ससुर को पीठ पर लेकर 2 किमी तक चली बहू, फोटो वायरल हुआ तो कही ये झकझोरने वाली बात

ससुर को पीठ पर लेकर 2 किमी तक चली बहू, फोटो वायरल हुआ तो कही ये झकझोरने वाली बात

मीडियावाला.इन।

नई दिल्ली। कोरोना पॉजिटिव ससुर को पीठ पर लेकर दो किमी तक पैदल चलने वाली निहारिका ने कहा कि वो बिल्कुल अकेली थी। ससुर को पीठ पर लेकर चलती रही क्योंकि मजबूर थी पर लोग फोटो खींचते रहे, मदद के लिए नहीं आए।

निहारिका ने बहुत संघर्ष किया पर अपने ससुर को बचा नहीं पाई। बेटा के घर में मौजूद नहीं रहने पर बहू ने जो मिसाल कायम की है उसे अब हरकोई सलाम कर रहा है। फोटो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया में निहारिका को लोग आदर्श बहू बता रहे हैं।

दरअसल असम के नगांव की रहने वाली 24 साल की निहारिका दास के ससुर की 2 जून को तबियत खराब हो गई। निहारिका को ससुर को लेकर 2 किमी दूर राहा के स्वास्थ्य केंद्र तक जाना था। इसके लिए उन्होंने रिक्शे का इंतजाम किया पर घर तक रिक्शा पहुंच पाना मुश्किल था। रोड काफी खराब थी। ऐसे में निहारिका ससुर को पीठ पर लेकर निकल पड़ीं और रिक्शे तक गईं। यहां से राहा सवास्थ्य केंद्र पहुंची।

 

 

वहां उन्हें बताया गया कि उनके ससुर और उनको कोरोना है। ससुर की हालत ठीक नहीं है। उन्हें 21 किमी दूर नगांव के कोविड हॉस्पिटल ले जाना पड़ेगा। यहां से एंबुलेंस या स्ट्रेचर कुछ नहीं मिला। उन्होंने बड़ी मुश्किल से एक कार रिजर्व की। कार तक ससुर को पीठ पर लेकर गईं।

वहां से नगांव पहुंचने के बाद अस्पताल की सीढ़ियां चढ़नी पड़ीं वो भी ससुर को पीठ पर लेकर। ससुर लगभग बेहोश थे। निहारिका खुद कोरोना पॉजिटिव थीं और सुसर को पीठ पर लेकर काफी चल चुकी थीं। उनसे सीढ़ियां नहीं चढ़ा जा रहा था।

लोगों से मदद मांगी पर नहीं मिली। लोग वीडियो और फोटो बनाते रहे। दोनों को 5 जून को दोनों को गुवाहाटी के मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया गया था, जहां सोमवार को थुलेश्वर दास का निधन हो गया। निहारिका का 6 साल का बेटा है जिसे घर पर अकेले छोड़कर आई थीं। पति गुवाहाटी में थे।

News24

0 comments      

Add Comment