मंदसौर जिले के सुवासरा में उज्जैनी नहीं मनाने पर 1100 रुपये जुर्माने का फरमान ,नगर परिषद अध्यक्ष ने सूचना जारी की, सुवासरा नगर बंद

मंदसौर जिले के सुवासरा में उज्जैनी नहीं मनाने पर 1100 रुपये जुर्माने का फरमान ,नगर परिषद अध्यक्ष ने सूचना जारी की, सुवासरा नगर बंद

मीडियावाला.इन।

डॉ. घनश्याम बटवाल, मंदसौर विशेष खबर 

मंदसौर जिले के प्रमुख कस्बे सुवासरा में आज 24 जुलाई को नगर के समस्त बाज़ार पूरी तरह बंद हैं । चाय - पानी , सब्जियां , किराना , होटल , पान - गुटका अन्य सामानों की दुकानें , व्यापारिक संस्थान बंद हैं और जरूरत मन्द तथा तलबगार भटक रहे हैं ।

अंचल में कमवर्षा के चलते , खड़ी फसलों और पेयजल समस्या को ध्यान में रखकर नगर परिषद अध्यक्ष मगनलाल सूर्यवंशी ने एक फरमान अधिकृत रूप से जारी किया । जिसमें कहा गया है कि समस्त नगरवासी सामुहिक टोटका उज्जैनी मनायें , बाज़ार बंद रखें , घरों से बाहर भोजन बनायें , भजन कीर्तन करते हुए इन्द्रदेव को मनायें ।

नगर परिषद अध्यक्ष ने इस फरमान का पालन नहीं करने वालों पर 1100 रुपये जुर्माने का प्रावधान किया है ।

अध्यक्ष का पत्र सार्वजनिक किया जाने से तरह - तरह की चर्चाएं चल पड़ी हैं ।

क्षेत्र के नागरिकों ने आपत्ति व्यक्त की है कि उज्जैनी में शामिल नहीं होने पर परिषद द्वारा जुर्माना कतई उचित नहीं है । प्रदेश में अपनी तरह का यह विलक्षण फरमान है ।

इधर सुवासरा के ही कुछ लोगों का मानना है कि उज्जैनी मनाना तो ठीक है परंतु परिषद को तत्काल और दूरगामी उपाय अपनाना चाहिए । पौधरोपण , जल संवर्धन - जलस्रोतों के सरंक्षण , आदि काम करना चाहिए । टोटकों से वर्षा होना आधुनिक समय में नगर परिषद और अध्यक्ष की मानसिकता दर्शाता है ।

बहरहाल सुवासरा नगर 1100 रुपये जुर्माने के डर से पूरी तरह बंद है , परन्तु नागरिकों के मन में फ़रमान के प्रति रोष है और निजी बातचीत में तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं ।

जिले के सुवासरा - शामगढ़ क्षेत्र में अब तक 230 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है जो मंदसौर जिले में सबसे कम है । गत वर्ष 24 जुलाई तक 438 मिलीमीटर वर्षा हुई थी ।

 

परिषद अध्यक्ष सूर्यवंशी से जुर्माना पर पूछा गया तो उनका कहना है कि कम वर्षा से त्रासदी पूर्ण स्थिति हो रही है , जुर्माना के बारे में सभी समाजजनों से चर्चा के बाद सूचना जारी की है

 

 

 

 

 

0 comments      

Add Comment