जेल में बैठकर बंदी ने Online Gambling से साउथ कोरिया, सऊदी अरब और कैलिफोर्निया से कमाए करोड़ों रुपए

768

जेल में बैठकर बंदी ने Online Gambling से साउथ कोरिया, सऊदी अरब और कैलिफोर्निया से कमाए करोड़ों रुपए

भोपाल:उज्जैन की जेल में बंद एक बंदी ने यहां के एक अफसर का लैपटॉप इस्तेमाल कर आॅनलाइन गैम्बलिंग और बिटकॉइन डार्कनेट के जरिए साउथ कोरिया, सऊदी अरब और कैलिफोर्निया से करोड़ो रुपए कमा लिये। इसका खुलासा होने के बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया और बंदी को आनन-फानन में भैरुगढ़ जेल से भोपाल के केंद्रीय जेल में शिफ्ट किया गया। इस मामले में राज्य सायबर पुलिस थाने में भी शिकायत दर्ज कराई गई है।

download 2 2

शिकायत पर संदेहियों से भी पूछताछ की तैयारी की जा रही है। इसमें जेल प्रशासन के कुछ अफसर और प्रहरियों की भूमिका भी संदिग्ध मानी जा रही है।

online gambling गोरखधंधे का खुलासा

सूत्रों की मानी जाए तो उज्जैन के भैरुगढ़ जेल के अंदर से बिटकॉइन डार्कनेट और इंटरनेट गैम्बलिंग के जरिए कुछ लोगों के खातें में करोड़ो रुपए आने के बाद इस गोरखधंधे का खुलासा हुआ। इसके बाद सायबर पुलिस को शिकायत की गई। सायबर पुलिस ने शिकायत के आधार पर अज्ञात लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है।

Online Gambling

सूत्रों के मुताबिक इस मामले में संदेही अमर आनंद अग्रवाल को माना जा रहा है। महाराष्ट्र का रहने वाला अमर आंनद अग्रवाल 15 फरवरी 2018 से धोखाधड़ी के एक मामले में उज्जैन के भैरुगढ़ जेल में बंद है।

Rewa Lokayukt Trap : गोविंदगढ़ के TI और SI को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते पकड़ा

कम्प्यूटर के खासा जानकार अग्रवाल की दोस्ती जेल के अफसरों से हो गई और उसने यहां पर लेपटॉप का उपयोग शुरू कर दिया। ऐसा माना जा रहा है कि इसने इसी दौरान यह गोरखधंधा शुरू कर दिया। इस मामले के सामने आने के बाद 6 नवम्बर को अग्रवाल को भोपाल केंद्रीय जेल में शिफ्ट कर दिया गया।
अब सायबर पुलिस संदेही से पूछताछ करने के लिए न्यायालय जा रही है, यहां से अनुमति मिलने के बाद उससे पूछताछ की जाएगी।
राज्य सायबर पुलिस के ADG योगेश देशमुख के अनुसार
इस संबंध में एक एफआईआर की गई है। इसमें संदेही न्यायिक अभिरक्षा में हैं। इसलिए पूछताछ करने के लिए न्यायालय से अनुमति ली जा रही है। कुछ और भी संदिग्ध माने जा रहे हैं। जांच के बाद ही पूरी स्थिति स्पष्ट हो सकती है।