा रहे हैं। यही वजह है कि वीजा सर्विसेज सस्पेंड की गई हैं।विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा- हमें काफी समय से पता है कि पाकिस्तान आतंकवाद का मददगार है और उन्हें पैसे भी देता है। वहीं, कनाडा आतंकियों को रहने और उनके मंसूबों को अंजाम देने की जगह दे रहा है।एक ऑनलाइन वीज़ा आवेदन केंद्र, बीएलएस इंटरनेशनल ने अपने एक नोटिस में कहा है, “भारतीय मिशन ने 21 सितंबर 2023 से, भारतीय वीज़ा सेवाओं को अगली सूचना तक निलंबित कर दिया है.’’

गुरुवार को यह अपडेट पंजाब मूल के एनआईए-वांटेड गैंगस्टर सुक्खा डुनेके की कनाडा के विन्निपेग में गैंगवार में गोली मारकर हुई हत्या करने के बाद आया है. सुखदूल सिंह उर्फ डुनेके कनाडा में खालिस्तान आंदोलन का हिस्सा था. पंजाब में देविंदर बंबीहा गैंग का सहयोगी डुनेके फर्जी दस्तावेजों पर 2017 में कनाडा भाग गया था. बुधवार को उसका नाम राष्ट्रीय जांच एजेंसी द्वारा जारी 43 गैंगस्टरों की सूची में शामिल था, जिसमें उनकी अवैध संपत्तियों के बारे में जानकारी मांगी गई थी.

भारत ने अपने यहां स्थित एक वरिष्ठ कनाडाई राजनयिक को निष्कासित कर दिया था.

विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि संबंधित राजनयिक को आधिकारिक तौर पर अगले पांच दिनों के अंदर भारत से प्रस्थान करने का निर्देश दिया गया है. बयान में कहा गया है, “यह फैसला हमारे आंतरिक मामलों में कनाडाई राजनयिकों के हस्तक्षेप और भारत विरोधी गतिविधियों में उनकी भागीदारी पर भारत सरकार की बढ़ती चिंता के बाद लिया गया है.”  यह फैसला तब आया जब कनाडा ने पहले एक उच्च पदस्थ भारतीय राजनयिक को निष्कासित कर दिया था.

.Red Wine VIDEO: सड़कों पर ‘रेड वाइन’ का सैलाब बहता देख लोग हैरान रह गए ?