मिशन 2023: BJP में तेज हुआ मनुहार का दौर, महाविजय के लिए पुराने को सम्मान, नए को स्थान देगी बीजेपी

571
BJP's Mission-2023: कितनी तोमर की चलेगी, कितना संगठन सक्रिय होगा ?

मिशन 2023: BJP में तेज हुआ मनुहार का दौर, महाविजय के लिए पुराने को सम्मान, नए को स्थान देगी बीजेपी

भोपाल: मिशन 2023 में महाविजय के लिए बीजेपी ने प्रदेश कार्यसमिति में लिए गए संकल्प पर वर्कआउट शुरू कर दिया है। इसमें तय हुआ है कि पार्टी में पुराने नेताओं, कार्यकर्ताओं को सम्मान दिया जाएगा और नए कार्यकर्ताओं को स्थान मिलेगा।

प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के बाद जिलों और मंडलों में पहुंचे बीजेपी के पदाधिकारी अब जिला और मंडल स्तर पर होने वाली प्रदेश कार्यसमिति की बैठकों में इस पर खास ध्यान रखकर काम कर रहे हैं। जिला कार्यसमिति की बैठकों में प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री और जिले से मंत्री या प्रभारी मंत्री उपस्थिति दे रहे हैं।

बीजेपी की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के बाद अब जिलों और मंडल स्तर पर पार्टी के वरिष्ठ और नाराज नेताओं की मनुहार का दौर तेज हो गया है। जिला कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेता पहुंच रहे हैं और स्थानीय स्तर पर संवाद कर ऐसे वरिष्ठ कार्यकर्ताओं से मेल मुलाकात कर रहे हैं जिन्होंने संगठन के लिए अपना खून पसीना बहाया है।

खुद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने तीन दिनों में उमरिया, शहडोल, अनूपपुर,कटनी और पन्ना  जिलों में कार्यसमिति की बैठकों में हिस्सा लिया और वहां के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर उनका शाल-श्रीफल से सम्मान किया है।   इसके अलावा अन्य जिलों में भी यही स्थिति है।

Lokayukta issued Warrant Against ACS: लोकायुक्त ने 1991 बैच के IAS अधिकारी के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया

*सभी 1078 मंडलों में 23 तक होना है कार्यसमिति*
केंद्रीय नेतृत्व के फैसले के मुताबिक सभी 1078 मंडलों में 23 मई तक मंडल कार्यसमिति की बैठकें भी होना है। इसलिए कई जिलों में जिला कार्यसमिति की बैठक के साथ मंडल की भी बैठकें हो रही हैं। बताया जाता है कि केंद्रीय नेतृत्व ने 30 मई से 30 जून के बीच बीजेपी शासित राज्यों में किसी तरह के शासकीय कार्यक्रम नहीं रखने को भी कहा है। इस दौरान केंद्रीय नेतृत्व के कार्यक्रम पर ही पार्टी और सरकार का फोकस रहेगा।

*सभी नेताओं ने की थी वकालत, सीएम ने भी कहा था*
प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में यह मुद्दा इसलिए भी तेजी से उठा था क्योंकि केंद्रीय नेतृत्व ने भी 30 मई से 30 जून तक एक माह के अभियान में वरिष्ठ नेताओं को तवज्जो देने के लिए उनसे मुलाकात के कार्यक्रम तय करने के निर्देश दिए हैं। इसीलिए बैठक में अधिकांश पदाधिकारियों ने वरिष्ठ और असंतुष्ट नेताओं से मुलाकात और संवाद पर जोर दिया था। खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस बैठक में साफ कहा था कि पार्टी में पुरानों को सम्मान, नयों को स्थान मिलना चाहिए। उन्होंने इसके लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को प्रवास करने, वाणी में शीतलता रखने और लक्ष्य प्राप्ति के लिए पूरी ताकत लगाने का भी संकल्प कराया था। सीएम चौहान ने कहा था कि मान सम्मान भाजपा परिवार की पहचान है। तंग दिल संबंध खराब करते हैं, दिल में दरार पैदा करते हैं जबकि खुले दिल से सब कुछ अच्छा होता है। इसलिये सब भूलकर एकत्रित हो जाएं और संकल्प लेकर पार्टी की महा विजय के लिए काम करें।