अब फुल फॉर्म में आना है, MP में जन कल्याण और सुराज अभियान चलाया जाएगा- CM शिवराज

कमिश्नर, कलेक्टर, IG,SP कॉन्फ्रेंस शुरू

103
Khandwa By-Election
Khandwa By-Election

 

 

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कलेक्टर कमिश्नर IG SP कॉन्फ्रेंस शुरू होने के पहले इन अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि अब फुल फॉर्म में आने की आवश्यकता है। Corona को पूरी तरह नियंत्रण करने के बाद में अब हमें बाकी विषयों पर ध्यान देने की जरूरत है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आगामी 7 अक्टूबर को शासन के हेड (मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री) के रूप में 20 साल पूरे हो रहे हैं। हम इस अवसर पर मध्य प्रदेश में जन कल्याण और सुराज अभियान चलाएंगे।
इसके अंतर्गत अलग-अलग जिलों में अलग-अलग विभागों में विकास के इनोवेटिव कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। सुराज को लेकर 7 अक्टूबर को एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।
सीएम ने स्पष्ट कहा कि सुराज का मतलब यह होता है कि समयसीमा में गुणवत्ता के साथ काम हो। अब घटिया काम बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हर काम समय सीमा में पूरा किया जाए। जनसुनवाई कलेक्टर कमिश्नर के साथ ही अन्य अधिकारी भी करेंगे और जनता की शिकायत का मौके पर ही निराकरण करेंगे। इसकी लगातार मॉनिटरिंग भोपाल से भी की जाएगी। हम सुराज से जुड़े अन्य विषयों समाधान एक दिन और अन्य कार्य भी शुरू करने जा रहे हैं।
सीएम शिवराज ने कहा कि मध्य प्रदेश में 27 सितंबर तक कोरोना रोकथाम के लिए पहले डोज का कार्य जिलों में पूरा हो जाना चाहिए। अगर लोग नहीं मिल रहे हैं तो उसका एक सिस्टम बना लें और उन्हें ढूंढने की कोशिश करें। इसके लिए डोर टू डोर संपर्क भी करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार को किसी भी हालत में सहन नहीं किया जाएगा। करप्शन के मामले में मध्य प्रदेश में जीरो टोलरेंस पॉलिसी है। मध्य प्रदेश को सुराज के मामले में पूरे देश में मॉडल बना कर खड़ा किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने शहडोल संभाग के शहडोल और अनूपपुर जिले की तारीफ करते हुए कहा कि वहां पर वनों के प्रबंधन को लेकर बहुत अच्छा काम हुआ है। इसी प्रकार उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण कार्यों में तेजी आई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि बड़े कार्यों की मॉनिटरिंग कलेक्टर खुद करें।
इस मौके पर सीएम शिवराज ने चंबल और ग्वालियर प्रशासन और पुलिस की तारीफ करते हुए कहा कि तत्परता पूर्ण किए गए कार्य से 32000 लोग सुरक्षित निकाले गए और जनहानि होने से बचाया गया।