Land For Job Scam: छापों में क्या-क्या मिला? ED के खुलासे से राजनीति में आएगा भूचाल!

1270
Land For Job Scam

Land For Job Scam: छापों में क्या-क्या मिला? ED के खुलासे से राजनीति में आएगा भूचाल!

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शनिवार को बताया कि भारतीय रेल के नौकरियों के बदले जमीन घोटाले से जुड़े धन शोधन के मामले में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) प्रमुख लालू प्रसाद के परिवार के खिलाफ छापों में एक करोड़ रुपये की अघोषित नकदी जब्त की है और अपराध के माध्यम से प्राप्त 600 करोड़ रुपये की संपत्ति का पता चला है. केन्द्रीय एजेंसी ने कहा कि लालू प्रसाद के परिवार और उनके सहयोगियों के लिए रियल एस्टेट और अन्य क्षेत्रों में किए गए निवेशों का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है.

सस्ते दाम पर बेची जमीनें

Land For Job Scam

ईडी ने शुक्रवार को लालू प्रसाद के बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के दिल्ली स्थित परिसर सहित परिवार के सदस्यों के विभिन्न परिसरों पर छापा मारा. केन्द्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने हाल ही में इस मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री पति-पत्नी लालू प्रसाद और राबड़ी देवी से पूछताछ की थी. ऐसा आरोप है कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार (United Progressive Alliance) में 2004 से 2009 में लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहते हुए भारतीय रेल में नौकरी के बदले लोगों ने यादव परिवार और उनके सहयोगियों को भूखंड उपहार में दिए हैं या फिर उन्हें जमीनें सस्ते दाम पर बेचा है.

सोने के गहने के साथ अमेरिकी डॉलर भी

अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने तेजस्वी यादव को पूछताछ के लिए शनिवार को बुलाया था लेकिन वह व्यक्तिगत कारणों से उपस्थित नहीं हो सके और नई तारीख देने का अनुरोध किया है. वहीं ईडी ने शनिवार को जारी एक बयान में कहा कि छापों में अघोषित एक करोड़ रुपये नकद, 1,900 अमेरिकी डॉलर सहित विदेशी मुद्रा, सोने के 540 सिक्के, सोने के करीब 1.5 किलोग्राम गहने (जिनकी कीमत 1.25 करोड़ रुपये आंकी गई है) मिले हैं.

600 करोड़ रुपये की संपत्ति की हुई जानकारी

जांच एजेंसी ने कहा कि लालू प्रसाद के परिवार के सदस्यों के नाम वाले विभिन्न संपत्तियों के दस्तावेज, बिक्री दस्तावेज सहित कई दूसरे दस्तावेज और बेनामी संपत्ति के रिकॉर्ड मिले हैं जो अवैध तरीके से अर्जित भूखंड़ों की ओर इशारा करते हैं और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण मिले हैं. केंद्रीय एजेंसी ने कहा कि छापों के दौरान अभी तक अपराध के माध्यम से अर्जित करीब 600 करोड़ रुपये की संपत्ति का पता चला है जो 350 करोड़ रुपये की अचल और 250 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति के रूप में है.

न्यू फ्रेंड्स कालोनी में बंगला किसका?

तेजस्वी यादव का नाम लेते हुए ईडी ने कहा कि दक्षिण दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कालोनी में बना डी-1088 एक चार मंजिला बंगला है जो एबी एक्सपोर्टस प्राइवेट लिमिटेड के नाम से है. इस मामले में कंपनी को ‘लाभार्थी फर्म’ कहा गया है. ईडी ने कहा कि इस कंपनी के मालिक तेजस्वी यादव और उनके परिवार के लोग हैं और वही इसे चलाते हैं और ऐसा दिखाया गया है कि इस मकान को महज चार लाख रुपये में खरीदा गया है जबकि इसकी बाजार में मौजूदा कीमत करीब 150 करोड़ रुपये है.

What claims was made by the wife of Satish Kaushik’s friend-15 करोड़ का झगड़ा, हत्या की थी प्लानिंग /

माधुरी दीक्षित की मां का निधन, आज मुंबई में होगा अंतिम संस्कार