भारतीय वायुसेना में शामिल होंगे 83 एडवांस तेजस विमान, सरकार ने 48,000 करोड़ की डील को दी मंजूरी

भारतीय वायुसेना में शामिल होंगे 83 एडवांस तेजस विमान, सरकार ने 48,000 करोड़ की डील को दी मंजूरी

मीडियावाला.इन।

भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) के बेड़े में जल्द ही 83 एडवांस तेजस विमान शामिल होंगे। सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति (Cabinet Committee on Security, CCS) ने बुधवार को वायुसेना में 83 हल्के तेजस लड़ाकू विमानों (83 Light Combat Aircraft Tejas) की एंट्री का रास्ता साफ कर दिया। हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (Hindustan Aeronautics Limited, HAL) द्वारा बनाए गए इन विमानों के लिए 48,000 करोड़ रुपए की डील की गई है। ये भारत की अब तक की सबसे बड़ी स्वदेशी रक्षा खरीद है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में भारतीय वायुसेना के लिए 73 हल्के लड़ाकू विमान तेजस Mk-1A (Mark 1A version) तथा 10 तेजस Mk-1 ट्रेनर विमानों की खरीद को मंजूरी दे दी गई। इसमें 48,000 करोड़ रुपये का खर्च आएगा जिसमें इसके लिए इंफ्रास्ट्रक्चर के डिजाइन और विकास में होने वाला खर्च भी शामिल है।

इस डील पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि वायुसेना की मजबूती के लिए ये फैसला लिया गया है। सिंह ने ये डील रक्षा क्षेत्र में गेमचेंजर साबित होगी। रक्षा मंत्री ने ट्वीट कर इसकी जानकारी देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता वाली CCS ने आज ऐतिहासिक रूप से सबसे बड़ी स्वदेशी रक्षा डील अनुमोदित कर दी है। ये डील 48 हजार करोड़ रुपए की है। इससे हमारी वायुसेना के बेड़े की ताकत स्वदेशी LCA तेजस के जरिए मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि भारत की डिफेंस मैन्यूफैक्चरिंग के लिए ये डील गेम चेंजर साबित होगी।

सिंह ने आगे लिखा कि तेजस विमान आगामी सालों में भारतीय वायुसेना के लिए बैकबोन साबित होने जा रहे हैं। हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने अपनी सेकंड लाइन मैन्यूफैक्चरिंग सेटअप की शुरुआत नाशिक और बेंगलुरु डिविजन में शुरू कर दी है। ये डील पहले की गई 40 लड़ाकू विमानों की डील से अलग है। ये विमान अगले छह से सात सालों में देश की वायुसेना में शामिल किए जाएंगे। बता दें कि तेजस हवा से हवा में और हवा से जमीन पर मिसाइल दाग सकता है। इसमें एंटीशिप मिसाइल, बम और रॉकेट भी लगाए जा सकते हैं।

0 comments      

Add Comment