भोपाल में ₹1लाख की रिश्वत लेते सुपरिंटेंडेंट इंजीनियर पकड़ाया

376

 

भोपाल: लोकायुक्त पुलिस ने आज सतपुड़ा भवन स्थित कार्यालय में विद्युत सुरक्षा विभाग में सुपरिंटेंडेंट इंजीनियर अजय प्रताप सिंह जादौन को ₹1लाख की रिश्वत लेते पकड़ा।

इस संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार आवेदिका सुश्री अस्मिता पाठक निवासी 606 टॉवर ग्लोबल हाइट्स सोसायटी सोहना रोड गुड़गांव द्वारा पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल को दो दिन पहले 20 सितंबर को शिकायत की गई थी कि वह दर्श रिन्युअल प्रा लिमि के लिये ऊर्जा सलाहकार का कार्य करती है।
कंपनी का सिंगरौली में 25 मेगावाट सौर ऊर्जा प्रोजेक्ट के चार्जिंग एवं विद्युत ठेकेदारी लायसेंस की स्वीकृति के लिये SE जादौन द्वारा 15 लाख रुपये की मांग की गई थी।

लोकायुक्त पुलिस द्वारा आवेदक की शिकायत पर सत्यापन कार्यवाही की गई जिसमे आवेदक की शिकायत सही पाई गई ।
आवेदक के पैसे कम करने का बोलने पर SE अजय प्रताप सिंह जादौन के द्वारा प्रथम क़िस्त एक लाख रुपए की रिश्वत देने का आवेदक को कहा गया। आवेदिका अस्मिता पाठक आज सुबह रिश्वत देने के लिए एक लाख रुपए लेकर SE के विरुद्ध कार्यवाही कराने लोकायुक्त कार्यालय उपस्थित हुईं ।
कार्यवाही के अनुक्रम में आज 22 सितंबर को लगभग 03:00 बजे सतपुड़ा भवन तीसरे तल पर आरोपी के कक्ष पहुंची में आरोपी ने कार्यालयीन समय उपरांत गाड़ी क्र MP09 CZ 1337 पर पार्किंग में साथ चलने तक रोक फिर गाड़ी में रखे काले बैग में 100000 रुपए रिश्वत राशि रखवाये और बाहर घूमता रहा।
जैसे ही अंदर बैठकर जाने लगा, पकड़ा गया है। लोकायुक्त से डीएसपी डॉ सलिल शर्मा एवं सूर्यकांत अवस्थी की टीम ने कार्यवाही संपादित की।
लोकायुक्त पुलिस द्वारा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला बनाकर आगामी कार्रवाई की जा रही है।