भाजपा और कांग्रेस के कई दिग्गज चुनावी मैदान में धराशाही, केंद्रीय मंत्री सहित प्रदेश के 12 मंत्री चुनाव हारे

जानिए सबसे बड़ी और सबसे छोटी जीत

845
MP Assembly Election 2023

भाजपा और कांग्रेस के कई दिग्गज चुनावी मैदान में धराशाही, केंद्रीय मंत्री सहित प्रदेश के 12 मंत्री चुनाव हारे

 

भोपाल: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टी के कई दिग्गज नेता धराशाही हो गए हैं।एक केंद्रीय मंत्री सहित शिवराज मंत्रिमंडल के 12 सदस्य भी चुनाव हार गए हैं। सतना के सांसद गणेश सिंह भी चुनाव हार गए है।

 

कांग्रेस में नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह लहार विधानसभा क्षेत्र से,कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी राऊ विधानसभा क्षेत्र से, कांग्रेस के पूर्व मंत्री तरुण भनोट जबलपुर पश्चिम से, एक और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा सोनकच्छ से,पूर्व मंत्री डॉ विजयलक्ष्मी साधो महेश्वर से,पूर्व मंत्री मुकेश नायक पवई से, दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह चाचौड़ा से अपनी सीट नहीं बचा पाए।

भाजपा के धाकड़ नेता और प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा और कृषि मंत्री कमल पटेल अपनी सीट नहीं बचा पाए। भाजपा के जिन 12 मंत्रियों ने हार का मुंह देखा , उनके नाम इस प्रकार हैं:

 

1 – दतिया से डॉ. नरोत्‍तम मिश्रा

2 – हरदा से कमल पटेल

3 – बमोरी से महेंद्र सिंह सिसौदिया

4 – बड़वानी से प्रेम सिंह पटेल

5 – अटेर से अरविंद सिंह भदौरिया

6 – बदनावर से राजवर्धन सिंह दत्तीगांव

7 – बालाघाट से गौरीशंकर बिसेन

8 – ग्वालियर ग्रामीण से भारत सिंह कुशवाह

9 – अमरपाटन से रामखेलावन पटेल

10 – पारसवाड़ा से राम किशारे नानो कांवरे

11 – पोहरी से सुरेश धाकड़

12 – खरगापुर से राहुल सिंह लोधी

 

*सबसे बड़ी और सबसे छोटी जीत*

प्रदेश में इंदौर दो से भाजपा प्रत्याशी रमेश मेंदोला ने प्रदेश में सबसे ज्यादा 1,07,047 वोट से जीत दर्ज की। शाजापुर के भाजपा उम्मीदवार अरुण भीमावद ने 28 वोट से जीत दर्ज की जो कि प्रदेश में सबसे छोटी जीत है।