MP: शराब की होम डिलीवरी शुरू भी नहीं हुई, उससे पहले एक्टिव हुए साइबर ठग, पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

MP: शराब की होम डिलीवरी शुरू भी नहीं हुई, उससे पहले एक्टिव हुए साइबर ठग, पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

मीडियावाला.इन।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन है. लिहाजा शराब की दुकानें भी बंद हैं. शराब की दुकानें बंद होने के चलते साइबर ठग भी एक्टिव हो गए हैं. ऐसे में शराब की होम डिलीवरी के नाम पर लोगों को ठगा भी जा रहा है. इसे ध्यान में रखते हुए साइबर सेल ने एक एडवाइजरी जारी की है.

दरअसल, मध्यप्रदेश में करीब एक महीने से लॉकडाउन है. इस दौरान सभी शराब की दुकानें भी बंद हैं. शराब के शौकीन जुगाड़ से शराब की लत पूरी करने की जुगत में हैं और इसी का फायदा अब साइबर ठग उठा रहे हैं.

मध्यप्रदेश में अभी शराब की ऑनलाइन बिक्री की मंजूरी तो नहीं मिली है लेकिन साइबर ठगों ने सोशल मीडिया साइट्स पर ऑनलाइन शराब खरीदने और होम डिलीवरी का मैसेज भेजकर ठगना शुरू कर दिया है. भोपाल पुलिस की साइबर क्राइम यूनिट को ऐसी शिकायतें मिली हैं.
 

ऐसे सामने आया मामला

दरअसल, भोपाल के रहने वाले एक शख्स को उनके मोबाइल पर शराब की होम डिलीवरी का मैसेज आया था. मैसेज में दिए नंबर पर जब कॉल किया तो उन्हें बीयर की कैरेट के एवज में तय राशि का आधा पैसा एडवांस में ऑनलाइन करवा लिया और कहा गया कि डिलीवरी के समय आधा पैसा दे देना. एडवांस जमा कराने के बाद भी जब काफी देर तक डिलीवरी नहीं हुई तो उसी नंबर पर दोबारा कॉल किया गया तो नंबर बंद मिला. इसके 2 दिन बाद पीड़ित ने पुलिस से शिकायत की. सायबर क्राइम यूनिट ने फिलहाल शिकायत दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. इसके बाद साइबर सेल की तरफ से एक एडवाइजरी भी जारी की गई है.

साइबर सेल ने जारी की एडवाइजरी

कोरोना काल में ऑनलाइन शराब बिक्री के नाम पर होने वाली ठगी से बचने के लिए भोपाल साइबर क्राइम यूनिट ने एडवाइजरी जारी की है. इसमें लिखा है...

- सस्ते या लुभावने ऑफर में ना आएं.
- अज्ञात व्यक्ति द्वारा भेजी गई लिंक ना खोलें.
- किसी भी तरह के ऑनलाइन फॉर्म को भरने से पहले उसकी सत्यता की जांच कर लें.
- मध्यप्रदेश में फिलहाल ऑनलाइन लिकर डिलीवरी की मंजूरी नहीं है इसलिए प्रलोभन में ना आएं.

बता दें कि मध्यप्रदेश में भले ही अभी ऑनलाइन शराब बिक्री शुरू नहीं हुई है, लेकिन पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ में कुछ दिन पहले ही ऑनलाइन शराब बिक्री शुरू हो चुकी है और इसका फायदा अब मध्यप्रदेश में साइबर ठग उठाने में लगे हैं.

आज तक

 

0 comments      

Add Comment