Story of Buried Treasure : गड़ा खजाना निकालने के लिए बेदाग लड़की की तलाश पूरी नहीं हुई!

रंगीन मिजाज पीएसी इंस्पेक्टर को उनकी पत्नी ने ही अपने भाई से मरवा दिया!

806

Story of Buried Treasure : गड़ा खजाना निकालने के लिए बेदाग लड़की की तलाश पूरी नहीं हुई!

Lucknow : गड़े खजाने की खोज में एक पीएसी इंस्पेक्टर सतीश कुमार सिंह इतना पागलपन करने लगा था कि वह लोगों की आंख में आ गया था। गड़े खजाने की तलाश में एक तांत्रिक के कहने पर ऐसी लड़की खोज रहा था, जिसके शरीर पर कोई दाग न हो। इस युवती का इस्तेमाल तंत्र-मंत्र के लिए करना चाहता था। इसके लिए उसने दलाल को भी लगा रखा था, लेकिन मकसद पूरा होने से पहले ही पीएसी इंस्पेक्टर की हत्या हो गई। यह हत्या भी पत्नी ने अपने भाई से ही करवाई। क्योंकि, वो पति कि रंगीन मिजाजी से परेशान थी।

पीएसी इंस्पेक्टर फतेहपुर के तांत्रिक से आए दिन मिलने जाता था। तांत्रिक ने इंस्पेक्टर से गड़ा हुआ खजाना मिलने की बात कही थी। इसी के चलते आए दिन वह तंत्र-मंत्र करने जाता था। तांत्रिक ने उसे बिना दाग वाली किसी लड़की (जिसके शरीर पर कोई टैटू या चोट के निशान न हों) को लाने के लिए कहा था, जिस पर तंत्र-मंत्र कर खजाने को निकाला जाए।

बेदाग लड़कियों को ड्यूटी पर भी
वह बेदाग लड़कियों की तलाश में इतना पागलपन करने लगा था कि घर के साथ ड्यूटी पर भी ऐसी लड़कियों को खोजकर बुलवाने लगा था। उनके साथ वीडियो बनाता था, फिर तांत्रिक को भेजता था। काफी कोशिश के बाद भी न मिलने पर उसने एक दलाल से ऐसी लड़की ढूंढ़ने के लिए लगाया। इसकी जानकारी राज्य संपत्ति विभाग में तैनात एक दोस्त के साथ उसकी प्रेमिका को भी थी।

एक बेदाग लड़की मिली, पर तांत्रिक नहीं आया
इंस्पेक्टर ने प्रेमिका की मदद से एक लड़की को बुलाया था और उसे अपनी बातों में फंसाकर हिस्सा देने की बात भी कही। लड़की तंत्र-मंत्र के लिए फतेहपुर जाने के लिए तैयार हो गई। वह लड़की को लेकर पहुंचा, काफी देर तक रुका, लेकिन तांत्रिक नहीं आया। इसके बाद सभी वापस लौट आए। उसने लड़की को दोबारा फतेहपुर चलने के लिए कहा तो उसने इनकार कर दिया।

जांच के दौरान सामने आया कि इंस्पेक्टर जब लड़की को लेकर घर आता, तो उस दोस्त को भी बुलाता और पत्नी को उसके साथ सोने के लिए कहता था। वह विरोध करती थी, तो उसकी पिटाई करता था। पत्नी ने कभी उसकी बात नहीं मानी। लेकिन, उसकी खजाना मिलने की चाहत अधूरी रह गई जब एक दिन इंस्पेक्टर की हत्या हो गई।

रंगीन मिजाज पति की हत्या साले ने की
पीएसी इंस्पेक्टर सतीश कुमार सिंह की हत्या की साजिश उसकी पत्नी भावना ने ही रची और अपने भाई देवेंद्र वर्मा के साथ मिलकर उसे मरवा दिया। भावना गाड़ी में बैठी देखती रही और देवेंद्र ने अपने जीजा को गोलियों से भून दिया था। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए इंस्पेक्टर की पत्नी भावना और साले देवेंद्र वर्मा को गिरफ्तार किया है। आरोपी भाई-बहन का कहना है कि सतीश रंगीन मिजाज थे। उनके कई महिलाओं से अवैध संबंध थे। वह समझाने पर भी नहीं माने तो ठिकाने लगाना पड़ा।