MP Weather : मध्यप्रदेश में आसमान से बरस रही आग, राजगढ़ में रिकॉर्ड टूटा

पचमढ़ी के अलावा पूरे प्रदेश में तापमान 40 से ऊपर, निमाड़ में भीषण गर्मी

746

Bhopal : मध्यप्रदेश में इन दिनों गर्मी कहर ढा रही है। अप्रैल के आखिरी सप्ताह में तापमान इतनी ज्यादा गर्मी 67 साल पहले पड़ी थी। इस बार की गर्मी ने उस रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया। बढ़ते तापमान से सभी परेशान है। इस कारण कई इलाके पानी की समस्या में आ गए। स्वास्थ्य विभाग ने एडवाइजरी जारी करते हुए लोगों से घर में रहने की सलाह दी है। 2 मई के बाद गर्मी से राहत मिलने का अनुमान लगाया जा रहा है।

मौसम विभाग पहले ही चेतावनी जारी कर चुका है। इस बार गर्मी 3 महीने पड़ेगी, लेकिन इतनी गर्मी होगी इस बात का उम्मीद नहीं की गई थी। मौसम विभाग के अनुसार अगले सोमवार तक प्रदेश में तापमान 44 से 45 डिग्री के आसपास बना रहेगा। उसके बाद तापमान में एक से 2 डिग्री की गिरावट हो सकती है।

मध्य प्रदेश में लगातार गर्मी बढ़ती जा रही है। गर्मी के कहर से लोग त्राहिमाम त्राहिमाम कर रहे हैं। गर्मी इतनी भीषण हो गई है कि लोग घर से बाहर भी नहीं निकल पा रहे हैं। मध्य प्रदेश में लू की वजह से लोगों की हालत खराब है। ऐसे में मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। अप्रैल के आखिरी सप्ताह में तापमान बढ़ गया है। ग्वालियर में शुक्रवार को अधिकतम तापमान 45.1 डिग्री ​सेल्सियस दर्ज किया गया। लगातार प्रदेश में बढ़ते तापमान से लोग काफी परेशान हो रहे हैं लू के थपेड़ों ने लोगों को झुलसा दिया है।

सबसे गर्म राजगढ़

राजगढ़ देश के टॉप गर्म शहरों में शामिल हो गया। राजगढ़ में पारा 45.7 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विशेषज्ञ डॉ राजेंद्र गुप्त के मुताबिक आने वाले कुछ दिनों तक गर्मी का कहर ऐसा ही देखने को मिलेगा। अमूमन ठंडा रहने वाले मालवा क्षेत्र में भी गर्मी ने इस बार रिकॉर्ड तोड़ दिया। भोपाल में पारा 43 डिग्री से ऊपर तक पहुंच गया। जबकि रतलाम, खंडवा, उज्जैन में 41 डिग्री से ज्यादा तापमान दर्ज हुआ। मध्यप्रदेश में पड़ रही भीषण गर्मी के बीच अगले महीने से गर्मी के तेवर और सख्त होने वाले हैं। प्रदेश में अप्रैल के अंत तक ही अधिकतम तापमान 46 के करीब पहुंच गया है। देश के टॉप 5 गर्म शहरों में मध्यप्रदेश के तीन शहर आ गए है। मध्यप्रदेश का राजगढ़ 45.7 डिग्री तापमान के साथ दूसरे नंबर पर रहा। खजुराहो और नौगांव में 45.6-45.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है।

अगले सोमवार तक 45 डिग्री तापमान

दिन के समय में अगर देखा जाए तो सड़कों पर लोग नजर नहीं आ रहा है ।बढ़ते तापमान और सूरज के ताप की वजह से लोग घर से बाहर निकलने में भी परहेज कर रहे हैं। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने भी एडवाइजरी जारी करते हुए लोगों को गर्मी से बचने की सलाह दी है। इसके साथ ही लोगों से पेय पदार्थों का सेवन करने की सलाह दी हैं

2 मई के बाद थोड़ी राहत की उम्मीद

मौसम विभाग और स्वास्थ्य विभाग अब बढ़ते तापमान की वजह से चिंता में हैं। प्रदेश के पचमढ़ी को छोड़कर सभी जिलों में अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस से ऊपर निकल गया है। कई जिलों में लू का कहर देखा जा रहा है। लेकिन, 2 मई के बाद उससे राहत मिलने की संभावना है।

येलो अलर्ट जारी

गर्मी को देखते हुए मौसम विभाग ने प्रदेश के कई शहरों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। राजस्थान से आ रही गर्म हवाओं की वजह से मध्य प्रदेश के कई शहर लू की चपेट में आ गए। राजगढ़, रतलाम, छतरपुर, भोपाल, खंडवा, खरगोन, दमोह, उज्जैन, इंदौर, भोपाल, ग्वालियर में रिकॉर्ड तोड़ गर्मी दर्ज की गई है।