Malawi Vice President Plane Missing:मलावी के उपराष्ट्रपति को ले जा रहा विमान लापता, साथ में सवार थे 9 लोग

143

मलावी के उपराष्ट्रपति को ले जा रहा विमान लापता, साथ में सवार थे 9 लोग

Malawi Vice President Plane missing: मलावी के उपराष्ट्रपति साउलोस चिलिमा को ले जा रहा विमान लापता हो गया है। इस विमान में नौ अन्य लोग भी सवार थे। बताया गया है कि जिस विमान में उपराष्ट्रपति सवार थे, वह मलावी रक्षा बल का विमान था।

सोमवार सुबह सुबह राजधानी लिलोंग्वे से रवाना होने के बाद उनका विमान रडार से गायब हो गया। जानकारी सामने आने के बाद मलावी के राष्ट्रपति कार्यालय ने खोज और बचाव अभियान का आदेश दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उपराष्ट्रपति के विमान को स्थानीय समयानुसार सुबह 10 बजे के बाद देश के उत्तर में स्थित मज़ूज़ू अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरना था। हालांकि, विमान से संपर्क टूट गया, जिसके बाद से बचाव अभियान चलाया जा रहा है। उधर, घटना की जानकारी के बाद मलावी के राष्ट्रपति लाज़रस चकवेरा ने बहामास की अपनी यात्रा रद्द कर दी है। राष्ट्रपति कार्यालय ने कहा है कि पूरी स्थिति साफ़ होने के बाद ही घटनाक्रम के बारे में जनता को जानकारी दी जाएगी।

उपराष्ट्रपति साउलोस चिलिमा को 2022 में भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। उन पर सरकारी अनुबंध देने के बदले में पैसे लेने का आरोप था। हालांकि, पिछले महीने अदालत ने सबूत के अभाव में आरोपों को खारिज कर दिया। रिपोर्ट के अनुसार, उनके विमान के लापता होने का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है। मलावी के सूचना मंत्री मूसा कुंकुयू ने बीबीसी को बताया कि विमान को खोजने के प्रयास जारी हैं। कुंकुयू ने बताया कि जिस हवाई अड्डे पर उन्हें उतरना था वो मज़ुज़ू के उत्तरी भाग में है।

पिछले महीने ईरान के राष्ट्रपति की हुई थी मौत

बता दें, पिछले महीने 20 मई को ऐसे ही हादसे में ईरान के राष्ट्रपति व अन्य अधिकारियों की मौत हुई थी। दरअसल, ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का विमान भी इसी तरह अजरबैजान से वापस लौटते समय गायब हो गया था। उनके हेलिकॉप्टर में विदेश मंत्री हुसैन अमीराब्दुल्लाहियन, ईरान के पूर्वी अजरबैजान प्रांत के गवर्नर और अन्य अधिकारी सवार थे। कई घंटों के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद हेलिकॉप्टर का मलबा मिला था। हादसे में राष्ट्रपति समेत सभी की मौत हो गई थी।

Iranian President’s Death:भारत सरकार ने 21 मई को पूरे देश में एक दिन का राजकीय शोक घोषित किया