Rumor of Paper Leak : आयोग ने कहा ‘MPPSC की परीक्षा टलने और पेपर लीक की खबरें आधारहीन!’

सोशल मीडिया पर प्रीलिम्स पेपर खरीदी और ढाई हजार में बिकने के मैसेज चले!

455

Rumor of Paper Leak : आयोग ने कहा ‘MPPSC की परीक्षा टलने और पेपर लीक की खबरें आधारहीन!’

Indore : सोशल मीडिया पर MPPSC प्रीलिम्स का एक पेपर लीक होने और ढाई हजार में बिक़ने की खबरे तेजी से फैली। ‘टेलीग्राम’ प्लेटफार्म पर पेपर लीक हो जाने की इन खबरों को मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग ने अफवाह बताया और कहा कि रविवार को परीक्षा तय समय पर होगी।

राज्यभर में मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग (एमपीपीएसी) की राज्य प्रशासनिक सेवा की परीक्षा का पेपर लीक होने का मामला चर्चा में है। इसके कारण परीक्षा टलने की भी खबरेें भी उड़ रहीं हैं। अब इन दोनों मुद्दों पर आयोग का आधिकारिक बयान सामने आया।

23 जून रविवार को एमपीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा है। 110 पदों के लिए हो रही, इस परीक्षा के एक दिन पहले पेपर लीक हो जाने की बात सामने आई। आयोग ने इसे भ्रामक बताते हुए कहा कि एमपीपीएससी की परीक्षा तय तारीख और समय पर होगी। आयोग का कहना है कि एमपीपीएससी की परीक्षा की गोपनीयता और शुचिता के संबंध में जो खबरें चल रहीं हैं, वे सरासर आधारहीन हैं। सोशल मीडिया पर वायरल पेपर एमपीपीएससी का बताकर 100% सटीक होने का दावा किया जा रहा है। इसे ढाई हजार रुपए में बेचा भी जा रहा है। सोशल मीडिया पर स्क्रीनशॉट भी वायरल हो रहे हैं।

IMG 20240622 WA0072

पेपर लीक होने की बात अफवाह

पेपर लीक होने और इसकी खरीदी-बिक्री की बात के साथ ही परीक्षा टलने की भी अफवाहें चल रहीं हैं। इस बात की जानकारी लगने के बाद मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग के सचिव ओएसडी रविन्द्र पंचभाई ने आधिकारिक बयान जारी कर कहा कि कुछ प्रचार माध्यमों में भ्रामक और निराधार खबरें प्रसारित की जा रही हैं। इन खबरों को संज्ञान में न लें। एमपीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा निर्धारित तारीख और तय समय पर आयोजित होगी। इसके साथ ही आयोग ने भ्रामक जानकारी को शेयर करने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

रविवार को एमपीपीएससी राज्य सेवा की प्रारंभिक परीक्षा है। परीक्षा दो सत्रों में आयोजित होगी। पहला पेपर सुबह 10 बजे से 12 बजे तक और दूसरा पेपर 2.15 बजे से 5.15 बजे तक होगा। इस परीक्षा में पौने दो लाख से ज्यादा अभ्यर्थी शामिल होंगे। कुल 110 पदों के लिए परीक्षा ली जाएगी जिसमें 15 डिप्टी कलेक्टर, 22 डीएसपी, 10 पद वाणिज्यिक कर निरीक्षक और 7 पद अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त के पद शामिल हैं।